बर्थडे केक पर लगे कैंडल को फूंक मारना कितना खतरनाक है, जानें

साउथ कैरोलिना की क्लेमसन यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने कहा की बर्थडे केक पर लगी कैन्डल्स बुझाते समय केक पर थूक फैल जाता है जिसके कारण केक पर 1,400% बैक्टीरिया बढ़ जाता है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Aug 03, 2017
बर्थडे केक पर लगे कैंडल को फूंक मारना कितना खतरनाक है, जानें

हर कोई अपना बर्थडे सेलीब्रेट करने के लिए तरह-तरह के इंतजाम करता है। ऐसे मौके पर दोस्‍तों के साथ पार्टी आम बात है इसके अलावा केक काटना बर्थडे सेलीब्रेशन का हिस्‍सा है। बर्थडे केक पर कैन्डल बुझाने की रिति तो वर्षों से चली आ रही है। सभी बड़ी खुशी-खुशी केक पर लगी मोमबत्तियों को बुझाकर फिर केक काटते है लेकिन क्या आप जानते है हाल में आई रिसर्च के मुताबिक, केक पर लगी मोमबत्तियों को फुंक मारने से केक बैक्टीरिया से भर जाता है। साउथ कैरोलिना की क्लेमसन यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने कहा की बर्थडे केक पर लगी कैन्डल्स बुझाते समय केक पर थूक फैल जाता है जिसके कारण केक पर 1,400% बैक्टीरिया बढ़ जाता है।

तकिये से हो रही है आपको ये 3 बीमारियां, जानें

इस रिसर्च को करने वाले डॉ डावसन और उनकी टीम ये बात पता चलने पर हैरान हो गई थी और साथ ही फूड सेफ्टी को लेकर एक चिंता का विषय बताया। एक्सपेरिमेंट के दौरान ये पता चला कि कैंडल बुझाते ही केक पर बैक्टीरियां की ग्रोथ विशाल रूप से बढ़ने लगी। डॉ डावसन ने सुझाव देते हुए कहा कि केक पर कैंडल्स लगाना ही बंद कर देना चाहिए।

वैज्ञानिकों का मानना है कि बर्थडे पर केक पर लगी कैंडल्स को बुझाना बहुत आम बात है और अगर ये इतनी गंभीर समस्या थी तो इस बात पर हल्ला हो सकता है। इंसानों का मुहं बैक्टीरिया से भरा होता है। हालाकिं इनमें से ज्यादातर बैक्टीरिया हानिकारक नहीं होते है। डॉ डावसन का कहना है कि अगर कोई बीमार कैंडल्स को बुझा रहा है तो केक खाना एवॉयड करें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप
Read More Articles On Healthy Living In Hindi

Disclaimer