इन 11 राज्यों में तेजी से बढ़ रहा है कोरोना, दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश कार में अकेला ड्राइवर भी लगाए मास्क

कोरोना वायरस की दूसरी लहर में देश में एक्टिव मरीजों की संख्या 8 लाख के पार पहुंच गई है। इसके चलते कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। 

 
Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Apr 07, 2021Updated at: Apr 07, 2021
इन 11 राज्यों में तेजी से बढ़ रहा है कोरोना, दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश कार में अकेला ड्राइवर भी लगाए मास्क

देश और दुनिया में कोरोना वायरस के नए मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। बात अगर भारत में कोरोना (corona updates india) के नए वायरस की स्थिति पर करें, तो पिछले 24 घंटे में 54 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। कुल मिला कर पिछले 24 घंटों में 1,15,736 नए मामले सामने आए हैं। ये स्थिति चिंताजनक इसलिए भी है क्योंकि मंगलवार को ये आंकड़ा 1 लाख से ऊपर चला गया और ये दूसरी बार हुआ है, जब देश में कोरोना का आकड़ा एक दिन में 1 लाख से ज्यादा आया है। जहां,  इसे देखते हुए नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वी.के.पॉल ने एक संवाददाता सम्मेलन में  कहा है कि जिस तरह से महामारी (Coronavirus second Wave) फैल रही है, आने वाले 4 सप्ताह गंभीर हो सकते हैं। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन मंगलवार को 11 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक कर कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी की समीक्षा की और 11 राज्यों को अति संवेदनशील स्थितियों के लिए तैयार रहने को कहा है। इस राज्यों में  महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, पंजाब और राजस्थान के नाम शामिल हैं। 

Insidecoronachecking

कार में अकेला ड्राईवर भी लगाए मास्क :  दिल्ली हाईकोर्ट

बात अगर सिर्फ दिल्ली ( Delhi Covid-19 Updates) की करें, तो मंगलवार को 5 हजार से अधिक कोरोना मामले दर्ज किए गए। नवंबर 2020 के बाद यह पहली बार हुआ है जब एक दिन में राजधानी में 5000 से ज्यादा मामले आए हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों की मानें, तो पिछले 24 घंटों में दिल्‍ली में कोरोना के 5100 नए मामले सामने आए हैं, जिसमें कि 17 और मरीजों की मौत हुई है।  इसे देखते हुए दिल्ली हाईकार्ट भी अलर्ट हो गई है और दिल्ली सरकार और दिल्ली वासियों का आदेश दिया है कि कार में अकेले रहने या ड्राइव करने वक्त भी मास्क जरूर लगाएं। ऐसा इसलिए क्योंकि कार किसी पब्लिक प्लेस से कम नहीं है। 

इसे भी पढ़ें : न्यूरो से जुड़ी समस्याओं को लंबे समय तक नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी, कोविड की वजह से न करें इलाज में देरी

दिल्ली में नाइट कर्फ्यू

कोरोना के इस बढ़ते स्थिति को देखते हुए  दिल्ली में नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। आगामी 30 अप्रैल तक 10 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक दिल्ली में नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। बता दें कि इसे देखते हुए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Delhi Disaster Management Authority) ने ये कड़ा फैसला लिया है और रात में कर्फ्यू लगाया है। इसके तहत सार्वजनिक स्थान पर लोग इकट्ठा नहीं हो सकेंगे। इसे देखते हुए सार्वजनिक स्थानों पर लोगों को रात 10:00 बजे से सुबह 5 बजे तक जमा नहीं होना है। साथ इस दौरान किसी तरह की कोई सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक गतिविधि नहीं करने का आदेश दिया गया है।

दो गज दूरी, मास्क और सैनिटाइजेशन है जरूरी : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कल हुए बैठक में कोरोना के अचाचक बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जताई है। बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना के मामले बढ़ने के बावजूद हमारे देश में संक्रमण से ठीक होने की दर 92.38 फीसदी है। डॉ. हर्षवर्धन कुछ जिलों के नाम लेते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में कोराना मामलों में दस गुना से ज्यादा वृद्धि हुई है। साथ ही कोविड के बिगड़ते हालातों को देखते हुए केन्द्र ने 50 उच्चस्तरीय जन स्वास्थ्य टीमें गठित की हैं और उन्हें संक्रमण से ज्यादा मौतों वाले जिलों में तैनात किया गया है। साथ ही डॉ. हर्षवर्धन का ये भी कहना है कि लोगों को अब दोबारा से सतर्क हो जाना चाहिए और सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और सैनिटाइजेशन पर खास ध्यान देते हुए इनका सख्ती से पालन करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें : कोरोना वैक्सीन के दुष्प्रभाव इन 3 तरह के लोगों पर दिख रहे हैं ज्यादा, बरतें सावधानी

गौरतलब है कि जिनोम सिक्वेंसिंग से पता चला है कि पंजाब में 80 फीसदी संक्रमित लोगों में यूके का वैरिएंट मिला है। वैरिएंट बहुत खतरनाक है और ये बहुत तेजी से लोगों में फैल सकता है।  इस बीच भारत सरकार की कोशिश है कि कोरोना वायरस के टीकाकरण को तेज किया जाए और ज्यादा से ज्यादा लोगों का टीकाकरण किया जाए। 

Read more articles on Health-News in Hindi

Disclaimer