देश में कोरोना के एक्टिव मामले बढ़े, फिर पाबंदियों का दौर शुरू, जानिए देश का हाल

देश में कोरोना के मामलों में लगातार उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहे हैं, कोरोना संक्रमण के मद्देनजर एक बार फिर से कुछ राज्यों में पाबंदियां लगाई गयी हैं।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Apr 19, 2022Updated at: Apr 19, 2022
देश में कोरोना के एक्टिव मामले बढ़े, फिर पाबंदियों का दौर शुरू, जानिए देश का हाल

देश में कोरोना के मामलों में लगातार उतार-चढ़ाव जारी है। एक तरफ जहां दुनिया के कई देशों में कोरोना के नए वैरिएंट के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं वहीं बीते 24 घंटों में भारत में इसके मामलों में 43 फीसदी की कमी देखी गयी है। बीते 24 घंटे में सामने आये कोरोना संक्रमण के मामले भले ही कम हुए हों लेकिन एक्टिव मामले बढ़ने पर लोगों की चिंता बढ़ गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1,247 नए मामले सामने आये हैं और इस दौरान कोरोना संक्रमण के चले 1 मौत दर्ज की गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किये गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना के एक्टिव मामले बढ़कर 11,860 हो गए हैं। रविवार की तुलना में सोमवार को सामने आये मामले काफी कम हैं लेकिन देश के कुछ राज्यों में स्थिति चिंताजनक हो रही है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत उत्तर प्रदेश और हरियाणा जैसे राज्यों में कोरोना के नए मामलों में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। इन राज्यों में सरकार की तरफ से कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए फिर से पाबंदियां लगाई गयी हैं। आइये जानते हैं देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति और राज्यों का हाल।

इन राज्यों में फिर से लगायी गईं पाबंदियां (Covid Restrictions in India in Hindi)

पिछले महीने में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर का प्रभाव कम होने पर देश के तमाम राज्यों में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाई गयी पाबंदियां हटा ली गयी थीं। लेकिन एक बार फिर कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पाबंदियों का दौर शुरू हो गया है। उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए कुछ पाबंदियां लगाई गयी हैं, वहीं हरियाणा में भी सरकार ने नियम कड़े कर दिए हैं। उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार की तरफ से राज्य के कुछ प्रमुख और दिल्ली एनसीआर से सटे जिलों में मास्क के इस्तेमाल समेत कुछ पाबंदियां लगाई हैं। सरकार ने राजधानी लखनऊ के साथ-साथ नोएडा, गाजियाबाद, हापुड़, मेरठ, बुलंदशहर और बागपत में सार्वजानिक स्थलों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है और इसके अलावा कुछ अन्य पाबंदियां भी लगाई गयी हैं। वहीं हरियाणा सरकार ने भी गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत और झज्जर में सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनना अनिवार्य किया है। बढ़ते मामलों को देखते हुए कुछ और राज्यों में भी पाबंदियां लगाई जा सकती हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश में 9 राज्यों के 34 जिले कोरोना संक्रमण के मामले में रेड जोन में हैं।

इसे भी पढ़ें : हाथ के ऊपरी हिस्से में ही क्यों लगती है कोरोना वैक्सीन? एक्सपर्ट से जानें जवाब

Coronavirus-Omicron-Update

24 घंटे में नोएडा में सामने आये 107 मामले (Noida Coronavirus Cases in Hindi)

उत्तर प्रदेश के कुछ जिले जो राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हैं उनमें कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। बीते दिनों गाजियाबाद और नोएडा के कुछ स्कूलों में बच्चों और अध्यापकों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी जिसके बाद प्रशासन की तरफ से कुछ नए नियम लागू किये गए थे। ताजा आंकड़ों के मुताबिक एक बार फिर नोएडा में कोरोना संक्रमण का बम फूटा है। बीते 24 घंटों में नोएडा में कोरोना के 107 नए मामले सामने आये हैं। जानकारी के मुताबिक इन नए मामलों में 33 बच्चे भी शामिल हैं। बढ़ते नए मामलों को देखते हुए प्रशासन की तरफ से इसे रोकने के लिए नए नियम बनाये जा रहे हैं। फिलहाल नोएडा में कोरोना के 411 एक्टिव मामले हैं।

राजधानी दिल्ली की हालत गंभीर (Delhi Corona Update in Hindi)

दुनियाभर में कोरोना के बढ़ते मामलों का असर भारत में भी देखने को मिल रहा है। राजधानी दिल्ली में लगातार दूसरे दिन 500 से ज्यादा कोरोना के नए मामले दर्ज होने की वजह से डॉक्टर्स और स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गयी है। बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 501 नए मामले सामने आये हैं। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में सोमवार को कोरोना संक्रमण का पॉजिटिविटी रेट 7 प्रतिशत से ज्यादा रहा है। दिल्ली में 28 जनवरी के बाद सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट दर्ज किया गया है। आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में 1 मार्च के बाद अब सबसे ज्यादा 1729 एक्टिव मामले भी हैं। राजधानी में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए सरकार एक्शन मोड में आ गयी है। सूत्रों के मुताबिक बुधवार को DDMA की बैठक भी होनी है जिसमें कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कुछ अहम फैसले लिए जा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : गुजरात में सामने आया कोरोना वायरस के XE वैरिएंट का पहला मामला: रिपोर्ट

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटों में कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 928 है लेकिन एक्टिव मामलों में बढ़ोत्तरी ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के मुताबिक देश में कोरोना संक्रमण की जांच के लिए बीते दिन कुल 4,01,909 सैंपल लिए गए थे। देश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए टीकाकरण अभियान लगातार जारी है। एक्सपर्ट्स लोगों को कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क का इस्तेमाल, सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने और वैक्सीन लेने की सलाह दे रहे हैं।

(All Image Source - Freepik.com)

 
Disclaimer