बच्चों के लिए दालचीनी का प्रयोग कैसे करें? जानें इस्तेमाल का तरीका और फायदे

 बच्चों के लिए दालचीनी का प्रयोग कैसे करें: बच्चों के लिए दालचीनी इम्यूनिटी बूस्टर है और ये उन्हें सर्दी-जुकाम से बचाने के लिए प्रकार से खिला सकते हैं

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 01, 2022Updated at: Mar 01, 2022
बच्चों के लिए दालचीनी का प्रयोग कैसे करें? जानें इस्तेमाल का तरीका और फायदे

दालचीनी, हमारी रसोई में रखी एक ऐसी जड़ी बूटी है जिसका इस्तेमाल शरीर को कई फायदे पहुंचाता है।  दरअसल, दालचीनी में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं। जैसे कि इसमें ऐसे कई एंजाइम होते हैं जो कि ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकते हैं। साथ ही ये पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में भी मददगार है और इसका एंटी इंफ्लेमेटरी गुण शरीर में सूजन और दर्द को भी कम करता है। इसलिए इन तमाम फायदों के लिए लोग तरह-तरह से दालचीनी का सेवन करते हैं। पर क्या आपने कभी बच्चों के लिए दालचीनी के सेवन के बारे में सोचा है? जी हां, बच्चों के लिए भी दालचीनी का सेवन बहुत फायदेमंद है। जी हां, ये जहां उनकी इम्यूनिटी बढ़ाता है वहीं मौसमी इंफेक्शन से भी बचाव में मदद करता है। साथ ही बच्चों के लिए दालचीनी के सेवन के कई फायदे और भी हैं। आइए जानते हैं बच्चों को इसे खिलाने का तरीका और खास फायदे (cinnamon uses and benefits)

insidedalchini

बच्चों के लिए दालचीनी का प्रयोग कैसे करें-Cinnamon uses and benefits for toddlers in hindi 

1. आटा-दालचीनी का हलवा

दालचीनी का हलवा सुनने में भले ही आपको अजीब लगे पर बच्चों को आप इस तरह से दालचीनी का सेवन करवा सकते हैं। दरअसल, दालचीनी का हलवा पेट को हेल्दी रखने में बहुत मददगार है।  दरअसल, दालचीनी का नियमित रूप से सेवन करने से आपके बच्चे की पाचन क्षमता में सुधार हो सकता है। इसके अलावा इसका एंटी-ऑक्सीडेंट गुण आपके बच्चे के पेट की परत की रक्षा करता है। यह डाइजेस्टिव जूस को पेट की परत को नुकसान पहुंचाने से रोकता है। इस हलवे को बनाने के लिए

  • -एक कढ़ाई में थोड़ा सा घी डालें और उसमें आटा डाल कर चलाएं।
  • -जब आटा हलका गुलाबी हो जाए तो फिर उसमें पानी डालें।
  • -अब दालचीनी को कूट कर उसका पाउडर बना लें और इसमें मिलाएं।
  • -ऊपर थोड़ा गुड़ और चीनी मिलाएं और पकने दें।
  • -अब गैस बंद करें और ठंडा होने पर अपने बच्चों को ये हलवा खिलाएं।

इसे भी पढ़ें : आपका बच्चा भी दुबला-पतला है तो उसके आहार में शामिल करें ये 10 फूड्स, सुधरने लगेगी सेहत

2. सेब लपसी

सेब लपसी, सेब को पीस कर बनाई जाती है और इसमें ज्यादा मात्रा में दालचीनी पीस कर मिलाया जाता है। ये इम्यूनिटी बूस्चर रेसिपी है। दरअसल, दालचीनी इम्यूनिटी बढ़ाने में बहुत मददगार है। इसका मजबूत एंटी-ऑक्सीडेंट गुण शरीर में कई एंजाइम के उत्पादन में मदद करता है। यह आपके बच्चे के सिस्टम में किसी भी फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करता है और उसके महत्वपूर्ण अंगों जैसे हृदय, किडनी और लीवर को किसी भी गंभीर क्षति से बचाता है। इस तरह ये इम्यूनिटी बढ़ाने में बहुत मददगार है। 

insidedanchinfortoddlers

3. दालचीनी दूध

दालचीनी का दूध सबसे आसान तरीका है जिसकी मदद से आप अपने बच्चों को दालचीनी का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आपको बस आपके बच्चों के दूध में दालचीनी डाल कर उबालना है और फिर इस दूध को हल्का ठंडा करके उन्हें पिलाना है। दालचीनी में सुपर एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण बच्चे को बीमार होने से बचाती है। साथ ही इसका हीलिंग गुण किसी भी चोट या बीमारी से तेजी से ठीक होने में भी मदद करती है। इसलिए आपको रोज रात को अपने बच्चे को दालचीनी का दूध पिलाना चाहिए।

4. दालचीनी का काढ़ा

बच्चों को सर्दी-जुकाम होने पर उन्हें काढ़ा पिलाएं। दरअसल, ये शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। यह आपके बच्चे के श्वसन तंत्र की रक्षा करता है और कफ बनने से रोकता है। साथ ही इसका एंटी बैक्टीरियल और और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण शरीर को अंदर से मजबूत बनाता है और मौसमी इंफेक्शन से लड़ने की क्षमता देता है।

इसे भी पढ़ें : छोटे बच्चों को ऐसे सिखाएं दांत साफ करने की आदत, जानें फायदे और तरीके

5. दालचीनी की चाय  

दालचीनी में फाइटोकेमिकल्स होते हैं जो मस्तिष्क की ग्लूकोज का उपयोग करने की क्षमता को बढ़ाते हैं। दालचीनी का पर्याप्त और लंबे समय तक उपयोग शिशुओं में संज्ञानात्मक विकास को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। इसलिए आप अपने बच्चों के दिमाग को तेज करने के लिए उन्हें इसकी चाय पिला सकते हैं। 

इसके अलावा दालचीनी, बच्चों के मुंह में कीटाणुओं को कम करती है और सांसों की दुर्गंध और दांतों के दर्द की समस्याओं से लड़ती है। अगर आपके बच्चे के दांत में दर्द है तो दालचीनी के एक छोटे टुकड़े को पानी में उबाल लें और इसे माउथवॉश की तरह इस्तेमाल करें। इसके अलावा दांत दर्द में दालचीनी का तेल लगाने के भी कई फायदे हैं।

all images credit: freepik

Disclaimer