कैंसर का मुफ्त में करेगा इलाज - "उम्मीद"

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 27, 2017

फोर्टिस वसंत कुंज, लॉयनेस क्लब और बाला प्रीतम कैंसर केयर हॉस्पीटल के साथ मिलकर,  "उम्मीद" नाम से एक नया कार्यक्रम शुरू किया गया है जिसके द्वारा गरीब लोगों का मुफ्त में इलाज करवाया जाएगा। इस कार्यक्रम के जरिये ब्रेस्ट कैंसर, थायराइड कैंसर और ओरल कैंसर का मुफ्त में इलाज किया जाएगा।  "उम्मीद" उन मरीजों के इलाज की पूरी सुविधा देगा जिन्हें इनकी सबसे ज्यादा ज़रूरत है। इस कार्यक्रम में चिकित्सकों की एक पूरी टीम है जो स्तन संरक्षण और पुनर्निर्माण के क्षेत्र में विशेषज्ञ हैं। इस टीम में डॉ. मनदीप एस मल्होत्रा, डॉ. दीपक झा, डॉ मानसी चौहान और डॉ. नेहा शर्मा शामिल हैं।


इस कार्यक्रम के द्वारा अब तक तीन मरीजों का इलाज मुफ्त में सफलतापुर्वक किया जा चुका है। डब्ल्यूएचओ के अनुसार 40 करोड़ लोग अब भी स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच से दूर हैं। ऐसे में इस कार्यक्रम द्वारा गरीबों को मुफ्त इलाज देना एक उम्मीद ही पैदा करता है।

cancer


पैसे की कमी से होती है मरीजों की मौत

पूरे देश में कैंसर मरीजों की बढ़ती संख्या और उपचार सुविधाओं के बीच बड़ा अंतर मौजूद है। बड़े शहरों में सुविधाएं तो मौजूद हैं लेकिन वे काफी महंगी हैं। इसी तरह स्वास्थ्य बीमा का दायरा सीमित है और उसकी पहुंच भी कुछ लोगों तक ही है। ऐसे में स्पष्ट है कि कैंसर की वजह से होने वाली मौतों की संख्या में बढ़ोतरी की वजह केवल जागरुकता की कमी ही नहीं बल्कि उचित समय और पैसे की कमी भी इलाज में कमी की वजह है।


कैंसर के मामलों में हो रही है बढ़ोतरी

कैंसर के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है जिसका मुख्य कारण जीवनशैली, पर्यावरण, खानपान और आदतें जैसी कई चीजें हैं। महिलाओं में मुख्य रुप से ब्रेस्ट कैंसर और पुरूषों में मुंह के कैंसर के होने की संभावना अधिक होती है। एक अनुमान के अनुसार 2020 तक भारत में कैंसर के 17 लाख नए मामले और बढ़ जाएंगे। ऐसी स्थिति में "उम्मीद" जैसा कार्यक्रम समाज को एक उम्मीद बंधाता है।

 

Read more Health News in Hindi.


Loading...
Is it Helpful Article?YES1021 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK