रिसर्च: ब्रेस्‍ट फीडिंग से कम हो जाता है हार्ट अटैक का खतरा!

ब्रेस्टफीडिंग यानि स्तनपान कराने से सिर्फ बच्चे को ही फायदा नहीं होता बल्कि मां को भी उतना ही फायदा होता है। ये नई रिसर्च में ये बात सामने आई है।

 ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
लेटेस्टWritten by: ओन्लीमाईहैल्थ लेखकPublished at: Aug 11, 2017
रिसर्च: ब्रेस्‍ट फीडिंग से कम हो जाता है हार्ट अटैक का खतरा!

विशेषज्ञ कहते हैं कि जन्‍म के 6 माह तक नवजात शिशुओं को दूध पिलाना जरूरी है। बच्चे को इससे ना सिर्फ पोषण मिलता है बल्कि बीमारियों से लड़ने की ताकत भी मिलती है। लेकिन क्या आप जानते हैं ब्रेस्टफीडिंग यानि स्तनपान कराने से सिर्फ बच्चे को ही फायदा नहीं होता बल्कि मां को भी उतना ही फायदा होता है। ये नई रिसर्च में ये बात सामने आई है।

रिसर्च के मुताबिक, जो महिलाएं बच्चों को ब्रेस्टफफीडिंग करवाती हैं उन्हें हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा अन्य महिलाओं से 10 गुना कम रहता है।

यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड की शोधकर्ता सैनी पीटर्स का कहना है कि डिलीवरी के बाद ब्रेस्टफीडिंग से मां के मेटाबॉलिज्म में तेजी आती है तो समझना चाहिए कि मां को ब्रेस्टफीडिंग का स्वास्थय लाभ मिल रहा है।

सैनी का ये भी कहना है कि प्रेग्नेंसी के दौरान एक महिला के मेटाबॉलिज्म में बहुत बदलाव आता है, क्योंकि वह बच्चे के डवलपमेंट के लिए एक्सट्रा एनर्जी प्रदान करने के लिए फैट इकट्ठा करती है। इसलिए डिलीवरी के बाद ब्रेस्टफीडिंग उस फैट को तेजी से और पूरी तरह से खत्म करने में मदद करता है। ये शोध ‘जर्नल ऑफ द अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन’ में पब्लिश हुआ था।


Read More Articles On Health News In Hindi

Disclaimer