World Kidney Day: किडनी की बीमारी से हुई है इन 3 सुपरस्टार की मौत, जानें कैसे रहें स्वस्थ

वैसे तो हमारे शरीर का हर अंग बहुत जरूरी और खास है लेकिन अगर किडनी की बात आती है तो यह सभी अंगों में सर्वोपरि का स्थान प्राप्त करती है।

Rashmi Upadhyay
विविधWritten by: Rashmi UpadhyayPublished at: Mar 13, 2019Updated at: Mar 12, 2020
World Kidney Day: किडनी की बीमारी से हुई है इन 3 सुपरस्टार की मौत, जानें कैसे रहें स्वस्थ

वैसे तो हमारे शरीर का हर अंग बहुत जरूरी और खास है लेकिन अगर किडनी की बात आती है तो यह सभी अंगों में सर्वोपरि का स्थान प्राप्त करती है। किडनी हमारे शरीर का एक ऐसा अंग है जो हमारे रक्त में मौजूद पानी और विषैले पदार्थों को बाहर निकलती है और रक्त को शुद्ध बनाती है। किडनी के अन्य कामों में शरीर में रक्तचाप को नियंत्रित रखना, सोडियम व पोटेशियम की मात्रा में तालमेल बैठाना और रक्त की अम्लीयता में नियंत्रण का महत्वपूर्ण कार्य करती है। दिल के बाद मानव शरीर की अंदरुनी गतिविधियां किडनी पर ही निर्भर करती हैं। इसके बावजूद कुछ लोग किडनी को उतने गंभीर नहीं रहते हैं जितना कि उन्हें रहना चाहिए। विश्व किडनी दिवस (World Kidney Day) के मौके पर हम आपको किडनी से संबंधित कुछ जरूरी बातें बता रहे हैं।

किडनी की बीमारी से हुई है इन 4 सुपरस्टार की मौत

किडनी जैसे रोग सिर्फ आम इंसानों को ही नहीं बल्कि कई बड़ी हस्तियों और फिल्म स्टारों को भी होते हैं। यह एक ऐसा नाजुक अंग है जिसकी क्षमता तो बहुत है लेकिन यदि इसके प्राकृतिक स्वरूप से छेड़छाड़ की जाए तो यह भयंकर रुख अपनाता है। कई फिल्मों में अपने अभिनय से लोहा मनवाने वाली अभिनेत्री रीता भादुड़ी की मौत 17 जुलाई 2018 को किडनी फेल होने की वजह से हुई थी। इसके अलावा लाखों दिलों की धड़कन कहे जाने वाले शम्मी कपूर भी किडनी फेलियर की वजह से ही इस दुनिया को छोड़ कर गए थे। शम्मी कपूर की मृत्यु 14 अगस्त 2011 को किडनी के फेल होने की वजह से हुई थी। इस दौरान इनकी उम्र महज 79 साल थी। इसके अलावा 'हम आपक हैं कौन' जैसी सुपरहिट फिल्म में अभिनय करने वाले लक्ष्मीकांत बेर्धे की मृत्यु का कारण भी किडनी रोग ही है। 16 दिसंबर 2004 को इनकी मौत की खबर ने पूरे बॉलीवुड को शोक में डाल दिया था।

इसे भी पढ़ें : ई-सिगरेट पीना भी सेहत के लिए है खतरनाक, कैंसर समेत फेफड़े के कई रोगों का खतरा

किडनी की समस्‍या के लक्षण

  • चेहरे एवं पैरों में सूजन आना
  • भूख कम लगना
  • उल्टी होना
  • कमजोरी लगना
  • जल्दी थकान
  • शरीर में रक्त की कमी
  • उच्च रक्तचाप

किडनी को स्वस्थ रखने के उपाय

  • किडनी की समस्‍या से ग्रस्‍त लोगों को अपने आहार में नमक व प्रोटीन की मात्रा कम रखनी चाहिए जिससे किडनी पर कम दबाव पड़ता है।
  • प्रतिदिन नियमित रूप से एक्‍सरसाइज और शारीरिक गतिविधियां को करने से रक्तचाप व रक्त में शुगर की मात्रा को नियंत्रित रखा जा सकता हैं, जिससे डायबिटीज और उससे होने वाली क्रोनिक किडनी की बीमारी के खतरे को कम ‍किया जा सकता है।
  • मैग्नीशियम की कमी से उच्‍च रक्तचाप और विषाक्त पदार्थों के बढ़ जाने से किडनी का काम प्रभावित होने लगता है। इसलिए पर्याप्‍त मात्रा में मैग्‍नीशियम को अपने आहार में शामिल करें। इसके लिए अपने आहार में हरी सब्जियां, बीज, नट और साबुत अनाज को शमिल करें।
  • दर्द निवारक दवाओं के बहुत ज्‍यादा सेवन से बचना चाहिए। इसके अलावा डॉक्‍टर के सलाह के बिना दवाओं को सेवन आपकी किडनी के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।
  • डायबिटीज को किडनी पर बहुत बुरा असर पड़ता है। या आप यह कह सकते है कि डायबिटीज किडनी का सबसे बड़ा शत्रु है। इसलिए ब्‍लड में शुगर की मात्रा नियंत्रित रहना आवश्यक होता है।
  • कम मात्रा में पानी पीने से किडनी को नुक़सान होता है। पानी की कमी के कारण किडनी और मूत्रनली में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। जिससे पोषक तत्वों के कण मूत्रनली में पहुंचकर मूत्र की निकासी को बाधित करने लगते हैं। इसलिए किडनी के रोगों से बचने के लिए थोड़ी-थोड़ी देर में पानी पीते रहना चाहिए।
  • धूम्रपान का सेवन कई गंभीर समस्याओं का कारण हो सकता है, विशेषकर फेफड़े संबंधी रोगों के लिए। इसके सेवन से रक्त नलिकाओं में रक्त का बहाव धीमा पड़ जाता है और किडनी में रक्त कम जाने से उसकी कार्यक्षमता घट जाती है। इसलिए धूम्रपान के सेवन से बचें।

Read More Articles On Miscellaneous In Hindi

 

Disclaimer