हाथ में खून से भरे लाल छाले (ब्लड ब्लिस्टर्स) क्यों होते हैं? जानें कारण और इसके लिए 7 घरेलू उपचार

हाथों में छाले पड़ना और खून का थक्का जमने पर आप इसे घरेलू नुस्खों से इसे ठीक कर सकते हैं। यहां जानें छाले ठीक के लिए 7 घरेलू उपाय।

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Apr 12, 2021Updated at: Apr 12, 2021
हाथ में खून से भरे लाल छाले (ब्लड ब्लिस्टर्स) क्यों होते हैं? जानें कारण और इसके लिए 7 घरेलू उपचार

छाले और फोड़े फुनसी होना आज के समय में काफी आम बात है। खासकर गर्मियों के मौसम में छाले और फोड़े फुनसी आपतक पहुंचने का रास्ता निकाल ही लेते हैं। हालांकि यह छाले आम होते हैं, जिससे आपको खास नुकसान नहीं होता है और यह जल्दी ठीक भी हो जाते हैं। क्या आपके भी हाथों में छाले निकलते हैं। क्या आप ब्लड ब्लिस्टर (Blood Blisters) के बारे में जानते हैं। अगर नहीं तो इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे। ब्लड ब्लिस्टर ऐसी स्थिति है जब आपके हाथों में तरल पदार्थ का जमाव हो जाता है। या यूं कहें कि उस प्रभावित क्षेत्र में खून का थक्का बन जाता है। इसे आम भाषा में फफोले के नाम से भी जाना जाता है। यह देखने में जितने खराब लगते हैं उतने ही पीड़ादायक भी होते हैं। माना जाता है कि यह शरीर में डैड कोशिकाओं (Dead Cells) के कारण भी उत्पन्न हो सकते हैं। 

कई लोग इन्हें फोड़ देते हैं, जिससे संक्रमण होने का खतरा भी बढ़ जाता है। खून से भरे लाल छाले आमतौर पर दुर्घटनाओं के कारण या कुंडी और दरवाजों में हाथ फंसने की वजह से देखे जाते हैं। कई बार टाइट जूते पहनने से भी यह समस्या हो सकती है। या फिर त्वचा में तेजी से कोई चीज गिरना या रगड़ने के कारण भी यह होते हैं। हालांकि इन्हें कई घरेलू नुस्खों (Home Remedies) को भी अपनाकर इनसे निजात पी जा सकती है। आइये जानते हैं इससे राहत पाने के कुछ घरेलू नुस्खे। 

chandan

1. चंदन (Scandalwood)

चंदन को वैसे तो माथे पर लगाने के लिए जाना जाता है, लेकन चोट और छालों से राहत पाने के लिए इसका प्रयोग अन्य़ अंगों पर भी किया जाता है। इसमें मौजूद एनलजैसिक प्रॉपर्टीज और एंटी इंफ्लामेटरी गुण आपको सूजन और दर्द से राहत दिलाने में मददगार हैं। प्रभावित हिस्से पर चंदन का पेस्ट बनाकर लगाने से आपको दर्द में और जमे हुए खून के थक्के में भी आराम मिलेगा। 

इसे भी पढ़ें - गर्मी में बेचैनी महसूस और चेहरा लाल होने जैसे संकेत हैं 'हॉट फ्लैशेज' के, जानें इसके लिए 7 घरेलू नुस्खे

2. अदरक का रस (Ginger Juice)

यदि आप भी खून से भरे पीड़ादायक छालों से पीड़ित हैं तो ऐसे में अदरक का रस आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। सर्दी और खांसी से निजात पाने के लिए प्राकृतिक दवाई मानी जाने वाली अदरक में मांसपेशियों को गर्माहट देने की क्षमता मौजूद होती है। वहीं अदरक में इंफ्लेमेटरी गुण भी मौजूद होते हैं, जो आपके छालों के दर्द को ठीक कर उन्हें फिर से सामान्य बनाने में मदद करते हैं। इसके लिए अदरक के रस को प्रभावित जगह पर लगाकर छोड़ दें। 

3. हल्दी लगाना (Turmeric)

चोट लगने के बाद घरेलू नुस्खों के तौर पर सबसे ज्यादा हल्दी को ही इस्तेमाल किया जाता है। हल्दी में ऐसे एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं, जो आपकी चोट को भरने के साथ ही दर्द से भी राहत दिलाने में मददगार मानी जाती है। खून का रिसाव रोकने और चोट को जल्दी ठीक करने के लिए हल्दी का लेप लगाना एक कामगर विकल्प माना जाता है। ऐसे में आप हल्दी को पीसकर एक सूती कपड़े में उसका तरल पदार्थ रखकर अपने प्रभावित हिस्से पर लगाकर छोड़ दें और हो सके तो कपड़े को प्रभावित हिस्से पर ही छोड़ दें। ऐसा करने से आपके खून का थक्का धीरे धीरे अपने तरल पदार्थ के रूप से परिवर्तित होने लगेगा।

4. सरसों का गर्म तेल (Mustard Oil)

पुराने समय से ही सरसों का तेल सबकी पसंद माना जाता है। आयुर्वेद में भी इसे विशेष महत्तव दिया गया है। सरसों के तेल सरसों का गुनगना तेल छालों से प्रभावित हुए हिस्से पर लगाने से आपके हाथ में खून का जमाव कम होता है। गर्म तेल को इस्तेमाल करने से खून छटकता यानि कि ढ़ीला होने लगता है। आप चाहें तो इसमे थोड़ी से हल्दी का भी प्रयोग कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - गर्मी में हो पफी आइज (आंखों के नीचे सूजन) की समस्या, तो काम आएंगे आलू, टमाटर, पानी जैसे ये 8 घरेलू नुस्खे

5. एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar)

एप्पल साइडर विनेगर अपने आप में ही गुणों से सम्पूर्ण होता है। इसमें मौजूद एसिटिक एसिड और साइट्रिक एसिड के साथ ही एंटी बैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं। जो खून से भरे छालों से राहत दिलाने के साथ ही इसमें फैलने वाले संक्रमण से भी आपको बचाकर रखता है। इसमें ज्यादा मशक्कत करने की आवश्यकता नहीं है। आपको केवल रूई लेकर एप्पल साइडर विनेगर को प्रभावित हिस्से पर लगाना है। 

greentea

6. ग्रीन टी (Green Tea)

सुनने में भले ही थोड़ा अजीब लगे, लेकिन ग्रीन टी के इस्तेमाल से छालों को हटाया जा सकता है, इसमें कोई हैरानी वाली बात नहीं है। ग्रीन टी में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुण आपको खूनी छालों से राहत देते हैं। इसके लिए आपको कुछ देर तक टी बैग गर्म पानी में डालकर रखना होगा। अब बैग को निकालकर अपने शरीर के प्रभावित हिस्से पर लगाएं। ऐसा करने से आपको निश्चित तौर पर राहत मिलेगी।

7. टी ट्री ऑयल (Tea Tree Oil)

त्वचा की मरम्मत के लिए बेहतर माने जाने वाले ट्री ट्री ऑयल में उपचारात्मक गुण होते हैं, जो आपकी त्वचा संबंधी समस्याओं को ठीक करते हैं। इसमें मौजूद एंटी माइक्रोबिन रोमछिद्रों में पहुंचकर त्वचा से बैक्टीरिया भी निकालते हैं। इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरियल गुण और एस्ट्रीजेंट गुण आपके छालों को ठीक करने में मददगार हैं। इसे रूई पर लेकर अपने प्रभावित अंग पर लगाएं। 

क्यों होते हैं लाल छाले (Causes of Blood Blister)

  • चोट लगने से
  • दरवाजे आदि में हाथ फंस जाने से
  • रगड़ लगने से
  • ठंड में तापमान के अनियंत्रित होने से भी यह समस्या हो सकता है
  • जलने से भी यह समस्या हो सकती है
  • गर्मी की वजह से भी हाथों में छाले निकल सकते हैं 

ब्लड ब्लिस्टर सामान्य छाले जरूर हैं, लेकिन इन्हें लंबे समय तक नजरअंदाज करना कई बीमारियों का संकेत भी हो सकते हैं। इस लेख में दिए गए घरेलू नुस्खों से छालों को ठीक किया जा सकता है। 

Read more Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer