बवासीर की तकलीफ कम कर सकते हैं पान के पत्ते, इन 3 तरीकों से करें इस्तेमाल

Betel Leaf for Piles : बवासीर की परेशानियों को कम करने में पान की पत्तियां काफी प्रभावी हो सकती हैं। आयुर्वेदाचार्य से जानते हैं इसका इस्तेमाल-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Aug 23, 2022Updated at: Aug 23, 2022
बवासीर की तकलीफ कम कर सकते हैं पान के पत्ते, इन 3 तरीकों से करें इस्तेमाल

Hemorrhoids Remedies : बवासीर एक काफी गंभीर बीमारी है। इस समस्या से ग्रसित व्यक्ति को मल त्यागने में काफी कठिनाई होती है। वहीं, पान स्वास्थ्य के लिए लाभकारी माना जाता है। खासतौर पर अगर आप इसे हेल्दी तरीके से इस्तेमाल करते हैं, तो यह कई बीमारियों का इलाज करने में आपकी मदद कर सकता है। यह बवासीर की परेशानियों में भी काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। जी हां, पान से आप बवासीर की परेशानी कम कर सकते हैं। हालांकि, इसका इस्तेमाल करने से पहले एक्सपर्ट से सलाह की जरूरत होती है। आज हम इस लेख में पान से बवासीर का इलाज कैसे करें के बारे में जानेंगे। 

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

गाजियाबाद स्वर्ण जयंती के आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी का कहना है कि पान के पत्ते में कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं। यह आपके पाचन को दुरुस्त रखता है, इसलिए आज भी कई क्षेत्रों में खाने के बाद पान का सेवन किया जाता है। पान की तासीर गर्म होती है। अगर आप रोजाना पान के पत्ते चबाते हैं तो इससे कफ दोष दूर हो सकता है। वहीं, बवासीर में भी इसका काफी प्रभावी तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है। आइए जानते हैं इसके बारे में-

पान से बवासीर की परेशानी कैसे करें कम?

आयुर्वेदाचार्य का कहना है कि पान की तासीर गर्म होती है। ऐसे में इसके सेवन से पाचन क्रिया दुरुस्त होता है। यह मल को नरम करता है. जिससे मल त्यागने में आसानी हो सकती है। वहीं, यह बवासीर में होने वाली सूजन को भी कम कर सकता है। आइए जानते हैं इस्तेमाल का तरीका क्या है?

इसे भी पढ़ें - बवासीर में फायदेमंद होती है अजवाइन, जानें किस तरह करें इस्तेमाल

1. पान से बवासीर की सूजन कर सकते हैं कम

पान के पत्तों का इस्तेमाल करके बवासीर में होने वाली सूजन को कम किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए 4 से 5 पान के पत्ते लें। अब इसे सिलबट्टे पर बिना पानी के पीस लें। जब यह अच्छे से पीस जाए, तो इसे इकट्टा कर लें। तैयार पेस्ट को अपने मलद्वार पर लगाएं और कुछ देर के लिए पेट के बल लेट जाएं ताकि इसका रस नीचे न जाए। ध्यान रखें कि पान का पेस्ट लगाने के दौरान टाइट अंडरवियर न पहलें। लगातार 5 से 6 दिनों तक इस तरह पान का पेस्ट मलद्वार पर लगाने से सूजन की परेशानी कम होगी। 

2. पान का पानी है फायदेमंद

बवासीर की परेशानियों को कम करने के लिए पान का पानी भी फायदेमंद हो सकता है। इसके लिए तीन गिलास पानी लें। इसमें 10 से 15 पत्तों को डालकर उबाल लें। जब पानी 1 कप बच जाए तो इसे छान लें। तैयार पानी को दिन में तीन बार दवा की तरह पिएं। इससे बवासीर की समस्या कम होगी। साथ ही यह कफ और खांसी से भी छुटकारा दिला सकता है। 

3. सीधे तौर पर खाएं पान

पान को सीधेतौर पर खाने से भी बवासीर की परेशानी कम हो सकती है। इसमें मौजूद गुण मलत्याग के दौरान होने वाली परेशानी कम कर सकता है। हालांकि, ध्यान रखें कि इसमें तंबाकू या फिर इस तरह के पदार्थों को एड न करें। आप सिर्फ पान में हल्का सा चूना और कत्था जोड़कर खाएं। इससे बवासीर में लाभ मिलेगा। 

बवासीर की परेशानियों को कम करने के लिए पान के पत्ते काफी लाभकारी हो सकते हैं। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आपकी परेशानी बढ़ रही है तो इस स्थिति में एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें।

 
Disclaimer