रुमेटाइटिस अर्थराइटिस में दर्द और सूजन को दूर करने के लिए लगाएं ये 5 एसेंशियल ऑयल, जल्द मिलेगा आराम

रुमेटाइटिस अर्थराइटिस एक ऑटो इम्यून बीमारी है। इस समस्या में जोड़ों में दर्द, सूजन और लालिमा के लक्षण देखने को मिलते हैं। 

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: May 05, 2022Updated at: May 05, 2022
रुमेटाइटिस अर्थराइटिस में दर्द और सूजन को दूर करने के लिए लगाएं ये 5 एसेंशियल ऑयल, जल्द मिलेगा आराम

रुमेटाइटिस अर्थराइटिस से प्रभावित व्यक्ति को जोड़ों में काफी दर्द और सूजन की परेशानी होने लगती है। यह एक ऐसी स्थिति है, जिसमें मरीज का इम्यून सिस्टम स्वस्थ ऊतकों पर हमला करने लग जाती है। ऐसे में ज्वाइंट्स के परतों पर काफी ज्यादा परेशसानी होती है। इस समस्या से ग्रसित मरीजों को काफी ज्यादा सूजन और जलन जैसी परेशानी से सामना करना पड़ता है। अगर आपको भी रुमेटाइटिस अर्थराइटिस की परेशानी है, तो इसके लक्षणों को कम करने के लिए कुछ असरदार प्रभावी एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इन एसेंशियल ऑयल के इस्तेमाल से अर्थराइटिस ( rheumatoid arthritis Symptoms) में होने वाली परेशानी जैसे- दर्द, जलन और लालिमा से राहत मिल सकती है। आइए जानते हैं इन खास तेलों के बारे में-

रुमेटाइटिस अर्थराइटिस के लक्षणों को कम करे ये खास तेल (Best essential oils for rheumatoid arthritis)

1. अर्थराइटिस के लिए नीलगिरी एसेंशियल ऑयल ( Eucalyptus oil for Arthritis)

नीलगिरी तेल में कई ऐसे गुण होते हैं, जो ज्वाइंट्स के सूजन, दर्द और लालिमा को दूर करने में प्रभावी हो सकते हैं। कई एक्सपर्ट का मानना है कि नीलगिरी के तेल को सीधे तौर पर ज्वाइंट्स पर लगाने से आपको अर्थराइटिस की परेशानी से आराम मिल सकता है। इसके अलावा इस तेल को गर्म पानी में डालकर नहाएं। इससे ज्वाइंट्स में होने वाली परेशानी काफी कम होगी। आप इस तेल को मार्केट में काफी आसानी से खरीद सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - रुमेटाइटिस अर्थराइटिस का पता लगाने के लिए कौन सा टेस्ट किया जाता है? जानें इन टेस्ट्स के बारे में

2. जोड़ों में दर्द के लिए लोबान तेल (Frankincense Oil for rheumatoid arthritis)

पारंपरिक चिकित्सा पद्धति में लोबान तेल का इस्तेमाल काफी समय से किया जा रहा है। इस तेल के इस्तेमाल से पुराने दर्द और सूजन सहित कई प्रकार की बीमारियों को दूर किया जा सकता है। अर्थराइटिस फाउंडेशन के अनुसार, लोबान में मौजूद एसिड में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक गुण पाए जाते हैं, जो ऑटोइम्यून प्रतिक्रियाओं को कम करने में प्रभावित हो सकते हैं। साथ ही इससे होने वाली क्षति को रोकने में भी मदद मिलती है। 

3. रुमेटाइटिस अर्थराइटिस के लिए लैवेंडर तेल (Lavender oil for Arthritis)

लैवेंडर तेल का इस्तेमाल काफी समय से किया जा रहा है। यह तेल लंबे समय से दर्द, स्ट्रेस और डिप्रेशन से जूझ रहे लोगों के लिए काफी प्रभावी हो सकता है। इस तेल के इस्तेमाल से सांस संबंधी परेशानी भी कम हो सकती है। लैवेंडर तेल का इस्तेमाल आप सीधे तौर पर कर सकते हैं। इसके अलावा स्टीम बाथ के दौरान भी इस तेल की कुछ बूंदों को पानी में मिक्स करें। इससे अर्थराइटिस में होने वाली परेशानी से काफी आराम मिलेगा।

4. अदरक का तेल से अर्थराइटिस की परेशानियों से पाएं राहत (Ginger oil for rheumatoid Arthritis)

पुरानी सूजन और दर्द को कम करने केे लिए काफी समय से अदरक का इस्तेमाल किया जा रहा है। हम में से कई लोग अदरक को मसालों के रूप में इस्तेमाल करते हैं। यह एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है, जो सूजन को कम करने मेें प्रभावी है। अगर आप रुमेटाइटिस अर्थराइटिस में नियमित रूप से अदरक के तेल का इस्तेमाल करते हैं, तो इससे आपकी परेशानी काफी हद तक कंट्रोल हो सकती है। 

5. हल्दी एसेंशियल ऑयल जोड़ों में दर्द से दिलाए आराम ( Turmeric essential oil)

हल्दी में मौजूद करक्यूमिन में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है, जो ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करके सूजन को कम कर सकता है। इसके इस्तेमाल से आप अर्थराइटिस में होने वाली परेशानी दूर कर सकते हैं। यह सूजन और दर्द को कम करने में प्रभावी होता है। साथ ही इससे लालिमा भी कम की जा सकती है। 

इसे भी पढ़ें - कार्पल टनल सिंड्रोम की समस्या क्यों होती है? जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय

रुमेटाइटिस अर्थराइटिस में होने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए आप इन एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपको काफी लाभ मिल सकता है। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आपकी परेशानी काफी ज्यादा बढ़ रही है, तो इस स्थिति में डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

Disclaimer