Expert

सरसों के तेल से करें स्तनों की मालिश, मिलेंगे 5 जबरदस्त फायदे

Mustard Oil For Breast Massage: सरसों के तेल से स्तनों की मालिश करने से कई फायदे मिलते हैं, जानें इससे मिलने वाले 5 फायदे, और मसाज करने का तरीका।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Oct 16, 2022 15:00 IST
सरसों के तेल से करें स्तनों की मालिश, मिलेंगे 5 जबरदस्त फायदे

Mustard Oil For Breast Massage Benefits: शारीरिक स्वास्थ्य की बात हो, त्वचा या बालों को हेल्दी रखने की। सरसों का तेल संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होता है। यह हम सभी की रसोई का एक अहम हिस्सा है। हम सभी भोजन पकाने के लिए सरसों के तेल का प्रयोग करते हैं। वहीं त्वचा और बालों पर सरसों का तेल लगाने से भी उनसे जुड़ी कई समस्याएं दूर होती हैं। सरसों का तेल ओमेगा-3,6 फैटी एसिड जैसे हेल्दी फैट्स, एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है। साथ ही इसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण भी मौजूद होते हैं। शरीर की मालिश के लिए भी सरसों के तेल का प्रयोग बहुत फायदेमंद माना जाता है। लोग सिर, हाथ-पैर, शरीर के अन्य अंगों और यहां तक कि संपूर्ण शरीर की मालिश के सरसों के तेल का प्रयोग करते हैं। इससे जबरदस्त फायदे मिलते हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं, अगर महिलाएं सरसों के तेल से मालिश करती हैं तो यह उनके लिए भी बहुत लाभकारी होता है, खासकर अगर वे सरसों के तेल से स्तनों की मालिश करती हैं। वर्तमान समय में महिलाएं स्तनों से जुड़ी कई तरह की समस्याओं का सामना करती हैं, जिनमें छोटे और ढीले-लटकते स्तन बहुत आम हैं। सरसों के तेल स्तनों की मालिश करने से इन समस्याओं से आसानी से छुटकारा मिल सकता है। इस लेख में हम आपको सरसों के तेल से ब्रेस्ट मसाज करने के 5 फायदे (sarso ke tel se breast massage ke fayde) बता रहे हैं।

sarso ke tel se breast massage ke fayde

सरसों के तेल से ब्रेस्ट मसाज के फायदे- sarso ke tel se breast massage ke fayde

  1. स्तनों में आता है कसाव: सरसों तेल से स्तनों की मालिश करने से ढीले-लटकते स्तनों की समस्या दूर होती है और ब्रेस्ट सुडौल होते हैं।
  2. बढ़ाए स्तनों का आकार: यह छोटे स्तनों की समस्या दूर कर उनका नेचुरली आकार बढ़ाने में सहायक है।
  3. दूर करे स्ट्रेच मार्क्स: स्तनों और आसपास की त्वचा पर स्ट्रेच मार्क्स होना बहुत आम है, लेकिन सरसों का तेल त्वचा में कसाव लाता है और स्ट्रेच मार्क्स कम करने में मदद करता है।
  4. स्तनों का आकर्षक बनाता है: सरसों के तेल से सिर्फ ब्रेस्ट सुडौल ही नहीं होते हैं, बल्कि इससे स्तनों की त्वचा और रंगत भी ब्राइट होती है, जिससे स्तन काफी आकर्षक दिखते हैं।
  5. ब्लड सर्कुलेशन बनाए बेहतर: सरसों के तेल से ब्रेस्ट मसाज करने से स्तनों में ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है, जिससे स्तनों तक रक्त और पोषक तत्वों की आपूर्ति बेहतर होती है। इससे ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम भी कम होता है।

सरसों के तेल से ब्रेस्ट मसाज कैसे करें- How To Do Breast Massage With Mustard Oil

ब्रेस्ट मसाज के लिए सबसे पहले सरसों के तेल को गर्म कर लें, फिर इसे ठंडा होने दें और गुनगुना हो जाने पर इससे स्तनों की मालिश करें। आप चाहें सरसों तेल में लहसुन या हल्दी डालकर भी गर्म कर सकते हैं। ध्यान रखें कि आपको धीरे-धीरे सर्कुलर मोशन में स्तनों की मालिश करनी है। ज्यादा तेज या भारी हाथ से मालिश करने से बचें। नियमित रात को सोने से पहले सरसों के तेल से 10-12 मिनट मालिश करें।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer