फ्रोजन शोल्डर के कारण कंधे में अकड़न और दर्द? ये आयुर्वेदिक उपाय दिलाएंगे राहत

फ्रोजन शोल्डर में कंधे में अत्यधिक दर्द और अकड़न की समस्या हो सकती है। फ्रोजन शोल्डर की समस्या में आयुर्वेदिक उपचार को बहुत कारगर माना जाता है।

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Oct 08, 2022 10:00 IST
फ्रोजन शोल्डर के कारण कंधे में अकड़न और दर्द? ये आयुर्वेदिक उपाय दिलाएंगे राहत

Frozen Shoulder Ayurvedic Treatment in Hindi: अकसर ऐसा होता है कि जब हम सोने के बाद उठते हैं तो कंधे में अकड़न और दर्द महसूस होता है। आमतौर पर यह दर्द कुछ देर में या थोड़ी सी मूवमेंट के बाद अपने आप ठीक हो जाता है। लेकिन कई बार यह समस्या लंबे समय तक परेशान करती है। कंधे में लंबे समय तक दर्द या अकड़न की समस्या फ्रोजन शोल्डर की वजह से भी हो सकती है। इस स्थिति में कंधे और शोल्डर को हिलाने में काफी दिक्क्त होती है। फ्रोजन शोल्डर में कंधे का कैप्सूल अकड़ जाता है, जिससे हल्के से गंभीर दर्द का अनुभव हो सकता है। मेडिकल भाषा में इस दर्द को एडहेसिव कैप्सूलाइटिस  कहा जाता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, यह समस्या आमतौर पर 35-60 आयु वर्ग के लोगों को होती है। मधुमेह, थायराइड और हृदय संबंधी समस्याओं से पीड़ित लोगों में इसके मामले ज्यादा देखने को मिलते हैं। 

फ्रोजन शोल्डर की समस्या में कंधे से लेकर गर्दन तक में धीरे-धीरे दर्द शुरू होता है, जो बाद में बढ़ता जाता है। कुछ समय के बाद यह आपके पूरे कंधे को जाम कर देता है। कई बार दर्द इतना बढ़ जाता है कि बांह को ऊपर उठाने में भी परेशानी होती है और रोज के काम करने में भी मुश्किल होने लगती है। इस समस्या में सही समय पर इलाज न लेने से मरीज की परेशानियां बढ़ जाती हैं, इसलिए सही समय पर इसके लक्षणों को पहचानकर इलाज लेना बहुत जरूरी होता है। वैसे तो लोग फ्रोजन शोल्डर के दर्द से राहत पाने के लिए पेन किलर्स का सहारा लेते हैं। लेकिन फ्रोजन शोल्डर की समस्या में आयुर्वेदिक उपचार को बहुत कारगर माना जाता है। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने आयुर्वेदिक चिकित्स्क, डॉ ऋतु चड्ढा से बात की। तो आइए जानते हैं फ्रोजन शोल्डर का आयुर्वेदिक इलाज (Frozen Shoulder Ayurvedic Treatment in Hindi) के बारे में जानें-

फ्रोजन शोल्डर का आयुर्वेदिक इलाज - Frozen Shoulder Ayurvedic Treatment in Hindi

फ्रोजन शोल्डर में कंधे में अत्यधिक दर्द और अकड़न की समस्या हो सकती है। ऐसे में आप इन घरेलू उपायों से इस समस्या से राहत पा सकते हैं - 

तिल का तेल और लौंग 

फ्रोजन शोल्डर में दर्द और अकड़न से राहत पाने के लिए लौंग और तिल का तेल बहुत फायदेमंद है। तिल के तेल में एंटी-इन्फेमेटरी गुण होते हैं, जो सूजन कम करने में मदद करते हैं। वहीं लौंग भी दर्द से राहत दिलाने में कारगर साबित हो सकता है। इसके लिए 200 ग्राम तिल के तेल में 20 ग्राम लौंग डालकर पका लें। इस तेल से कंधों की मालिश करें, दर्द से जल्द आराम मिलेगा।  

इसे भी पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल घटाने के लिए इस्तेमाल करें ये आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

अजवाइन और सेंधा नमक 

अजवाइन और सेंधा नमक भी फ्रोजन शोल्डर का इलाज करने में असरदार साबित हो सकते हैं। अजवाइन में थाइमोल की मात्रा अधिक होती है, जो दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। सेंधा में मौजूद तत्व भी दर्द को कम करने के लिए फायदेमंद हैं। फ्रोजन शोल्ड में आप सूती कपड़े में अजवाइन और सेंधा नमक डालें और इसे बांधकर एक पोटली बना लें। इस पोटली को तवे पर गर्म कर प्रभावित हिस्से की सेक करने से फ्रोजन शोल्डर में बहुत अधिक लाभ होता है। 

इसे भी पढ़ें: Weight Gain Tips: तेजी से वजन बढ़ाने में मदद करेंगे ये 5 आयुर्वेदिक उपाय, रोजाना करें फॉलो

सोंठ, अश्वगंधा, मेथी दाना और शल्लकी

फ्रोजन शोल्डर से राहत पाने के लिए सोंठ, अश्वगंधा, मेथी दाना और शल्लकी का इस्तेमाल किया जा सकता है। ये सभी चीजें दर्द और अकड़न से राहत दिलाने में काफी फायदेमंद हैं। इन जड़ी-बूटियों में पाए जाने वाले तत्व दर्द और अकड़न से राहत दिलाते हैं और फ्रोजन शोल्डर के इलाज में काफी प्रभावी हैं। इसके लिए 10 ग्राम सोंठ, 100 ग्राम अश्वगंधा, 20 ग्राम मेथी दाना और 60 ग्राम शल्लकी लें। सभी चीजों को मिला लें और  3 से 5 ग्राम सुबह-शाम गर्म दूध से लें। इससे कंधे में दर्द और अकड़न से जल्द आराम मिलेगा।

अगर आपको फ्रोजन शोल्डर की समस्या है, तो आप लौंग, तिल का तेल, अश्वगंधा और शल्लकी जैसे आयुर्वेदिक उपायों का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये आयुर्वेदिक उपाय फ्रोजन शोल्डर के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं।

Disclaimer