तनाव कम करने के लिए आजमाएं ये आयुर्वेदिक उपाय

तनाव या डिप्रेशन की समस्या में इन आयुर्वेदिक उपायों को अपनाकर आप तनाव कम कर सकते हैं। इससे आपका मन शांत रहेगा और आप खुश रहेंगे।

Written by: Updated at: Oct 15, 2022 16:00 IST
तनाव कम करने के लिए आजमाएं ये आयुर्वेदिक उपाय

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी और खराब लाइफस्टाइल के कारण कई लोगों का मानसिक स्वास्थ्य खराब हो रहा है। लोगों में टेंशन और तनाव की समस्या बढ़ती जा रही है। तनाव में होने के कारण शरीर सही तरीके से काम नहीं करता है। तनाव का एक बड़ा कारण है कॉर्टिसोल हार्मोन। यह एक स्ट्रेस हार्मोन होता है जो प्रतिरक्षा प्रणाली पर बुरा असर डालता है। इससे हाई ब्लड प्रेशर, याददाश्त कमजोर होने, डिप्रेशन, चिंता आदि का रिस्क बढ़ जाता है। कुछ आयुर्वेदिक तरीके अपनाकर आप तनाव को काफी हद तक कम कर सकते हैं।

मालिश करवाएं

मालिश करने से शरीर को आराम मिलता है और मन में शांति पैदा होती है। मालिश संतुष्टि और खुशी की भावनाओं को पैदा करती है। तेल से मालिश करने को आप अपना डेली सेल्फ केयर रूटीन बना सकते हैं। किसी भी तेल से मालिश करने से तनाव खत्म होता है। मालिश अच्छी नींद लेने के लिए भी सहायक है।

रोजाना योग करें

आजकल कई लोग तनाव और अवसाद से छुटकारा पाने के लिए दवाओं का सहारा लेते हैं लेकिन रोज दवाओं का सेवन सेहत के लिए बेहद खतरनाक होता है। बता दें कि अवसाद और तनाव से छुटकारा पाने के लिए योगा करना चाहिए। योग स्ट्रेस को कम करता है, साथ ही मन, शरीर और आत्मा पर फोकस करता है। कई योगासन और प्राणायाम करने से मन को काबू किया जा सकता है।

yoga-for-stress-relief-in-hindi

इसे भी पढें: शिलाजीत, अश्वगंधा, सफेद मूसली का एक साथ सेवन करने के फायदे

सात्विक आहार लें

आमतौर पर शाकाहारी भोजन को सात्विक आहार कहा जाता है। इसमें मौसमी फल, मौसमी सब्जियां, साबुत अनाज, दालें और अंकुरित अनाज आदि शामिल हैं। सात्विक आहार हमारे शरीर और मन को हेल्दी और खुश करता है। अपने स्ट्रेस को कम करने के लिए सात्विक आहार करना चाहिए।

पर्याप्त नींद लें

तनाव से बचने के लिए सबसे जरूरी है कि आप पूरी नींद लें।आपको हर दिन 7-8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए। इससे आप तनावमुक्त रहेंगे, साथ ही इससे आपको पॉजिटिव एनर्जी मिलेगी।

ये जड़ी-बूटियां रखती हैं तनावमुक्त

अश्वगंधा

अश्वगंधा आपको तनाव से बचाने के लिए बेहद फायदेमंद है। इसका उपयोग एंग्जाइटी के इलाज के लिए सदियों से होता आ रहा है। इसके इस्तेमाल से एनर्जी और पेशेंस लेवल बढ़ता है, साथ ही नींद लाने में मदद मिलती है।

लैवेंडर

लैवेंडर ऑयल की मसाज शरीर को शांत करती है और तनाव दूर करती है। बताते चलें कि लैवेंडर के तेल से मानसिक आराम और शांति मिलती है। इसके साथ ही लैवेंडर अरोमाथेरेपी भी रिलेक्स करने में काफी सहायक है।

भृंगराज

भृंगराज पौधे में एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे- फ्लेवोनॉयड और एल्कलॉइड पाए जाते हैं, जो हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। भृंगराज के पौधे की पत्तों की चाय बनाकर पीने से बॉडी डिटॉक्सिफाई होती है और इससे दिमाग को लगातार ऑक्सीजन मिलता है। साथ ही इसकी चाय से पीने से दिमाग शांत रहता है और तनाव दूर रहता है। ये आपको फ्रेश फील कराता है।

इसे भी पढें: सुबह खाली पेट करें अर्जुन की छाल का सेवन, दूर होंगी ये 5 समस्याएं

वच

वच अपने औषधीय गुणों के वजह से कई रोगों के उपचार में काम आता है। बता दें कि वच के सेवन से स्मरण शक्ति तेज होती है और ये तनाव को कम करता है। इसी के साथ ये मेमारी को स्ट्रॉन्ग करता है।

ब्राह्मी

ब्राह्मी के पौधे को ब्रेन बूस्टर कहा जाता है। इसके इस्तेमाल से तनाव और चिंता कम होती है। साथ ही मानसिक बीमारी से परेशान लोगों के लिए ब्राह्मी के पत्तों का चूर्ण बेहद लाभदायक होता है और ब्राह्मी तनाव से जुड़े हार्मोन को रेगुलेट करके तनाव के प्रभाव को कम करती है।

Disclaimer