Corona Virus से दहशत में क्‍यों है दुनिया? विस्‍तार से जानें कोरोना वायरस के कारण और लक्षण

जापान, थाईलैंड के बाद अमेरिका में अपने तेजी से पैर पसार रहा कोरोना वायरस का लगातार बढ़ रहा है कहर, जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीके। 

 
Vishal Singh
अन्य़ बीमारियांWritten by: Vishal SinghPublished at: Jan 22, 2020Updated at: Feb 05, 2020
Corona Virus से दहशत में क्‍यों है दुनिया? विस्‍तार से जानें कोरोना वायरस के कारण और लक्षण

चीन में फैला जानलेवा कोरोना वायरस (Corona Virus) जापान और थाईलैंड के बाद अमेरिका में अपने पैर पसार चुका है। चीन में कोरोना वायरस के पनपने के बाद इसका कहर अब अमेरिका में भी देखने को मिल रहा है। अमेरिकी स्वास्थ्य विभाग ने इस नए वायरस के पनपने की पुष्टि की है। विभाग ने बताया है कि वाशिंगटन के पास 30 साल के युवक में यह वायरस पाया गया है। 

कोरोना वायरस से पीड़ित युवक चीन के वुहान से अमेरिका पहुंचा था। जिसके बाद अखबारों में वायरस के बारे में पढ़कर युवक चेकअप कराने पहुंचा, जहां इस वायरस का खुलासा हुआ। आपको बता दें कि चीन के वुहान में कोरोना वायरस का पहला मामला दिसंबर 2019 में सामने आया था। जिसके बाद वायरस तेजी से फैलता गया, अब तक इस वायरस के शिकार करीब साढ़े चार सौ लोग हो चुके हैं। हम आपको बताते हैं कि आखिरकार ये कोरोना वायरस है क्या और इस वायरस की वजह क्या है। 

corona virus

क्या है कोरोना वायरस? 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, यह वायरस सी-फूड से जुड़ा हुआ है और इस वायरस की शुरुआत चाइना के हुवेई के वुहान शहर के एक सी-फूड बाजार से ही मानी जा रही है। हैरान करने वाली बात ये है कि इस वायरस की चपेट में सिर्फ इंसान ही नहीं आ रहे बल्कि इसका शिकार ऊंट, बिल्ली और चमगादड़ समेत कई पशु हो रहे हैं। 

भारत में भी वायरस का खतरा 

चीन और बाकि के देश के बाद भारत में भी कोरोना वायरस का खतरा मंडरा रहा है। कोरोना वायरस से भारत में भी हाहाकार जैसे हालात पैदा कर दिए हैं। इस वायरस के मोहाली में उत्तर भारत का पहला कोरोना वायरस का संदिग्ध मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया। मोहाली में एक शख्स को कोरोना वायरस का संदिग्ध मानते हुए पीजीआई चंडीगढ़ रेफर किया गया था। जहां आइसोलेशन वार्ड में उसका इलाज चल रहा है। वायरस की पुष्टि के लिए उस मरीज के सैंपल पुणे भेजे गए हैं, जहां से रिपोर्ट आने में तीन दिन का समय लगेगा। 

वहीं, दूसरी ओर हरियाणा में भी कोरोना वायरस के पांच संदिग्ध मामले सामने आए हैं। ये सभी मरीज स्वास्थ्य महकमे की निगरानी में उपचाराधीन है। आपको बता दें कि स्वास्थ्य विभाग ने अभी मरीजों को इस वायरस से ग्रस्त होने की पुष्टि नहीं है। 

कितने मामले आए सामने 

कोरोना वायरस (Corona Virus) से जुड़े करीब 440 मामले सामने आए हैं जिसमें से सबसे ज्यादा मामले चाइना में पाए गए है जबकि थाईलैंड, जापान, साउथ कोरिया और यूएस में भी इनके मामले सामने आए हैं। 

  • चाइना में करीब 440 मामले सामने आए हैं।
  • थाईलैंड में 2 मामले दर्ज किए गए हैं।
  • जापान, साउथ कोरिया और यूएस से 1-1 मामले सामने आए हैं। 

तेजी से फैल सकता है कोरोना वायरस

WHO ने इसकी पूरी संभावना जताई है की कोरोना वायरस बेहद नजदीक रहने वाले दो लोगों में एक से दूसरे में फैल सकता हैं। इसके अलावा कोरोना वायरस ऐसा वायरस है जो परिवार में ज्यादा तेजी से फैल सकता है। साथ ही ये वायरस कुछ बीमारियों से पीड़ित लोगों को गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है, जैसे की सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (SARS) और मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (MERS)।

corona virus

इसे भी पढ़ें: बेहद खतरनाक होते हैं ये 5 वायरस, जानिए इनके बारे में

कोराना वायरस के लक्षण 

मैक्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के एसोसिएट डायरेक्टर विवेक सिंह ने बताया कि तेजी से अपने पैर पसार रहा कोरोना वायरस का लक्षण सबसे पहले पीड़ित को सांस लेने में काफी दिक्कत होने लगती है, गले में दर्द रहने लगता है इसके अलावा जुकाम, खांसी, सिर दर्द, नाक बहना, कफ और बुखार होता है। इसके अलावा बुखार निमोनिया का रूप भी ले सकता है और निमोनिया किडनी से जुड़ी कई तरह की दिक्कतों को बढ़ाने का काम कर सकता है। 

इलाज

अचानक फैले कोरोना वायरस (Corona Virus) का अभी तक सीधे तौर पर कोई वैक्सीन तैयार नहीं हो पाई है। लेकिन वायरस के लक्षणों के आधार पर डॉक्टर्स इसके इलाज के लिए दूसरी जरूरी दवाईयों का प्रयोग कर रहे हैं। इसके साथ ही कोरोना वायरस के वैक्सीन की भी तैयारी की जा रही है। वैज्ञानिक, शोधकर्ता और डॉक्टर इस वायरस की सभी जानकारी को उपलब्ध करने की कोशिश कर रहे हैं साथ ही इसके लिए बेहतर इलाज की खोज भी कर रहे हैं। जिसकी वजह से इस वायरस का तुरंत पता लगाकर मरीज को सही समय पर उचित इलाज दिया जा सके। 

corona virus

वायरस को लेकर चीन हुआ गंभीर

जानकारी के मुताबिक, चीन इस वायरस के खतरे को देख और गंभीर मानते हुए कोरोना वायरस की महामारी को भी वही दर्जा दिया जो एक समय पर में सार्स जैसी महामारी के समय दिया गया था। इसका मतलब ये कि अगर देश में किसी को भी संक्रमित होने की पुष्टि होती है तो उसे दूसरे लोगों से अलग रखा जाएगा। जिससे की किसी और में ये बीमारी ना फैल सके।

वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अस्पतालों, डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों को सलाह देते हुए कहा कि संक्रमित मरीजों की फौरन जांच की जानी चाहिए इसमें किसी भी तरह की कोई लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। इसके साथ ही वायरस के संक्रमण को देखते हुए मरीज को गंभीर स्थिति में रखा जाना चाहिए। इसके साथ ही स्वास्थ्य कर्मी खुद संक्रमण का शिकार न हो इसके लिए सभी को एहतियात बरतने को कहा गया है। उन्हें गाउन, मास्क, दस्तानों के इस्तेमाल करने की सलाह दी है। 

इसे भी पढ़ें: हेपेटाइटिस बी वायरस से जुड़े तथ्‍यों के बारे में जानें

बचाव के तरीके 

  • सी-फूड से दूर रहने की कोशिश करें। 
  • कोरोना वायरस से बचने का सबसे जरूरी तरीका है साफ-सफाई 
  • खाने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह धो लें। 
  • छींकने और खांसने के दौरान अपने मुंह और नाक को रूमाल से ढक लें।
  • सर्दी और फ्लू के लक्षणों पर डॉक्टर से संपर्क करें। 
  • अंडे और मांस को अच्छी तरह पका कर ही उसका सेवन करें। 
  • कोशिश करें कि जानवरों के सीधे संपर्क में ना आएं। 

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer