कैसा भी हो फ्लू चंद घंटों में सुधर जाएगी तबीयत बस ट्राई करें ये 5 प्राकृतिक उपाय, जानें तरीका

फ्लू से निपटने के लिए ऐसे 5 प्राकृतिक उपचार, जो चंद घंटों में सुधार देंगे आपकी तबीयत। 

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Feb 08, 2020Updated at: Feb 08, 2020
कैसा भी हो फ्लू चंद घंटों में सुधर जाएगी तबीयत बस ट्राई करें ये 5 प्राकृतिक उपाय, जानें तरीका

मौसम में जरा सा बदलाव ज्यादातर लोगों को सर्दी या फ्लू का शिकार बना देता है। तापमान में रोज हो रहे बदलाव के कारण किसी भी व्यक्ति को गले में खराश, छाती में जलन, बुखार, नाक बहना और सिरदर्द हो सकता है, जिसे संभालना कभी-कभार काफी मुश्किल भी हो सकता है। सर्दी या फ्लू की समस्या आपके पूरे सप्ताह के कार्यक्रम को बाधित कर सकती है और आप जो भी करना चाहते हैं वह भी नहीं कर पाते क्योंकि शरीर थका-थका रहता है और आपका पूरा दिन बिस्तर पर ही गुजर जाता है। अधिकांश लोग फ्लू के लक्षणों से राहत पाने के लिए एंटीवायरल दवाओं पर निर्भर रहते हैं। लेकिन इसके साथ, आप कुछ सुरक्षित और प्रभावी प्राकृतिक उपचार भी आजमा सकते हैं जो फ्लू के लक्षणों को कम कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको फ्लू से निपटने के लिए ऐसे 5 प्राकृतिक उपचार के बारे में बता रहे हैं, जो आपकी मदद कर सकते हैं।

flu

फ्लू के लिए 5 प्राकृतिक उपचार

नमक वाला पानी

नमक के पानी से कुल्ला करने से गले को राहत मिलती है और छाती में जमा बलगम को साफ करने में भी मदद मिल सकती है। नमक के पानी का मिश्रण एक परासरण प्रभाव बनाता है और आपके गले से तरल पदार्थ खींचता है। यह बलगम को तोड़ता है, सीने में जलन को दूर करता है और गले को साफ करने का काम करता है। एक गिलास गर्म पानी में 1/2 चम्मच नमक डालें और तेजी से रिकवरी के लिए दिन में कम से कम  तीन बार गरारे करें।

इसे भी पढ़ेंः खून की नसों और आपकी आंतों को हेल्दी रखेगा ल्यूक कौटिन्हो का ये घरेलू नुस्खा, इम्यूनिटी भी होगी दुरुस्त

एसेंशियल ऑयल

अगर आप फ्लू से पीड़ित हैं तो एसेंशियल ऑयल आपके लिए बेहद प्रभावी हो सकते हैं। ये ऑयल हमारे शरीर के भीतर तेजी से बढ़ रही वायरस की दर को रोककर या फिर कम कर फ्लू से लड़ते हैं। फ्लू से पीड़ित होने पर दालचीनी, पुदीना, नींबू, नीलगिरी और अजवायन के तेल को सबसे अच्छा माना जाता है। एसेंशियल ऑयल को निगलना नहीं। आप इन्हें अपने खाने बनाने वाले तेल में प्रयोग कर सकते हैं लेकिन कुछ बूंदे या फिर अपने गले पर इन तेलों से मालिश करें। इसके अलावा आप एक विसारक की मदद से इन आवश्यक तेलों को हवा में भी फैला सकते हैं।

flu prevention

जिंक का सेवन बढ़ाएं

फ्लू का शिकार होने पर जिंक से भरपूर खाद्य पदार्थों के सेवन से भी आपको इसके लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है। यह पोषक तत्व हमारे शरीर में अधिक सफेद रक्त कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है, जो बाहरी कीटाणुओं और वायरस से लड़ते हैं और हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। आप या तो जिंक को सप्लीमेंट के रूप में ले सकते हैं या राहत पाने के लिए इस पोषक तत्व से भरपूर भोजन खा सकते हैं। रेड मीट, शेलफिश, दाल, छोले, बीन्स, बीज और अंडे कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो जिंक से भरे होते हैं।

इसे भी पढ़ेंः पैरों में कंपकपी और झनझनाहट से हैं परेशान? तो इन 4 घरेलू नुस्खों से इस समस्या को करें दूर, मिलेगा आराम

शहद

शहद में रोगाणुरोधी गुण होते हैं, जो कुछ बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में मदद कर सकते हैं। कई अध्ययनों से पता चलता है कि शहद फ्लू के इलाज के लिए एक प्रभावी उपाय है। आप एक गिलास गर्म पानी में दो चम्मच शहद डाल सकते हैं, इसे अच्छी तरह से हिलाएं और इसे पीने से गले में खराश या खांसी से राहत मिलती है।

लहसुन

लहसुन एक सुपरफूड है, जो सदियों से विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है। इसमें एलिसिन होता है, जिसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं और यह वायरस और बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है। अध्ययनों के अनुसार, लहसुन न केवल किसी को बीमार पड़ने से रोकता है, बल्कि लक्षणों की गंभीरता को भी कम करता है। स्वास्थ्य लाभ के लिए अपने भोजन में लहसुन को शामिल करें।

फ्लू से राहत पाने के कुछ अन्य उपाय हैः

  • अधिक पानी और अन्य तरल पदार्थ पीएं
  • अधिक मसालेदार और तैलीय भोजन करें
  • हेल्दी स्टीम
  • हर्बल चाय पीएं

Read More Articles On Home Remedies In Hindi 

Disclaimer