अर्थराइटिस के प्रकार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 24, 2009
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अनुवांशिक कारणों से भी हो सकता है अर्थराइटिस।
  • तीस वर्ष के युवाओं को भी सताने लगा है अर्थराइटिस।
  • अर्थराइटिस से बचने के लिए जीवनशैली में बदलाव जरूरी।
  • चोट के कारण भी बढ़ जाता है अर्थराइटिस का खतरा।

बुढ़ापे की बीमारी कहा जाने वाला आर्थराइटिस अब जवानी में ही लोगों को परेशान करने लगा है। आर्थराइटिस फाउंडेशन ऑफ इंडिया की लखनऊ शाखा के आंकड़ों के मुताबिक यह बीमारी 30 साल के युवाओं को भी हो रही है। विशेषज्ञों के अनुसार ऐसे लोगों को तुरंत इलाज या एहतियातन कदम उठाने चाहिए।

बदलती लाइफ स्टाइल के चलते कम उम्र के लोगों को आर्थराइटिस की समस्या घेर रही है। आर्थराइटिस के मरीजों में बीस फीसदी लोग तीस साल तक की उम्र के होते हैं। जेनेटिक कारणों से होने वाली ऑस्टियोअर्थराइटिस के मरीजों में बदलती लाइफ स्टाइल मायने नहीं रखती है। ऐसे मरीजों को कमजोर होने वाली हड्डियों का ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है।

arthritis

आर्थराइटिस के प्रकार


आर्थराइटिस के कई प्रकार होते हैं, इनमें से सबसे आम है आस्टियोआर्थराइटिस और रयूमेटायड आर्थराइटिस।

आस्टियोआर्थराइटिस सबसे आम प्रकार का आर्थराइटिस है। यह उम्र के साथ होता है और उंगलियां, कूल्हों और घुटनों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। कभी-कभी आस्टियोआर्थराइटिस जोड़ों में चोट लगने कि वजह से भी हो जाता है जैसे किसी खिलाडी को फुटबाल खेलते वक्त घुटने में चोट लग जाए या कोई कार दुर्घटना में गिर जाए। तो साल दर साल उसके घुटने में सुधार आता रहता है और उसके घुटनों में आर्थराइटिस हो सकता है।


रयूमेटाइड आर्थराइटिस, तब होता है जब हमारे शरीर का प्रतिरक्षा तन्त्र ढंग से काम नहीं करता है यह जोड़ और हड्डियों को प्रभावित करता है तथा आंतरिक अंग तथा तन्त्रों को भी प्रभावित कर सकता है। आपको थकान तथा बुखार हो सकता है।

दूसरे आम प्रकार का आर्थराइटिस है गाउट, जो कि जोडो़ में फैट के जमा होने से होती है। यह पैर की सबसे बड़ी उंगली को प्रभावित करती है लेकिन कई दूसरे जोड़ भी प्रभावित होते सकते है।

आर्थराइटिस कई और बीमारियों में भी देखने को मिल सकता है। जैसे ल्यूपस जिसमें कि शरीर के प्रतिरक्षा तन्त्र जोड़, हृदय, त्वचा, गुर्दे तथा अन्य अंगों को नुकसान पहुंचता है।
एक संक्रमण जो कि जोड़ों में घुस कर हड्डियों के बीच के भाग को नष्ट कर देता है।

 

arthritis

आर्थराइटिस के बड़े कारण

आमतौर पर आर्थराइटिस के लिए मोटापे को दोषी ठहराया जाता है। लेकिन इसके और भी कई कारण हैं। औरतों में एस्ट्रोजन की कमी और थाइराइड का विकार भी इसका एक बड़ा कारण है। स्किन या ब्लड डिजीज जैसे लुकेमिया के कारण भी यह बीमारी होती है। टाइफायड या पैराटाइफायड के बाद भी जोड़ों में दर्द की‌ शिकायत रहती है जो लगातार बनी रहे तो आर्थराइटिस बन जाती है। डाक्टर कहते हैं कि आंतों को संक्रमित करने वाली कीटान्‍ु रिजॉक्स भी जोड़ों में तकलीफ पैदा करते हैं जिससे आर्थराइटिस होता है। अगर आपके बच्चे की प्रतिरोधक क्षमता कम है तो वो भी आर्थराइटिस का शिकार हो सकता है।


कैसे पहचानें

क्या आपको सुबह उठने पर जोड़ों में दर्द, हलकी सुजन और अकड़न की शिकायत रहती है। वक्त बेवक्त घुटने या अन्य जोड़ दुखते है। गर्दन और कमर के निचले हिस्से में दर्द बना रहता है। दवाई खाने से दर्द कम होता है, लेकिन फिर उभर आता है। पैरों के टखने दर्द करते हैं और कभी कभी चला भी नहीं जाता। घुटने, टखने, गर्दन, कमर, कलाई, पंजे दुखना आर्थराइटिस है या इसकी शुरूआत।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES19 Votes 14891 Views 3 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • yogita bhardwaj19 Jul 2012

    muze hip me right leg me feet me fingr me bahut pain rahta hai koi kahta hai siyartika hai koi kahta hai kuch or hai sabhi ilaj kiya koi fark nahi ata kya karoo

  • sandeep sharma18 Feb 2012

    dear sir, mere problem ye hai ki mujhe akshar sholder,fingers,or body main kahin bhi dard ho jata hai, jiske karan main bahut pareshan rhta hu jindgi kharab lagne lagti hai, dard itna hota hai ki mere whole body jakad jate hai. maine apna allopathic & ayurvedic tretmant bhi karaya hia par koi aaram nahi mila. checkep karane par rh factor positive aaya hai. please solve my problem.

  • Somesh Sharma02 Jan 2012

    I have pain in almost in all my body joint portion. It may me be my neck, Back, wrist, hip and shoulder also. I have this problem since 10 to 12 years. This time my age is 27 years old. I have made almost all chek-ups but there is no findings. RH factor is negative. ASO is also in normal range. But i have not found any solution. There is no specific season for pain, it may be cold or summer also. I have take both allopathic and homeopathic treatment. Plz guide me to get rid of this pain.

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर