सुपरफूड रखें कैंसर को दूर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 03, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

कैंसर से लड़ने वाले आहारकैंसर का कारगर इलाज तलाश रहे वैज्ञानिकों ने अनार, ग्रीन-टी, हल्‍दी और ब्रोकली जैसे सुपरफूड को इस जानलेवा बीमारी से बचाव में कारगर पाया है।

 

कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने सर्जरी और रेडियोथेरेपी की प्रक्रिया से गुजर चुके सैकड़ों कैंसर पीडि़तों को दिन में दो बार इन चार सुपरफूड के सत वाली गोली खिलायी। छह महीने तक चली इस प्रक्रिया के अंत में जब उन्‍होंने पुरुषों के शरीर में पीएसए का स्‍तर नापा तो उसमें 63 फीसदी तक की कमी देखी गयी।

 

पीएसए एक ऐसा प्रोटीन है, जिसे कैंसर की तीव्रता का पैमाना माना जाता है। शोध दल से जुड़े प्रोफेसर रॉबर्ट थॉमस के मुताबिक अनार, ग्रीन-टी, हल्‍दी और ब्रोकोली जैसे सुपरफूड पॉलीफेनॉल से लैस हैं। एंटी-ऑक्‍सीडेंट गुणों से भरपूर पॉलीफेनॉल ऑक्‍सीडेशन की प्रक्रिया और कार्सिगोजन (कैंसर को दावत देने वाले रसायनों) से डीएनए की सुरक्षा करता है। कैंसरग्रस्‍त कोशिकाओं के खात्‍मे और उनके फैलाव पर लगाम कसने में भी इसे कारगर पाया गया है।

 

थॉमस की मानें तो पॉलीफेनॉल सिर्फ कैंसर ही नहीं, बल्कि डायबिटीज, दिल की बीमारियों, स्‍ट्रोक, गठिया, डिमेंशिया और अलजाइमर्स जैसी बीमारियों के खिलाफ भी बेहद प्रभावी है। अतीत में हुए कई अध्‍ययन भी यह बात साबित कर चुके हैं कि जो लोग पॉलीफेनॉल युक्‍त सुपरफूड का सेवन करते हैं, उनके इन जानलेवा बीमारियों के शिकार होने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

 

थॉमस ने कहा, नया अध्‍ययन कैंसर के बढ़ने या दोबारा पनपने का खतरा कम करने वाली दवाओं के विकास में मदद करेगा। इसने साबित किया है कि अनार, ग्रीन-टी, हल्‍दी, ब्रोकोली और सोया उत्‍पाद जैसे सुपरफूड लेने से कैंसर पीडि़तों के शरीर में पीएसए का स्‍तर कम होता है। अमूमन इसे घटाने के लिए कीमोथेरेपी और रेडियोथेरपी जैसी प्रक्रियाओं का सहारा लिया जाता है, जिनके कई दुष्‍प्रभाव भी होते हैं।

 

Read More Articles on Health News In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1000 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर