नियमित योग करने से कम होता है फेफड़ों की बीमारी का खतरा

योग फेफड़ों की बीमारी से पीड़ित लोगों की जिंदगी को बेहतर बनाने का बेहद आसान तरीका है, कैसे जानने के लिए पढ़ें यह हेल्‍थ न्‍यूज।

एजेंसी
लेटेस्टWritten by: एजेंसीPublished at: Oct 31, 2013Updated at: Oct 31, 2013
नियमित योग करने से कम होता है फेफड़ों की बीमारी का खतरा

yoga is beneficial in lung diseaseयोग के फायदों के बारे में तो शायद हम सभी जानते है लेकिन क्‍या आप यह भी जानते हैं कि योग फेफड़ों की बीमारी से पीड़ित लोगों की जिंदगी को बेहतर बनाने का बेहद आसान और कम खर्चीला तरीका भी साबित हो सकता है।

 

यह दावा एम्‍स के डॉक्‍टरों द्वारा किए गए अध्‍ययन में किया गया है। इस अध्‍ययन को एम्‍स में आयोजित चेस्‍ट 2013 की बैठक में पेश किया गया। उनके अनुसार फेफड़े के मरीजों के लिए बहुत लाभकारी है योग।

 

इसमें 12 हफ्तों की ट्रेनिंग के बाद क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पुलमोनेरी डिजीज (सीओपीडी) से पीड़ित मरीजों के फेफड़े और सांस संबंधी तकलीफों में महत्वपूर्ण सुधार देखने को मिला। ऐसे मरीजों को अपने फेफड़ों से सांस बाहर निकालने में तकलीफ होती है, जिससे ताजी हवा शरीर के अंदर लेना मुश्किल हो जाता है।

 

शोधकर्ताओं ने बताया कि वैसे तो सीओपीडी का कोई इलाज नहीं है, लेकिन सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षणों को नियंत्रित कर इस बीमारी से पीड़ित मरीजों की जिंदगी को बेहतर बनाया जा सकता है।

 

सिगरेट पीने की वजह से ज्यादातर लोग इस बीमारी की चपेट में आ जाते हैं और इसके लक्षण अक्सर 40 की उम्र में देखने को मिलते हैं।

 

Read More Health News in Hindi

Disclaimer