World Liver Day: शरीर के लिए घातक हैं लिवर की ये 5 बीमारियां, एक्सपर्ट से जानें इनके लक्षण और बचाव के उपाय

World Liver Day 2021 के इस मौके पर आइए जानते हैं लिवर से जुड़ी कुछ घातक बीमारियों के बारे में, जो दुनिया भर में लाखों लोगों को परेशान करते हैं। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Apr 19, 2021 17:24 IST
World Liver Day: शरीर के लिए घातक हैं लिवर की ये 5 बीमारियां, एक्सपर्ट से जानें इनके लक्षण और बचाव के उपाय

लिवर (Liver) हमारे शरीर के सबसे जरूरी अंगों में से एक है। ये खून में कैमिक लेवल को नियंत्रित करता है और पित्त (बाइल जूस) का उत्सर्जन करता है और शरीर के वेस्ट प्रोडक्ट्स को बाहर निकालने में मदद करता है।  इस तरह ये शरीर से नुकसानदायक वेस्ट प्रोडक्ट्स को छानता है और भोजन को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है। इसलिए, जब लिवर का कामकाज प्रभावित होता है, तो यह पूरे शरीर के कामकाज को प्रभावित करता है।  आज कल के खराब लाइफस्टाइल और इनएक्टिव रूटिन का लिवर पर भी अच्छा खासा असर होता है। आज गलत खान-पान और खराब लाइफस्टाइल के चलते लोगों की लिवर जल्दी खराब हो जाते हैं या लोगों को लिवर से जुड़ी कई सारी बीमारियों का सामना करना पड़ता है। लिवर से जुड़ी इन्हीं बीमारियों के बारे में हमने डॉ. अवनीश सेठ (Dr. Avnish Seth),प्रिंसिपल डायरेक्टर (गैस्ट्रोएंटरोलॉजी / हेपेटोबिलरी विज्ञान), फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट, गुरुग्राम से बात की। 

Inside2liverdiseases

अस्वस्थ लिवर के लक्षण- Symptoms of unhealthy liver

डॉ. अवनीश सेठ ने सबसे पहले हमें अस्वस्थ लिवर के लक्षणों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि जैसे कि हमारे शरीर में लिवर अस्वस्थ होने लगता है, तो इसके लक्षण नजर आने लगते हैं। ऐसे में हमें इन लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और इस बारे में डॉक्टर से बात करनी चाहिए। इन लक्षणों में शामिल हैं, 

  • -पीली त्वचा
  • -आंखों का पीला होना
  • -गहरे रंग का पेशाब
  • -पीला, खूनी या काला मल
  • -पैरों में सूजन
  • - पेट में सूजन
  • -जी मिचलाना
  • -उल्टी
  • -भूख का कम लगना
  • -ज्यादा थकावट रहना
  • -त्वचा में खुजली

डॉ.  अवनीश सेठ बताते हैं कि इन लक्षणों का मतलब ये है कि आपको लिवर से जुड़ी कोई परेशानी है या कोई बीमारी हो गई है। हालांकि, लिवर के अलग-अलग बीमारियों में अलग-अलग कारण, लक्षण होते हैं, जिसका इलाज अलग-अलग तरीके से किया जाता है। 

लिवर की बीमारियां-Liver Diseases

1. हेपेटाइटिस (Hepatitis)

हेपेटाइटिस एक वायरल संक्रमण (Viral Infection) है जो कि लिवर में सूजन का कारण बनता है और अंततः इसे नुकसान पहुंचाता है। यह लिवर के लिए काम करने को भी मुश्किल बना देता है  हेपेटाइटिस के लक्षणों में शामिल हैं, 

  • -पीलिया (Jaundice) 
  • -पीला पेशाब
  • -पेट दर्द और सूजन
  • -भूख कम लगना
  • -वजन का घटना

हेपेटाइटिस के पांच अलग-अलग प्रकार हैं। हेपेटाइटिस-ए, बी, सी, डी और ई। इनके कई कारण होते हैं और ये सभी संक्रामक हैं। हालांकि, कोई ए और बी प्रकार के लिए टीका लगवाकर जोखिम को कम किया जा सकता है।

Inside4liverdamage

इसे भी पढ़ें : World Liver Day 2021: जानें लिवर शरीर में क्या काम करता है और इसे स्वस्थ रखने के लिए क्या करें

2. फैटी लिवर की बीमारी (Fatty liver disease)

यह एक ऐसी बीमारी है जो लिवर में फैट जम जाने के कारण होती है। ये दो प्रकार के होते हैं, जिनमें शामिल हैं

  • -अल्कोहलिक फैटी लिवर रोग (Alcoholic fatty liver disease, शराब के भारी सेवन के कारण होता है। 
  • -गैर-अल्कोहलिक फैटी लीवर रोग (Non-alcoholic fatty liver disease), अन्य कारकों और मेडिकल कंडिशन के कारण होता है।

फैटी लिवर के लक्षण (fatty liver symptoms) की बात करें, तो पेट के दाएं भाग के ऊपरी हिस्से में दर्द होता है, वजन तेजी से घटने लगता है, कमजोरी हो जाती है और कई लोगों के पेट में सूजन और एसिडिटी भी हो जाती है। ये दोनों ही लिवर को नुकसान पहुंचा सकते हैं जिसके परिणामस्वरूप लिवर फेल हो सकते हैं। एक स्वस्थ आहार और जीवन शैली में बदलाव लक्षणों में सुधार कर सकता है, जटिलताओं के जोखिम को कम कर सकता है।

3. लिवर में कैंसर (Liver Cancers)

लिवर का कैंसर बहुत ही घातक बीमारी है। हालांकि, लिवर कैंसर, कैंसर का एक प्रकार जो कि शरीर में कहीं और शुरू होता है और फिर लिवर में फैलता है। सबसे आम लिवर कैंसर में हेपेटोसेल्यूलर कार्सिनोमा है । यह लिवर में कैंसर के कई छोटे धब्बों के रूप में विकसित होता है, लेकिन यह एक ट्यूमर के रूप में भी शुरू हो सकता है और सही से इलाज न करवा पाने पर बढ़ता चला जाता है।  इसके लक्षणों में शामिल हैं

4. लिवर सिरोसिस (Cirrhosis)

लिवर सिरोसिस लिवर के कुछ घातक रोगों में से एक है। ये ज्यादा शराब पीने के कारण होता है। ये लिवर को नुकसान पहुंचाता है। सिस्टिक फाइब्रोसिस और सिफलिस से भी लीवर खराब हो सकता है और यह अंततः सिरोसिस की ओर ले जाता है। फाइब्रोसिस की समस्या में किसी अंग के तंतु लगातार बढ़ते हुए इस अंग पर फैल जाते हैं। इसके बाद स्थिति अधिक गंभीर होते हुए सिरॉसिस तक पहुंच जाती है। इसके चलते टिश्यू क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। इसके लक्षणों में लोगों में थकान, ब्रेन में कंफ्यूजन और घबराहट। इसके अतिरिक्त भी कई ऐसे लक्षण हैं, जो लिवर सिरॉसिस के रोगियों में दिखाई पड़ते हैं। जैसे, भूख कम लगना, त्वचा पर रह-रहकर लेकिन लगातार खुजली होना, नोज़िया की समस्या, पैरों में घुटने के नीचे के हिस्सों में सूजन और जलन होना।

5. लिवर फ्लेयोर (Liver failure)

लिवर फ्लेयोर का मतलब है कि जब लिवर काम करना बंद कर देता है। इसकी विफलता तब होती है जब लिवर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा क्षतिग्रस्त हो जाता है और ठीक से काम नहीं कर पाता है। हालांकि, रोगी को जिस विशिष्ट स्थिति से पीड़ित हो सकता है, उसके आधार पर, स्वास्थ्य सेवा प्रदाता अन्य उपचारों के बीच आहार या जीवन शैली में बदलाव की सिफारिश कर सकता है, जिससे रोगी को गुजरना पड़ सकता है। जैसे ही कोई लिवर की बीमारी के किसी भी लक्षण का सामना करता है, प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता तक पहुंचना सबसे अच्छा है। इसके संकेतों की बात करें तों, इसनें चेहरे पर भूरे या काले रंग के दाने और दाग-धब्बे दिखाई देते हैं। ये इस बात का संकेत हो सकते हैं कि आपका लिवर खराब हो रहा है। जब आपका लिवर ठीक से काम नहीं करता है, तो इसमें ओएस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ने लगती है, जिससे ये सभी लक्षण नजर आने लगते हैं। 

इसे भी पढ़ें : World Liver Day 2021: लिवर को खराब होने से बचाते हैं ये 9 हेल्‍दी फूड, रोजाना कर सकते हैं सेवन

लिवर को हेल्दी रखने का उपाय- Healthy Liver Tips

1. वजन संतुलित रखें

अगर आप मोटे या आपका वजन बहुत ज्यादा है तो आपको फैटी लीवर की परेशानी हो सकती है, जो कि गैर-अल्कोहल फैटी लीवर रोग (एनएएफएलडी) हो सकता है, जो लीवर की बीमारी के सबसे तेजी से बढ़ते रूपों में से एक है। लीवर की चर्बी को कम करने में मदद करने के लिए वजन कम करना एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। इसलिए अपना वजन संतुलित रखें।

2. संतुलित आहार लें

उच्च कैलोरी भोजन, सैच्युरेडेट फैट, कार्बोहाइड्रेट जैसे सफेद ब्रेड, सफेद चावल और नियमित पास्ता और शुगर से बचें। कच्चा या अधपका मामस न खाएं। लिवर को स्वस्थ रखने के लिए फाइबर खाएं, जिसे आप ताजे फल, सब्जियां, साबुत अनाज, चावल और रेशेदार चीजों से पा सकते हैं। साथ ही खूब पानी पिएं, ये लिवर के काम काज को बेहतर बनाने में मदद करता है। 

3. नियमित रूप से व्यायाम करें 

जब आप लगातार व्यायाम करते हैं, तो यह शरीर शक्ति के लिए ट्राइग्लिसराइड्स को जलाने में मदद करता है और लिवर के फैट को भी कम करता है। इसलिए एक्सरसाइज करना लिवर को फिट रखने में भी मदद करता है।

इस तरह आप अपने लिवर को स्वस्थ रख सकते हैं और इन्हें बीमारियों से बचा सकते हैं। साथ ही लिवर की अन्य घातक बीमारियों जैसे कि  हेपेटाइटिस से बचाव का उपाय ये है कि आप हेपेटाइटिस-बी का टीका लें। तो, अपनी लाइफस्टाइल में सुधार करें, हेल्दी खाएं और एक्टिव रहें, ताकि आपको लिवर से जुड़ी कोई परेशानी या बीमारी न हो।

Read more articles on Other-Diseases in Hindi

Disclaimer