जानें गर्भवती को फ्लू शॉट लेने पर क्‍यों करना चाहिए विचार

एक नए अमेरिकी अध्‍ययन से पता चला है कि गर्भावस्था के दौरान फ्लू का इंजेशन लेने वाली महिलाओं के शिशु में जन्‍म के बाद अगले छह महीने तक फ्लू से रक्षा होती है।

Pooja Sinha
गर्भावस्‍था Written by: Pooja SinhaPublished at: May 20, 2016Updated at: May 20, 2016
जानें गर्भवती को फ्लू शॉट लेने पर क्‍यों करना चाहिए विचार

फ्लू शॉट, फ्लू इंफेक्‍शन से बचाने में मदद करता है, लेकिन एक नए अमेरिकी अध्‍ययन से पता चला है कि गर्भावस्था के दौरान फ्लू का इंजेशन लेने वाली महिलाओं के शिशु में जन्‍म के बाद अगले छह महीने तक फ्लू से रक्षा होती है।

अध्‍ययन के अनुसार, उन शिशुओं में इन्‍फ्लूएंजा की समस्‍या बहुत कम होती है, जिनकी मां ने गर्भावस्‍था के दौरान वायरस से बचने के लिए इंजेक्शन लगवाये हो। डॉक्‍टर के अनुसार गर्भवती के लिए फ्लू वैक्सीनेशन इसलिए जरूरी है, क्‍योंकि वायरस का संबंध अ‍परिपक्‍व जन्‍म जैसी जटिलताओं से जुड़ा हुआ होता है और यह बच्‍चों को तब तक फ्लू से बचाने में मदद करता है, जब तक की छह महीने की उम्र तक बच्‍चा इंजेक्‍शन लगवाने में सक्षम नहीं होता।

flu shot in hindi



अध्‍ययन के अनुसार

अध्‍ययन में पाया गया कि छह महीने पहले, इंजेक्‍शन लगे माताओं से जन्‍में बच्‍चों में इंजेक्‍शन न लगे माताओं से जन्‍में बच्‍चों की तुलना में 64 प्रतिशत फ्लू के लक्षण कम देखने को मिलें और इंजेक्‍शन न लगने के वाली माताओं से जन्‍में बच्‍चों में 70 प्रतिशत संक्रमण की पुष्टि की संभावना रहती है।


गर्भावस्‍था में फ्लू शॉट

इस बड़े अध्‍ययन का नेतृत्‍व कर रहें यूनिवर्सिटी ऑफ साल्‍ट लेक सिटी यूटा के डॉक्‍टर जूली शाकिब के अनुसार, गर्भावस्‍था के दौरान इंफ्लूएंजा का इंजेक्‍शन लेनी वाली महिलाओं के शिशुओं में अपने जीवन के पहले छह महीनों में इंफ्लूएंजा के निदान की संभावना बहुत कम होती है। लेकिन अध्‍ययन से यह भी सामने आया कि कुल मिलाकर, सिर्फ 10 प्रतिशत महिलाओं ने ही गर्भावस्था के दौरान फ्लू के इंजेक्‍शन की सूचना मिली है।


गर्भवती इससे जुड़े नुकसान के बारे में चिंतित रहती है, लेकिन उन्‍हें समझना चाहिए कि इस बात के ठोस सबूत है कि गर्भावस्‍था के दौरान इंफ्लूएंजा के लिए इंजेक्‍शन लगवाने पर मां और बच्‍चा दोनों की ही गंभीर नुकसान से रक्षा होती है।


क्‍या कहता है शोध

गर्भावस्था के दौरान व्यापकता और फ्लू के टीकाकरण के परिणामों का आकलन करने के लिए, शाकिब और उनके सहयोगियों ने 2005 से 2014 तक लगभग 500,000 माताओं और बच्चों पर इकट्ठा डेटा का विश्लेषण किया। डिलीवरी के समय, शोधकर्ताओं ने महिलाओं से पूछा कि क्‍या उन्‍हें गर्भावस्‍था के दौरान इंजेक्‍शन लगाया गया था। मोटे तौर पर 23 हजार महिलाओं ने कहा, उन्‍होंने ऐसा किया, जबकि 222 हजार महिलाओं ने इस बात से इंकार किया।


अन्‍य शोध के अनुसार  

अध्ययन में शामिल ओरेगन हेल्‍थ और साइंस यूनिवर्सिटी के मैटरनल-फीटल मेडिसिन स्पेशलिस्ट डॉ लियोनार्डो परेरा ने कहा गर्भवती में अन्‍य महिलाओं की तुलना में फ्लू होने अस्‍पताल में भर्ती, गहन देखभाल और मृत्‍यु का खतरा बढ़ जाता है।


इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते है।

Image Source : Getty

Read More Artilces on Pregnancy Care in Hindi

Disclaimer