करियर और जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए बहुत जरूरी है इमोशनल इंटेलीजेंस (EQ), जानें इसे बढ़ाने के टिप्स

इमोशनल इंटेलिजेंस यानी भावनात्मक बुद्धिमत्ता आपकी भावनाओं पर कंट्रोल को दर्शाती है, जानें इसे इम्प्रूव करने की टिप्स। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Sep 07, 2021 17:03 IST
करियर और जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए बहुत जरूरी है इमोशनल इंटेलीजेंस (EQ), जानें इसे बढ़ाने के टिप्स

इंसान की भावनाएं उसे आगे बढ़ने के लिए सहारा दे सकती हैं। भावनाओं को लेकर एक कहावत भी मशहूर है कि भावनाओं पर ही दुनिया टिकी है। भावनाओं से ही जुदा एक शब्द है जिसे इमोशनल इंटेलिजेंस यानी भावनात्मक बुद्धिमत्ता कहा जाता है। इमोशनल इंटेलिजेंस (Emotional Intelligence) को ईक्यू भी कहते हैं। इमोशनल इंटेलिजेंस (EQ) आपकी अपनी भावनाओं तक पहुंचने की क्षमता है जिसे पाने के बाद आप अपने जीवन और करियर में बहुत सफल हो सकते हैं। अपनी भावनाओं को समय और स्थिति के हिसाब से मैनेज करना इमोशनल इंटेलिजेंस होता है। इंसान की बुद्धि ही है जो उसे इस पृथ्वी पर सबसे अच्छा प्राणी बनाती है लेकिन बिना भावनात्मक बुद्धिमत्ता के इंसान आगे बढ़ने में सफल नहीं हो सकता है। चाहे वो करियर हो या जीवन इमोशनल इंटेलिजेंस की हर जगह जरूरत होती है। आइये जानते हैं इसके बारे में और इसे बढ़ाने के तरीके के बारे में। 

क्या है इमोशनल इंटेलिजेंस? (What is Emotional Intelligence?)

जैसा कि हमने आपको बताया इमोशनल इंटेलिजेंस अपनी भावनाओं तक पहुंचने की क्षमता है जो जीवन को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। ईक्यू यानी इमोशनल इंटेलिजेंस के जरिए आप अपनी भावनाओं पर कंट्रोल या संतुलन रख सकते हैं। जिस तरह इंसान का आईक्यू उसे आगे बढ़ने में मदद करता है ठीक उसी तरह से ईक्यू का भी महत्व होता है। भावनात्मक रूप से बुद्धिमान व्यक्ति सामाजिक होता है और दूसरों से प्रभावशाली रिश्ते बनाने में माहिर भी होता है। ऐसे लोग तनाव और अन्य मानसिक समस्याओं से भी मुक्त हो सकते हैं। आपने अपने आसपास ऐसे लोगों को भी देखा होगा जो इंटेलीजेंट तो हैं और बहुत अधिक परिश्रम भी करते हैं लेकिन इन सबके बावजूद ऐसे लोग अगर किसी काम में सफल नहीं हो पाते हैं तो इसका मतलब ऐसे व्यक्ति इमोशनल इंटेलिजेंस की दृष्टि से कमजोर हैं। आपकी आईक्यू भले ही कितनी क्यों न हो लेकिन जब तक आपकी ईक्यू ठीक नहीं होगी आपको आगे बढ़ने में बहुत कठिनाई झेलनी पड़ेगी। 

Emotional-Intelligence-EQ

(image source - freepik.com)

इसे भी पढ़ें : आपके मेंटल हेल्थ पर 'लव एडिक्शन' का इस तरह पड़ता है प्रभाव, जानें इसके लक्षण और बचाव का तरीका

इमोशनल इंटेलिजेंस को बढ़ाने वाले 4 कारक (4 Factors That Improve Emotional Intelligence)

इमोशनल इंटेलिजेंस अपनों और अन्य लोगों के साथ अच्छे संबंध बनाने के लिए भी बहुत जरूरी माना जाता है। कई शोध और अध्ययन इस बात पर जोर देते हैं कि जीवन और करियर में भी सफल होने के लिए इमोशनल इंटेलिजेंस बहुत आवश्यक होता है। इमोशनल इंटेलिजेंस को बढ़ाने में ये 4 बातें सबसे अहम भूमिका निभाती हैं।

1. सेल्फ अवेयरनेस (Self Awareness) - इंसान का सेल्फ अवेयर होना जीवन में आगे बढ़ने के लिए बहुत जरूरी होता है। सेल्फ अवेयरनेस होने पर इंसान अपनी कमजोरी और ताकत दोनों को पहचान कर आगे बढ़ता है। जागरूक व्यक्ति को ये पता होता है कि उसे किस जगह पर कैसा व्यवहार करना चाहिए।

2. मोटिवेशन (Motivation) - मोटिवेशन किसी भी काम के प्रति हो आपका काम आसन कर देता है। इंसान का मोटीवेट रहना सबसे जरूरी होता है। आप मोटीवेटेड रहने से अपने करियर में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।

Emotional-Intelligence-EQ

(image source - freepik.com)

इसे भी पढ़ें : मेंटल हेल्थ को अच्छा रखने के लिए जरूरी है गपशप (गॉसिपिंग), जानें इसके सकारात्मक प्रभाव

3. सहानुभूति (Sympathy) - सिर्फ खुद के जीवन या अपने काम में उलझकर रह जाना ही जीवन नहीं होता है। आप खुद के साथ दूसरों के साथ उनकी परेशानियों को दूर करने के लिए कितना काम करते हैं ये भी जरूरी होता है। 

4. सेल्फ रेगुलेशन (Self Regulation) - अपनी भावनाओं पर नियंत्रण कर अच्छा व्यवहार करना ही सेल्फ रेगुलेशन होता है।  आपका व्यवहार आपको आगे बढ़ने या पीछे धकेलने का काम करता है।

इमोशनल इंटेलीजेंस बढ़ाने के टिप्स (Tips To Improve Emotional Intelligence)

इमोशनल इंटेलिजेंस को अचानक तेजी से बढ़ाया नहीं जा सकता है। आप अपनी सोच, कामकाज के तरीके और लोगों के प्रति अपने नजरिये में बदलाव लाकर इसे बढ़ा सकते हैं। इमोशनल इंटेलिजेंस को बढ़ावा देने के लिए आप इन बातों का ध्यान जरूर रखें। 

  • अपने इमोशनल रिएक्शन को हमेशा नोट करें। 
  • अपनी भावनाओं को टटोलने का प्रयास करें। 
  • सेल्फ अवेयरनेस की प्रैक्टिस करें। 
  • दूसरों की स्थिति को समझें। 
  • हमेशा खुद को मोटीवेटेड रखने की कोशिश करें। 
  • अच्छे रिश्ते बनाएं। 
  • सकारात्मक दृष्टिकोण रखें। 
  • दूसरों के प्रति नजरिया सही रखें। 

इसे भी पढ़ें : मन में पछतावे की भावना को दूर करने के 7 तरीके, जानें एक्सपर्ट से

इन बातों का ध्यान रखकर आप अपने जीवन में जरूर उतारें। ये बातें आपके इमोशनल इंटेलिजेंस को बढ़ावा देने का काम करती हैं। इन बातों को अपनाकर आप अपने जीवन में सफल हो सकते हैं। 

(main image source - freepik.com)

Read More Articles on Mind and Body in Hindi

Disclaimer