वेट लॉस सर्जरी से जुड़ी 7 भ्रामक बातें (मिथक) और उनकी सच्चाई

मोटापे की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए वेट लॉस सर्जरी वरदान है, आइये जानते हैं इससे जुड़े कुछ पॉपुलर मिथक और उनकी सच्चाई के बारे में।

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Aug 11, 2021 11:03 IST
वेट लॉस सर्जरी से जुड़ी 7 भ्रामक बातें (मिथक) और उनकी सच्चाई

आज के समय में मोटापा (Obesity) एक गंभीर स्वास्थ्य चुनौती बन चुका है। मोटापे के कारण शरीर में कई समस्याएं होती हैं। मोटापे की वजह से होने वाली समस्याओं से बचने के लिए लोग वेट लॉस सर्जरी (बैरिएट्रिक सर्जरी) का सहारा लेते हैं। वजन कम करने की सर्जरी यानि वेट लॉस सर्जरी आज के समय में खूब पॉपुलर भी है। तमाम लोग इस सर्जरी का सहारा लेकर वजन कम करने में सफल भी हो रहे हैं। लेकिन वेट लॉस या बैरियाट्रिक सर्जरी (Bariatric Surgery) से जुड़ी कुछ भ्रांतियां भी लोगों में मन में अपनी जगह बना चुकी हैं। चूंकि यह सर्जरी वजन कम करने के लिए की जाती है इसलिए जाहिर सी बात है कि लोग इसके बारे में जानकारी लेते ही होंगे। लेकिन आज के दौर किसी भी चीज के बारे में भ्रामक जानकारी मौजूद होना कोई बड़ी बात नहीं है। इसी तरह से इंटरनेट पर वेट लॉस सर्जरी को लेकर कुछ भ्रामक बातें फैल चुकी हैं। आइये जानते हैं वेट लॉस सर्जरी से जुड़ी 7 भ्रामक बातें (मिथक) और उनकी सच्चाई।

वेट लॉस सर्जरी से जुड़े 6 मिथ और उनकी सच्चाई (Weight Loss Surgery Myths and Facts)

मोटापे की स्थिति को अक्सर लोग सिर्फ वजन से जोड़कर देखते हैं। लेकिन मोटापा सिर्फ वजन का बढ़ने तक ही सीमित नहीं है इसकी वजह से शरीर के कई अंगों की सेहत पर असर पड़ता है। मोटापे की वजह से शरीर में होने वाली बीमारियां भी बहुत खतरनाक होती हैं। मोटापे की समस्या से छुटकारा पाने के लिए लोग वेट लॉस सर्जरी का सहारा लेते हैं। वेट लॉस सर्जरी के लिए आज के समय में कई तकनीक भी मौजूद हैं। लेकिन इससे जुड़ी कुछ भ्रामक बातें भी तेजी से फैल चुकी हैं, आइए जानते हैं वेट लॉस सर्जरी से जुड़ी कुछ भ्रामक बातें और उनकी सच्चाई।

Weight-Loss-Surgery-Myths-and-Facts

मिथक 1 - वेट लॉस सर्जरी या  बैरियाट्रिक सर्जरी बहुत खतरनाक होती है

वेट लॉस सर्जरी के बारे में फैली आम धारणाओं में सबसे प्रमुख भ्रांति ये है कि यह सर्जरी बहुत खतरनाक होती है। लोगों के मन में इस सर्जरी को लेकर यह बात भी बैठ गयी है कि वेट लॉस सर्जरी में जोखिम भी अधिक होते हैं।

सच्चाई - हालांकि आज के समस्या में तकनीकी में हुई प्रगति ने इंसानों का काम बहुत आसान कर दिया है। इसी तरह वेट लॉस सर्जरी की प्रक्रिया में तकनीक की वजह से जोखिम बहुत कम हो गए हैं। और यह सर्जरी बहुत ही आसान तरीके से की जाती है। सामान्य रूप से होने वाली सर्जरी के समान ही वेट लॉस सर्जरी भी होती है।

इसे भी पढ़ें: ज्यादा चिंता करने (स्ट्रेस) के कारण भी घटने लगता है वजन, जानें इस तरह के वेट लॉस को कैसे रोकें

Weight-Loss-Surgery-Myths-and-Facts

मिथक 2 - तेजी से वजन घटाने के लिए वेट लॉस सर्जरी अच्छा विकल्प है

कई लोगों के मन में यह बात बैठ चुकी है कि तेजी से वजन कम करने के लिए वेट लॉस सर्जरी सबसे अच्छा विकल्प है।

सच्चाई - वजन घटाने के लिए की जाने वाली वेट लॉस सर्जरी की प्रक्रिया भले ही सरल है लेकिन इसकी मदद से बहुत तेजी से वजन कम नहीं होता है। यह सर्जरी मोटापे की बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए फायदेमंद तो है। लेकिन सिर्फ सर्जरी के सहारे आपको वजन कम करने में सफलता नहीं मिलती है। सर्जरी के बाद आपको तमाम परहेज और जीवनशैली में बदलाव करने पड़ते हैं।

इसे भी पढ़ें: वजन बढ़ाने के लिए प्रोटीन पाउडर का इस्तेमाल है कितना फायदेमंद?

मिथक 3 - सर्जरी के बाद ज्यादातर लोगों का वजन बढ़ जाता है 

कई लोगों का यह मानना है कि वेट लॉस सर्जरी के बाद ज्यादातर लोगों का वजन तेजी से बढ़ जाता है।

सच्चाई - बैरियाट्रिक सर्जरी या वेट लॉस सर्जरी के बाद खानपान और जीवनशैली में बदलाव के नियमों का पालन करने से काफी समय तक वजन को संतुलित रखने में सहायता मिलती है। जो लोग सिर्फ सर्जरी के सहारे वजन कम करना चाहते हैं उनका वजन जरूर बढ़ सकता है। 

मिथक 4 - वेट लॉस सर्जरी के बाद महिलाएं मां नहीं बन सकती 

वेट लॉस सर्जरी के बाद महिलाएं मां नहीं बन सकती हैं और पुरुषों की फर्टिलिटी कम हो जाती है।

सच्चाई - वजन कम करने की सर्जरी कराने के बाद महिलाओं को 2 साल तक गर्भवती न होने की सलाह चिकित्सकों द्वारा दी जाती है। क्योंकि इस प्रक्रिया के बाद शरीर के वजन को संतुलित रखने के लिए यह जरूरी है। लेकिन मिथक के विपरीत वेट लॉस सर्जरी से गुजर चुकीं महिलाएं 2 साल बाद प्रेग्नेंट हो सकती हैं। इसके साथ ही पुरुषों की फर्टिलिटी पर भी वेट लॉस सर्जरी का कोई असर नहीं होता है।

इसे भी पढ़ें: मोटापा कम करने का नया तरीका है कूलस्कल्पटिंग (CoolSculpting), जानें क्या है ये और इसके फायदे

Weight-Loss-Surgery-Myths-and-Facts

मिथक 5 - वेट लॉस सर्जरी के बाद स्किन पर निशान रह जाते हैं

तमाम लोगों की यह धारणा बन चुकी है कि वेट लॉस सर्जरी के बाद स्किन पर गंभीर निशान रह जाते हैं।

सच्चाई - तकनीक और आधुनिक उपकरणों ने वेट लॉस सर्जरी की प्रक्रिया को आसान कर दिया है। इस सर्जरी के बाद स्किन पर गंभीर या गहरे दाग नहीं पड़ते हैं। ज्यादातर मामलों में यह सर्जरी "पिन होल" के माध्यम से की जाती है जिसे लेप्रोस्कोपिक सर्जरी कहा जाता है। यह सर्जरी दूसरे सर्जरी की तुलना में कम निशान छोड़ती है।

इसे भी पढ़ें: बैली फैट से हैं परेशान तो, जानें पेट कम करने की एक्सरसाइज और डाइट से जुड़े 5 आसान टिप्स

मिथक 6 - पहले कोई ऑपरेशन हुआ है तो वेट लॉस सर्जरी नहीं करा सकते 

लोगों के मन में यह धारणा बन गयी है कि अगर आपका पहले से कोई ऑपरेशन हुआ है तो वेट लॉस सर्जरी नहीं करा सकते हैं।

सच्चाई - पहले हुई किसी सर्जरी का वेट लॉस सर्जरी के कोई लेना देना नहीं होता है। क्योंकि यह एक प्रकार की लेप्रोस्कोपिक सर्जरी है और इसकी प्रक्रिया भी बेहद आसान होती है। हालांकि सभी लोगों के मामले में ऐसा नहीं कहा जा सकता है, सर्जरी से पहले चिकित्सक आपकी जांच करते हैं और उसके बाद ही सर्जरी का निर्णय लिया जाता है।

मिथक 7 - सभी वेट लॉस सर्जरी एक ही तरह की होती है 

वेट लॉस सर्जरी से जुड़ा एक पॉपुलर मिथक यह भी है कि वेट लॉस सर्जरी एक ही तरह की होती है।

सच्चाई - ऐसा नहीं है, वेट लॉस सर्जरी की प्रक्रिया कई तरह की होती है। उदाहरण के लिए मिनी गैस्ट्रिक बाईपास, रॉक्स-एन-वाई गैस्ट्रिक बाईपास, गैस्ट्रिक बैंड, गैस्ट्रिक स्लीव रिसेक्शन, डुओडेनल स्विच, एसएडीआई, प्लिकेशन और इलियल इंटरपोजिशन आदि वेट लॉस सर्जरी के प्रकार हैं।

Weight-Loss-Surgery-Myths-and-Facts

इसे भी पढ़ें: वेट लॉस सर्जरी (बैरिएट्रिक सर्जरी) के बाद डाइट टिप्स: जानें क्या खाएं और क्या नहीं

तो ऊपर बताये गए ये 6 मिथक वेट लॉस सर्जरी से जुड़े सबसे कॉमन मिथक हैं। हालांकि वेट लॉस सर्जरी के परिणाम हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकते हैं। इस सर्जरी के बाद खानपान और जीवनशैली का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

Read More Articles on Weight Management in Hindi

Disclaimer