शरीर में विटामिन्स की कमी बन सकती है इन मानसिक समस्याओं का कारण, जानें इससे बचाव के लिए जरूरी उपाय

शरीर में विटामिन की कमी की वजह से मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है, जानिए विटामिन्स की कमी से शरीर में होने वाली मानसिक बीमारियों के बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Aug 16, 2021Updated at: Aug 26, 2021
शरीर में विटामिन्स की कमी बन सकती है इन मानसिक समस्याओं का कारण, जानें इससे बचाव के लिए जरूरी उपाय

जिस प्रकार शरीर को स्वस्थ और फिट बनाये रखने के लिए तमाम पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है ठीक उसी तरह से इंसान के मानसिक स्वास्थ्य को संतुलित बनाये रखने के लिए भी पोषक तत्व महत्वपूर्ण होते हैं। मानसिक स्वास्थ्य ठीक न होने पर इंसान के जीवन में तमाम कठिनाइयां आती हैं और उसकी वजह से शरीर पर भी बुरा असर पड़ता है। विटामिन शरीर के लिए सबसे जरूरी पोषक तत्वों में से एक हैं। विटामिन की कमी से शरीर में कई दिक्कतें तो होती हैं लेकिन अगर आपके आहार में पर्याप्त विटामिन नहीं है तो इसकी वजह से आपके मानसिक स्वास्थ्य पर भी प्रभाव पड़ता है। विटामिन की कमी से इंसान को कई मानसिक बीमारियों से भी जूझना पड़ सकता है। दुनियाभर में हुए तमाम शोध और अध्ययन इस बात की पुष्टि करते हैं कि मानसिक स्वास्थ्य को ठीक बनाये रखने के लिए शरीर में जरूरी विटामिन की उचित मात्रा होनी चाहिए। शारीरिक स्वास्थ्य के लिए पोषक तत्वों का जितना महत्त्व है उतना ही मानसिक स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए भी है। ऐसे में यह जानना बहुत जरूरी है कि हमारे शरीर में कौन से विटामिन की कमी से मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

विटामिन की कमी से मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव (Impact of Vitamin Deficiency on Mental Health)

शरीर को ठीक ढंग से काम करने के लिए तमाम पोषक तत्वों की जरूरत होती है। शरीर में पोषक तत्वों की कमी से इंसान को कई समस्याओं, बीमारियों का सामना करना पड़ता है। मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के लिए शरीर में विटामिन की उचित मात्रा का होना बहुत जरूरी है। अगर आप भोजन में सभी विटामिन का सही ढंग से सेवन नहीं करते हैं तो इसकी वजह से आपके मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है। मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी तमाम स्थितियों का अहम कारण शरीर में विटामिन की कमी हो सकता है। डिप्रेशन, चिंता और तनाव जैसी मानसिक बीमारियों में शरीर में विटामिन की कमी हो जाती है। शरीर में विटामिन डी की कमी से ऐसे रोग जल्दी पनपते हैं। वहीं विटामिन बी काम्प्लेक्स की कमी भी मानसिक स्वास्थ्य को बुरी तरह से प्रभावित करती है।

Vitamin-Deficiency-Effects-on-Mental-Health

(Image Source - Freepik.com)

शरीर में विटामिन्स की कमी से हो सकती हैं ये मानसिक समस्याएं (Vitamin Deficiency Effects on Mental Health)

किसी भी इंसान की मनोदशा, सोच और व्यवहार को प्रभावित करने वाली समस्याओं को मानसिक समस्या कहते हैं। मनोवैज्ञानिक या मानसिक विकारों से ग्रसित व्यक्ति के इलाज के कई तरीके होते हैं लेकिन इस बात की जानकारी बहुत कम लोगों को है कि शरीर में विटामिन की कमी भी इन समस्याओं का कारण बन सकती है। आइये जानते हैं शरीर में विटामिन की कमी से होने वाले मानसिक विकारों के बारे में।

इसे भी पढ़ें : इस तरह से सांस लें तो आपके अंदर पैदा हो सकती है 'असीमित ऊर्जा', तिब्बती बौद्ध भिक्षुओं ने खोजी थी ये तकनीक

1. विटामिन सी की कमी से होने वाली मानसिक समस्याएं (Vitamin C Deficiency Effects on Mental Health)

शरीर में विटामिन सी की कमी से स्कर्वी जैसी समस्याएं होती हैं। लेकिन इसकी कमी मानसिक स्वास्थ्य पर भी बुरा असर छोड़ती है। चिंता, अवसाद और बाइपोलर डिसऑर्डर जैसी समस्याओं से ग्रसित व्यक्तियों के शरीर में विटामिन सी की कमी हो सकती है। विटामिन सी मानसिक विकारों में आने वाले परिवर्तन को रोकने में भी फायदेमंद होता है। जब हमारे शरीर में विटामिन सी की कमी होती है तो उस स्थिति में शरीर से एस्कॉर्बिक एसिड निकलता है। एस्कॉर्बिक एसिड को न्यूरोलॉजिकल डैमेज का प्रमुख कारण माना जाता है। इसकी वजह से कुछ लोगों में गंभीर मानसिक बीमारियां हो सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें : मुश्किल वक्त में मन को स्थिर रखने के ये 18 तरीके आएंगे आपके बहुत काम, गहरे दुख से उबरने में मिलेगी मदद

Vitamin-Deficiency-Effects-on-Mental-Health

(Image Source - Freepik.com)

2. विटामिन डी की कमी का मानसिक स्वास्थ्य पर असर (Vitamin D Deficiency and Mental Health)

फैट में घुलनशील यह विटामिन शरीर में मूड, नींद और न्यूरॉन्स की सुरक्षा और संश्लेषण को भी नियंत्रित करने का काम करता है। शरीर में विटामिन डी की कमी होने पर अवसाद, चिड़चिड़ापन, चिंता और अत्यधिक थकान जैसी समस्याएं होती हैं। आमतौर पर विटामिन डी की कमी को लोग हड्डियों से जोड़कर देखते हैं लेकिन इसकी कमी शरीर में गंभीर मानसिक अवसादों को जन्म देने का कारण होती है। मस्तिष्क के विकास के लिए भी शरीर में विटामिन डी की पर्याप्त मात्रा जरूरी होती है। विटामिन डी की वजह सेरोटोनिन और ऑक्सीटोसिन का संतुलन भी बना रहता है। सेरोटोनिन और ऑक्सीटोसिन का काम मूड को बेहतर बनाने का भी होता है।

इसे भी पढ़ें : सक्रियता और एकाग्रता (अटेंशन स्पैन) को बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 7 तरीके, एक्सपर्ट से जानें

3. विटामिन बी 12 का मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव (Vitamin B 12 Deficiency and Mental Health)

विटामिन बी 12 शरीर के लिए जरूरी विटामिन्स में से एक है। शरीर में विटामिन बी 12 का मुख्य काम लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में सहायता करना होता है। शरीर में विटामिन बी 12 की कमी से पर्निशियस एनीमिया की समस्या होती है। इसके अलावा विटामिन बी 12 की कमी से कई गंभीर मानसिक स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। विटामिन बी 12 की कमी व्यवहार, मूड और मानसिक स्थिति में बदलाव उत्पन्न करती है। विटामिन बी 12 की कमी से शरीर में सेरोटोनिन और डोपामाइन के उत्पादन में भी प्रभाव पड़ता है। विटामिन बी 12 की कमी से अवसाद, भ्रम और चिड़चिड़ापन जैसी मानसिक समस्याएं हो सकती हैं।

इसे भी पढ़ें : आपकी स्ट्रेंथ क्या है? इन 5 तरीकों से जानें इंटरव्यू और वाइवा में पूछे जाने वाले इस सवाल का सही जवाब

Vitamin-Deficiency-Effects-on-Mental-Health

(Image Source - Freepik.com)

4. विटामिन बी 1 (थियामिन) की कमी से मानसिक स्वास्थ्य पर असर (Vitamin B1 Deficiency Effects on Mental Health)

विटामिन बी 1 की कमी से भी व्यक्ति को मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। शरीर में विटामिन बी 1 (थियामिन) की कमी से मेमोरी लॉस, चिंता, डिप्रेशन और नींद से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। हमारा मस्तिष्क इस विटामिन का इस्तेमाल ग्लूकोज या ब्लड शुगर को एनर्जी में बदलने का काम करता है। इसकी कमी से शरीर में कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें : सदमा (शॉक) लगने का मतलब क्या है? जानें सदमे के बाद दिखने वाले 11 लक्षण, कारण और इमरजेंसी उपचार के तरीके

5. विटामिन बी 6 की कमी का मानसिक स्वास्थ्य पर असर (Vitamin B 6 Deficiency and Mental Health)

विटामिन बी 6 की कमी से कई गंभीर मानसिक स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। विटामिन बी 6 का उपयोग मस्तिष्क कई कामों में करता है। इसकी कमी से सेरोटोनिन, डोपामाइन और जीएबीए जैसे फील गुड हॉर्मोन के स्तर पर प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा विटामिन बी 6 शरीर में होमोसिस्टीन के स्तर को नियंत्रित रखता है जो मूड को बेहतर बनाने का काम करता है।

विटामिन की कमी से हो रही मानसिक समस्याओं से कैसे निपटें? (Prevention Tips)

शरीर में विटामिन्स की कमी से तमाम मानसिक बीमारियां हो सकती हैं। मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी बीमारियों के लक्षण दिखने पर तुरंत किसी एक्सपर्ट मनोचिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए। इस समस्या को नजरअंदाज करना भारी पड़ सकता है। नियमित रूप से विटामिन्स और मिनरल्स की प्रचुर मात्रा वाले खाद्य पदार्थों का सेवन इन समस्याओं में फायदेमंद होता है। आप इस समस्या में शरीर में मौजूद पोषक तत्वों की जांच भी करा सकते हैं। विटामिन की कमी को पूरा करने के लिए चिकित्सक कुछ दवाएं और डाइट की सलाह देते हैं। इसके साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए आपको शराब का सेवन और स्मोकिंग की लत से दूरी बना लेनी चाहिए।

(Main Image Credit - Freepik.com)

Read More Articles on Mind and Body in Hindi

Disclaimer