डायबिटीज मरीजाें के लिए उपयाेगी हैं इन 4 पौधाें की पत्तियां, ब्लड शुगर रहता है कंट्राेल

डायबिटीज मरीज नैचुरल तरीके से भी अपना ब्लड शुगर लेवल कंट्राेल कर सकते हैं। इसके लिए आपकाे कुछ खास पौधाें की पत्तियाें का सेवन करना हाेगा।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Sep 17, 2021
डायबिटीज मरीजाें के लिए उपयाेगी हैं इन 4 पौधाें की पत्तियां, ब्लड शुगर रहता है कंट्राेल

आजकल की खराब जीवनशैली कई सामान्य से लेकर गंभीर बीमारियाें का कारण बनता जा रहा है। इन्हीं में से एक है डायबिटीज। देश में कराेड़ाें लाेग डायबिटीज की बीमारी से जूझ रहे हैं। डायबिटीज किडनी, हृदय राेग जैसी कई गंभीर बीमारियाें का भी कारण बनता है। ऐसे में इसे समय रहते कंट्राेल में रखना बेहद जरूरी हाेता है। अगर आप प्राकृतिक तरीके से अपना हाई ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित या कंट्राेल में रखना चाहते हैं, ताे इसके लिए नीम एलाेवेरा, स्टीविया और इंसुलिन की पत्तियाें का सेवन कर सकते हैं।

आयुर्वेद में इन पौधाें की पत्तियाें का इस्तेमाल कई तरह के राेगाें काे दूर करने के लिए किया जाता है। ये सभी पौधे पाेषक तत्वाें से भरपूर हाेते हैं और तरह-तरह के राेगाें से लाेगाें काे दूर रखते हैं। अगर आप नियमित रूप से इनकी पत्तियाें का सेवन करते हैं, ताे इससे काफी हद तक आपका ब्लड शुगर लेवल कंट्राेल में रह सकता है। राम हंस चेरिटेबल हॉस्पिटल के डॉक्टर श्रेय शर्मा से जानें इन पौधाें के बारे में (Plants Helps to Control Blood Sugar Level)-

हाई ब्लड शुगर लेवल के कारण (Causes of High Blood Sugar Level)

डायबिटीज एक लाइफस्टाइल डिसीज के साथ ही एक आनुवांशिक बीमारी (Genetic Disease) भी है। यह कई कारणाें से व्यक्ति काे अपनी चपेट में ले सकता है।

  • जब शरीर में इंसुलिन हॉर्मान (Insulin Hormone) कम रिलीज हाेता है, ताे डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। इंसुलिन की कमी डायबिटीज का कारण बनता है। 
  • अगर किसी के माता-पिता काे डायबिटीज हाेता है, ताे बच्चाें में भी इसके हाेने की संभावना रहती है। इसलिए इसे आनुवांशिक बीमारी भी माना जाता है। 
  • माेटापा भी डायबिटीज का एक अहम कारण हाे सकता है। 
  • तनाव, चिंता और डिप्रेशन की वजह से भी एक व्यक्ति डायबिटीज राेग से घिर सकता है।
  • इतना ही नहीं अच्छी डाइट न लेने, शारीरिक सक्रियता की कमी के कारण भी डायबिटीज हाे सकता है।

डायबिटीज हाेने पर मरीज काे कई चीजाें से परहेज करने की सलाह दी जाती है। साथ ही कुछ ऐसे खाद्य पदार्थाें काे खाने की भी सलाह दी जाती है, जिनके सेवन से हाई ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित या कंट्राेल में रहता है। इतना ही नहीं अगर आप खुद काे एकदम प्राकृतिक तरीके से ठीक करना चाहते हैं, ताे कुछ पौधाें की पत्तियाें काे अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। इन पत्तियाें के सेवन से डायबिटीज काे काफी हद तक कंट्राेल किया जा सकता है। आप डॉक्टर की सलाह पर नीचे बताए गए पौधे की पत्तियाें का सेवन आसानी से कर सकते हैं। इनका सेवन चबाकर या फिर पानी में उबाकर किया जा सकता है।  

इसे भी पढ़ें - डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद 6 फूड्स जो लंबे समय तक नहीं होते खराब, आसानी से कर सकते हैं स्टोर

neem

(Image Source - fstorekw.com)

1. नीम की पत्तियां (Neem Leaves Control Blood Sugar Level)

नीम का पौधा कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं काे दूर करने में उपयाेगी हाेता है। इसमें मौजूद पाेषक तत्व या न्यूट्रीएंट्स त्वचा, बालाें की समस्याओं के साथ ही गंभीर बीमारियाें काे भी ठीक करता है। आयुर्वेद में नीम की पत्तियाें का काफी महत्व हाेता है। अगर आप डायबिटीज राेगी हैं, ताे नीम की पत्तियाें का सेवन कर सकते हैं। इससे आपकाे ब्लड शुगर लेवल कंट्राेल (Blood Sugar Level) में रहता है। नीम की पत्तियां स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हाेती हैं।

दरअसल, इसकी पत्तियाें में ग्लाइकाेसाइड्स (Glycosides) और एंटी वायरल तत्व (Anti Viral Element) मौजूद हाेते हैं। ऐसे में इसके सेवन से रक्त में ग्लूकाेज की मात्रा काे कम करने में मदद मिलती है।

aloe vera plant

(Image Source - saifeedecor.in)

2. एलाेवेरा का पौधा (Aloe Vera Plant Helps to  Control Blood Sugar Level)

डायबिटीज राेगियाें के लिए नीम की तरह ही एलाेवेरा का पौधा भी बेहद लाभदायक साबित हाे सकता है। आयुर्वेद में एलाेवेरा का इस्तेमाल कई तरह के राेगाें काे दूर करने के लिए किया जाता है। राेज सुबह खाली पेट एलाेवेरा का सेवन करने से कई तरह के राेग दूर हाेते हैं, इनमें से एक है डायबिटीज। जी हां, एलाेवेरा डायबिटीज जैसे राेग काे नियंत्रण में कर सकता है। आप डॉक्टर की सलाह पर एलाेवेरा का सेवन कर सकते हैं। 

एलाेवेरा में कई तरह के पाेषक तत्व पाए जाते हैं। ये पाेषक तत्व हाई ब्लड शुगर लेवल काे कंट्राेल में रखने में सहायता करते हैं (Aloe Vera Plant Control Blood Sugar Level)। साथ ही एलाेवेरा का जूस पीने से रक्त में ग्लूकाेज की मात्रा काे भी कंट्राेल किया जा सकता है।

(Image Source - amazon.in)

3. स्टीविया का पौधा (Stevia Plant Control High Bloos Sugar Level)

स्टीविया प्लांट या पौधे के बारे में आपने शायद ही सुना हाे, लेकिन आयुर्वेद में इस पौधे की पत्तियाें का इस्तेमाल कई तरह के राेगाें काे दूर करने के लिए किया जाता है। डायबिटीज राेगियाें के लिए स्टीविया प्लांट काे बेहद फायदेमंद माना जाता है। 

डायबिटीज राेगी इस पौधे की पत्तियाें काे सुखाकर और पाउडर बनाकर चाय में डाल सकते हैं। चाहें ताे शरबत में भी इसके पौधे का पाउडर इस्तेमाल किया जा सकता है। दरअसल, स्टीविया की पत्तियां स्वाद में मीठी हाेती हैं, ऐसे में आप इसका सेवन चीनी के रूप में कर सकते हैं। इससे आप काफी हद तक अपने ब्लड शुगर लेवल काे कंट्राेल में रख सकते हैं। साथ ही इसमें कैलाेरी नहीं हाेती है, जिससे आपका वजन भी कंट्राेल में रहेगा।

इसे भी पढ़ें - डायबिटीज मरीजों को बार-बार पेट दर्द होने के क्या कारण हो सकते हैं? डॉक्टर से जानें इससे बचाव के उपाय

4. इंसुलिन की पत्तियां (Insulin Plant Leaves Control Blood Sugar Level)

इंसुलिन का पौधा भी डायबिटीज राेगियाें के लिए फायदेमंद हाे सकता है। इसकी पत्तियाें का सेवन करने से हाई ब्लड शुगर लेवल कंट्राेल में रहता है। आयुर्वेद में इस पौधे की पत्तियाें का उपयाेग कई राेगाें काे दूर करने के लिए किया जाता है। आपकाे बता दें कि इंसुलिन की पत्तियाें का स्वाद खट्टा हाेता है, ऐसे में इसके सेवन से ब्लड शुगर लेवल काे नियंत्रित किया जा सकता है।

इनके पौधे की पत्तियाें के अलावा डायबिटीज राेगियाें काे अपनी जीवनशैली, खान-पान और व्यायाम पर खास ध्यान देने की जरूरत हाेती है। 

  • ब्लड शुगर लेवल काे कंट्राेल में रखने के लिए आपकाे व्यायाम जरूर करना चाहिए। व्यायाम आपकाे शारीरिक और मानसिक दाेनाें रूप से स्वस्थ रखने में मदद करता है।
  • अपनी डाइट से कैलाेरी युक्त खाद्य पदार्थ, शुगर लाेडेड फूड्स काे बिल्कुल भी शामिल न करें।
  • तनाव, चिंता से खुद काे दूर रखें।
  • अपनी डाइट में पेय या तरल पदार्थाें काे अधिक मात्रा में शामिल करें। दिनभर में 8-10 गिलास पानी जरूर पिएं। 
  • फाइबर से भरपूर फूड्स काे अपनी डाइट में शामिल करें। इसके लिए आप फलाें की मात्रा बढ़ा सकते हैं। 

अगर आप डायबिटीज राेगी हैं, ताे इन पौधाें की पत्तियाें का सेवन डॉक्टर की सलाह पर कर सकते हैं। वैसे ताे यह ब्लड शुगर लेवल काे कंट्राेल करने का एक प्राकृतिक तरीका है, लेकिन फिर भी सेवन से पहले एक्सपर्ट की राय जरूरी है।

(Main Image Source - mindfoundry.ai)

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer