आयुर्वेद के अनुसार सुबह के नाश्ते के समय ये 5 गलतियां करने से सेहत पर पड़ता है बुरा असर

भागदौड़ भरी जिंदगी में समय पर ऑफिस जाने की चाहत में कई गलतियां करते हैं। आइए आयुर्वेदाचार्या से बात कर उन गलतियों, उसे ठीक करने का उपाय जानते हैं।

Satish Singh
Written by: Satish SinghUpdated at: Sep 14, 2021 14:01 IST
आयुर्वेद के अनुसार सुबह के नाश्ते के समय ये 5 गलतियां करने से सेहत पर पड़ता है बुरा असर

दिनभर जोश और ऊर्जा के साथ काम करने के लिए सुबह का नाश्ता काफी जरूरी होता है। लेकिन जैसे-जैसे हम शहरों की ओर बढ़ चुके हैं हम पारंपरिक रूटीन को कहीं पीछे छोड़ते जा रहे हैं। समय पर ऑफिस जाने की होड़ में जल्दी-जल्दी नहाना, जल्दी-जल्दी नाश्ता कर जल्दी-जल्दी ऑफिस के लिए निकलना यह रूटीन न तो हमारे शरीर के लिए और न ही दिमाग के लिए लाभदायक है। जमशेदपुर के साकची में आयुर्वेदचार्या रत्नाकर पाठक से बात कर हम सुबह के नाश्ते में करने वाली गलतियों पर बात करेंगे। ताकि उनको दूर कर सही लाइफस्टाइल का पालन किया जा सके। आयुर्वेद के अनुसार दिनचर्या अपनाकर स्वस्थ्य रहा जा सके। 

गलत तरीके से नाश्ता करने से पूरा दिन होता है प्रभावित

एक्सपर्ट बताती हैं कि सुबह का नाश्ता शरीर को ऊर्जा देता है, जिससे दिनभर के काम को आसानी से कर पाते हैं। यदि आप गलत तरीके से नाश्ता करते हैं, जल्दबाजी में नाश्ता करते हैं तो इससे आपका पूरा दिन प्रभावित हो सकता है। आयुर्वेद में नाश्ता करने का सही तरीका बताया गया है, जिसे अपनाकर हम स्वस्थ्य रह सकते हैं। वहीं आमतौर पर इस भागदौड़ भरी जिंदगी में सुबह का नाश्ता करने से पहले और बाद में लोग इस प्रकार की गलतियां करते हैं जैसे;

Eating Breakfast

1. कम नाश्ता खाना है घातक

कई लोग जल्दीबाजी के चक्कर में औसत से कम नाश्ता खाते हैं। एक्सपर्ट बताती हैं कि ऐसा करने से सुबह के नाश्ते में उन्हें पोषक तत्व नहीं मिल पाता है। इससे उन्हें दिनभर में थकान रहती है। आयुर्वेद के अनुसार सुबह का नाश्ता भरपूर होना चाहिए। इसमें कार्बोहाइडेड, माइक्रो न्यूट्रिएंट्स और प्रोटीन से भरपूर होना चाहिए। आम तौर पर भारतीय नाश्ते की बात करें तो इडली-डोसा आदि में पर्याप्त मात्रा में कार्ब होता है व प्रोटीन की कमी होती है। यहां आपको इस बात का ध्यान देना होगा कि आप नाश्ते में प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ का भी सेवन करें। हमेशा बैलेंस ब्रेकफास्ट करना चाहिए। क्योंकि आप जितना पौष्टिक नाश्ता करेंगे आप दिनभर उसी ऊर्जा के साथ काम करेंगे। 

सुबह के नाश्ते में इन चीजों को करें शामिल

  • बीज
  • बादाम, काजू, अखरोट, नट्स
  • दही
  • दूध

2. नाश्ते को कभी न छोड़ें, तय समय पर ही करें सेवन

कई लोगों की आदत होती है कि वो नाश्ते का सेवन करते ही नहीं हैं। एक्सपर्ट बताती हैं कि कई लोगों को सुबह के वक्त भूख ही नहीं लगता है ऐसे में वो खाना खाते ही नहीं है। धीरे-धीरे कर लोगों में यह आदत बन जाती है। ऐसे में नाश्ता न करना आगे चलकर कई प्रकार की बीमारियों का कारण बनता है। इसकी वजह से ब्लड शुगर लेवल की समस्या हो सकती है। ब्लड शुगर लेवल में गिरावट की वजह से आपकी ऊर्जा और आपके मूड को प्रभावित करता है। समय पर नाश्ता करने वालों की तुलना में वैसे लोग जो समय पर नाश्ता नहीं करते हैं उनमें बीएमआई (बॉडी मास इंडेक्स) ज्यादा होता है। नाश्ता नहीं करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी आती है।

Cardiac Attack

सुबह का नाश्ता नहीं करने से होने वाली बीमारी

  • दिल संबंधी बीमारी (कार्डिएक प्रेशर)
  • मोटापा
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी आना
  • हाईपरटेंशन
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • टाइप 2 डायबिटीज

3. रात का खाना और सुबह के नाश्ते में हो 12 घंटों का अंतर

रात का खाना और सुबह के नाश्ते में कम से कम 12 घंटों का अंतर होना चाहिए। यह तभी संभव होगा जब आप समय से उठेंगे और समय से सोएंगे। इसके लिए आप चाहें तो हमारे आयुर्वेद के अनुसार कैसी को लाइफस्टाइल आर्टिकल को भी पढ़ सकते हैं और डेली रूटीन को समझ सकते हैं। एक्सपर्ट बताती हैं कि सुबह उठने के बाद योगासन व प्राणायाम करना चाहिए। इस दौरान आप चाहें तो जूस या फिर पानी का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ फलों जैसे केला, सेब और जूस में नींबू पानी का सेवन एक्सरसाइज के पूर्व कर सकते हैं। इससे शरीर को उर्जा हासिल होती है। केले का सेवन इसलिए करना चाहिए क्योंकि यह आसानी से पच जाता है और इससे कार्बोहाइडेड हासिल होता है। वहीं मसल्स क्रैंप जैसी दिक्कतों से राहत मिलती है। 

इसे भी पढ़ें : आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए इन आयुर्वेदिक तरीकों से करें गेंदे के फूल का इस्तेमाल

4. देर से नाश्ता करना है सेहत के लिए घातक

एक्सपर्ट बताती हैं कि कई लोगों की आदत रहती है, खासतौर पर घर की महिलाओं की, वे घर का पूरा काम करने के बाद नहाती हैं और पूजा करने के बाद ही जाकर नाश्ता करते हैं। जब औरों का दोपहर के भोजन करने का समय होता है तो ये महिलाएं नाश्ता करने जाती हैं। यह आदत सेहत के लिए काफी हानिकारक है। बकौल एक्सपर्ट सुबह का नाश्ता उठने के दो घंटे के भीतर कर लेना चाहिए। वहीं लोगों की कोशिश यही होनी चाहिए कि रोजाना सुबह नौ बजे के पहले नाश्ता कर लेना चाहिए। क्योंकि इस समय पर शरीर को भी भोजन-पानी की आवश्यकता होती है, क्योंकि रातभर कुछ न खाने की वजह से शरीर को ऊर्जा के लिए भोजन-पानी की जरूरत होती है। इसलिए सुबह का नाश्ता तय समय से कर लेना चाहिए। 

Tension

समय पर भोजन करने से तनाव में कमी

एक्सपर्ट बताती हैं कि समय पर यदि आप भोजन करेंगे तो आप खुद ब खुद यह महसूस करेंगे कि आप तनावमुक्त हो रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें : बढ़ती उम्र (एजिंग) के लक्षणों को कम करने के लिए अपनाएं ये 8 आयुर्वेदिक तरीके, बिना केमिकल पाएं खूबसूरत त्वचा

5. नाश्ता करने के तुरंत बाद नहीं नहाना चाहिए

>एक्सपर्ट बताती हैं कि लोगों की कोशिश यही होनी चाहिए कि नाश्ता करने के तुरंत बाद न नहाए। अमूमन लोग जल्दी-जल्दी ऑफिस जाने की चाहत में ऐसी गलती करते हैं। यदि आप नाश्ता करने के तुरंत बाद नहाते हैं तो ऐसे में डायजेस्टिव फायर पर काफी असर पड़ता है। इस बात का आयुर्वेद में भी जिक्र किया गया है, जिसमें इसे जठरगनी (Jathragni) के नाम से जाना जाता है। इसी डायजेस्टिव फायर में कमी आने के कारण शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है और पाचन शक्ति में शिथिलता आ जाती है। 

इन गलतियों को सुधार आप जी सकते हैं अच्छा जीवन

एक्सपर्ट के अनुसार इस जीवन शैली को अपनाकर आप अच्छा व बीमारी से मुक्त जीवन जी सकते हैं। वहीं दिनभर आप बिना किसी चिंता के काम कर सकते हैं। इसलिए आप सही समय पर नाश्ता करें, पर्याप्त मात्रा में नाश्ता करें, खाने पौष्टिक भोजन ग्रहण करें। ऐसा कर आप न केवल शारिरिक बल्कि मानसिक तौर पर भी ऊर्जावान महसूस करेंगे और दिनभर के काम को आसानी से कर पाएंगे।

Read More Articles On Ayurveda

Disclaimer