Doctor Verified

बच्चों में टीबी की बीमारी होने पर दिखते हैं ये 10 लक्षण, डॉक्टर से जानें टीबी से बचने के टिप्स

बच्चों में टीबी के लक्षण दिखते ही सबसे पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए, जानें बच्चों में टीबी के लक्षण और बचाव के उपाय।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 10, 2022Updated at: May 10, 2022
बच्चों में टीबी की बीमारी होने पर दिखते हैं ये 10 लक्षण, डॉक्टर से जानें टीबी से बचने के टिप्स

डब्ल्यूएचओ के एक आंकड़े के मुताबिक भारत में टीबी की बीमारी तेजी से फैल रही है। टीबी के बारे में एक आम अवधारणा लोगों में ये थी कि यह समस्या ज्यादातर लोगों में बुढ़ापे में ही होती है। लेकिन यह बीमारी बच्चों से लेकर बूढ़े लोगों में किसी भी उम्र में हो सकती है। टीबी (Tuberculosis) जैसी संक्रामक बीमारी के बारे में जानकारी की कमी की वजह से ज्यादातर लोग इसका गंभीर रूप से शिकार हो जाते हैं। बच्चों में टीबी का रोग सबसे ज्यादा आनुवांशिक कारणों से होता है। माता-पिता से यह समस्या बच्चों में हो सकती है। इसके अलावा कई अन्य कारणों की वजह से भी बच्चों में टीबी का रोग हो सकता है। बच्चों में टीबी की बीमारी होने पर कई लक्षण दिखाई देते हैं जिनके जरिए आप इसकी इसकी पहचान कर सकते हैं। शुरुआत में टीबी के लक्षण दिखने पर जांच और इलाज से बच्चों में यह समस्या आसानी से खत्म हो सकती है। आइये जानते हैं बच्चों में टीबी के लक्षण और बचाव के टिप्स के बारे में।

बच्चों में टीबी के लक्षण (TB Symptoms in Kids in Hindi)

टीबी की बीमारी किसी भी उम्र में हो सकती है। बच्चों में यह समस्या ज्यादातर मामलों में आनुवंशिक कारणों से होती है। चूंकि बच्चों के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बड़े लोगों की तुलना में कम होती है इसलिए भी बच्चों में इसका खतरा ज्यादा रहता है। यूपी के स्टेट टीबी अधिकारी डॉ एस के सिंह के मुताबिक बच्चों में टीबी की बीमारी का तुरंत पता नहीं चल पाता है। कई बार इसके लक्षण दिखने पर माता-पिता उसे सामान्य परेशानी समझकर नजरंदाज कर देते हैं। हालांकि ट्यूबरकुलोसिस एक ऐसी संक्रामक बीमारी है जिसमें अगर आपने सही समय पर कदम नहीं उठाये तो कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। सही समय पर इलाज न होने पर बच्चों की मौत भी हो जाती है। बच्चों में टीबी के लक्षण इस तरह से दिखाई देते हैं।

Tuberculosis-Symptoms-in-Children

इसे भी पढ़ें : बच्चों को टीबी होने पर कैसे करें उनकी देखभाल? WHO ने जारी किए टिप्स

1. तेज बुखार और खांसी।

2. वजन कम होना।

3. विकास रुक जाना।

4. रात में पसीना होना।

5. दो हफ्तों से ज्यादा समय से खांसी आना।

6. अत्यधिक कमजोर और थकान।

7. ठंड लगना।

8. कमर दर्द और सूजन।

9. पेट में दर्द, मतली और उल्टी।

10 पेशाब के दौरान जलन।

बच्चों को टीबी से बचाने के टिप्स (Tips To Prevent Children's From Tuberculosis in Hindi)

टीबी की बीमारी के बारे में सही जानकारी होने से आप बच्चे को इसका शिकार होने से बचा सकते हैं। चूंकि यह एक संक्रामक बीमारी है जिसमें आपको सही समय पर इलाज जरूर लेना चाहिए इसलिए इसके शुरूआती लक्षण दिखते ही आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। टीबी की बीमारी बहुत तेजी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकती है इसलिए आपको इसका भी ध्यान रखना चाहिए। बच्चों में टीबी की बीमारी माता-पिता से ज्यादातर फैलती है लेकिन इसके अलावा बच्चों में टीबी के कारण बहुत हो सकते हैं। बच्चे को टीबी के संक्रमण से बचाने के लिए आपको इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

  • बच्चों को टीबी से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में न आने दें।
  • घर में टीबी का मरीज होने पर बच्चे को उससे दूर रखें।
  • शिशुओं को टीबी से बचाने के लिए बीसीजी का टीका जरूर लगवाएं।
  • टीबी के लक्षण दिखने पर सबसे पहले डॉक्टर की सलाह लें।

इन बातों का ध्यान रखकर आप बच्चे को टीबी का शिकार होने से बचा सकते हैं। इसके अलावा अगर बच्चों में टीबी के लक्षण बहुत गंभीर रूप से दिख रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। इसके अलावा सही समय पर जांच, बीसीजी का टीका लगवाने से आप बच्चों को इस समस्या का शिकार होने से बचा सकते हैं।

(All Image Source - Freepik.com)

 
Disclaimer