बालों में प्रोटीन की मात्रा बढ़ने से हो सकती हैं ये 6 परेशानियां, जानें कंट्रोल करने के तरीके

बालों में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होने पर रूखापन, बालों का टूटना और झड़ना आदि शुरू हो जाता है, जानें इस समस्या के कारण, लक्षण और बचाव के बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jun 28, 2021Updated at: Jun 28, 2021
बालों में प्रोटीन की मात्रा बढ़ने से हो सकती हैं ये 6 परेशानियां, जानें कंट्रोल करने के तरीके

बालों को हेल्दी, मजबूत और घना बनाये रखने के लिए प्रोटीन (Protein) की पर्याप्त मात्रा बहुत जरूरी होती है। बालों में प्रोटीन की कमी से तमाम समस्याएं होने लगती हैं जैसे बालों का टूटना, रूखापन और नमी का न होना आदि। लेकिन क्या आपको पता है कि इसी प्रोटीन की मात्रा जब हमारे बालों में ज्यादा हो जाती है तो क्या होता है? बालों में प्रोटीन की अधिक मात्रा (Too Much Protein in Hair) होने पर भी कई समस्याओं से जूझना पड़ सकता है। आपको बता दें कि बालों में मुख्य प्रोटीन, केराटिन होता है जिसका काम बालों को स्वस्थ और मजबूत बनाये रखना होता है। जब हमारे बालों में इसकी मात्रा अधिक हो जाती है तो हमारे बाल रूखे और बेजान भी सकते हैं। आज कल हेल्दी बालों के लिए प्रोटीन ट्रीटमेंट चलन में है लेकिन आपको यह ही जानना जरूरी है कि इसी प्रोटीन की अधिकता होने पर भी आपके बाल खराब हो सकते हैं। तो, आइए जानते हैं कि बालों में प्रोटीन की मात्रा अधिक क्यों होती है? इसके लक्षण क्या हैं? और अगर बालों में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा हो जाए तो क्या करना फायदेमंद होता है।

बालों के लिए क्यों जरूरी है प्रोटीन? (Why Protein is Important for Hair?)

too-much-protein-in-hair

बालों के विकास और उन्हें स्वस्थ रखने के लिए प्रोटीन की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। इंसान के बालों का निर्माण केराटिन नमक प्रोटीन से ही होता है, बालों में लगभग 65 से 95 प्रतिशत तक केराटिन ही होता है। बालों के लिए प्रोटीन का काम उन्हें मजबूत, स्वस्थ और घना बनाये रखने का होता है। जैसे बालों में प्रोटीन की कमी से अनेक समस्याएं होती हैं ठीक उसी प्रकार अगर हमारे बालों में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा हो जाए तो इसकी वजह से भी बालों से जुड़ी तमाम दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बालों के लिए जरूरी प्रोटीन, विटामिन और आयरन आदि का उचित मात्रा में होना सबसे जरूरी होता है। इनका असंतुलन होते ही बाल रूखे और बेजान होने लगते हैं।  

इसे भी पढ़ें: सिल्‍की, शाइनी और मजबूत बालों के लिए नारियल पानी से घर पर बनाएं शैंपू, जानें तरीका

बालों में प्रोटीन की अधिकता (Too Much Protein in Hair)

too-much-protein-in-hair

बालों में प्रोटीन की मात्रा अधिक होने की स्थिति में बालों में प्रोटीन और नमी के स्तर में असंतुलन हो जाता है। यह स्थिति तभी उत्पन्न होती है जब बालों में प्रोटीन और नमी का स्तर संतुलन में नही रहता है। ज्यादातर लोग बालों की इस स्थिति के बारे में अनजान हैं इसलिए उन्हें अगर बालों से जुड़ी समस्या होती है तो प्रोटीन के बारे में ध्यान नहीं देते हैं। कुछ लोगों में प्रोटीन की अधिकता लगातार प्रोटीन युक्त हेयर केयर प्रोडक्ट्स के अधिक इस्तेमाल की वजह से हो सकती है। बालों में केराटिन (प्रोटीन) की मात्रा अधिक होने पर बाल टूटने लगते हैं और इनमें रूखापन भी आ जाता है। बालों के झड़ने की समस्या में भी प्रोटीन की अधिकता एक प्रमुख कारण हो सकती है। आज के दौर में प्रोटीन ट्रीटमेंट भी इसका कारण बनता है, अगर आप बालों को सुंदर और हेल्दी रखने के लिए प्रोटीन ट्रीटमेंट लेते है तो इस बात का ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि इसकी वजह से बालों में प्रोटीन की अधिकता न हो।

बालों में प्रोटीन की अधिक मात्रा होने के कारण (Causes of Protein Overload in Hair)

too-much-protein-in-hair

बालों में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा तब होती है जब आप प्रोटीन युक्त हेयर प्रोडक्ट्स का बहुत अधिक इस्तेमाल करते हैं। बालों के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले शैंपू, कंडीशनर, हेयर मास्क और सीरम आदि में केराटिन की मात्रा होती है और अगर आप इन चीजों का अधिक इस्तेमाल करते हैं तो इसकी वजह से आपके बालों में प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है। बालों में जब केराटिन अधिक हो जाता है तो ये पानी को बालों के शाफ्ट में जाने से रोकता है और इसकी वजह से ही बाल सूखे व भंगुर हो जाते हैं। और इनका झड़ना या टूटना अधिक होने लगता है। प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होने पर आपको इसका पता लगाकर इन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल कम कर देना चाहिए।

बालों में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होने के लक्षण (Too Much Protein in Hair Symptoms)

too-much-protein-in-hair

बालों में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होने पर बालों में नमी का संतुलन बिगड़ जाता है। अगर आपके बालों में प्रोटीन युक्त उत्पादों की इस्तेमाल करने की वजह से रूखापन, झड़ने की समस्या शुरू हो रही है तो इसका मतलब यह है कि आपके बालों में प्रोटीन (केराटिन) की मात्रा अधिक हो सकती है। आपके इस बात का पता लगाने के लिए सबसे पहले अपने बालों पर ध्यान देना होगा, अगर आपके बाल पहले की तुलना में अधिक झड़ने लगे हैं या उनमें नमी की मात्रा बिल्कुल खत्म हो रही है तो इसका मतलब यह हो सकता है कि आपके बालों में प्रोटीन की कमी है। ऐसे में आपको अपने हेयर केयर उत्पादों की जांच जरूर करनी चाहिए। अगर आपके शैंपू, कंडीशनर या हेयर सीरम में अमीनो एसिड या केराटिन की मात्रा ज्यादा है तो इसकी वजह से भी यह समस्या हो सकती है। अगर आपके बाल पहले की तुलना में ज्यादा रूखे और बेजान हो रहे हैं तो इस स्थिति में भी प्रोटीन की मात्रा अधिक होने की संभावना रहती है। बालों में प्रोटीन की अधिकता के प्रमुख संकेत इस प्रकार से हैं।

  • बालों में कंघी करने पर इनका पहले की तुलना में अधिक टूटना।
  • बालों में अधिक रूखापन
  • बालों का भंगुर होना।
  • बालों की चमक खत्म होना।
  • प्रोटीन अधिक होने पर बालों का बेजान होना।
  • बालों का भूसे जैसा और कड़ा होना।

बालों में प्रोटीन की मात्रा का पता लगाने के लिए आप सबसे पहले अपने बाल को पकड़कर हल्के से उखाड़ने की कोशिश करें। अगर आपका बाल आसानी से टूट जाता है तो इसका मतलब यह हो सकता है कि आपके बालों में प्रोटीन और नमी के स्तर में असंतुलन है। जिसे बालों में प्रोटीन की अधिकता भी कहा जा सकता है। इसके अलावा अगर आपके बाल आसानी से नहीं टूटते हैं तो इसमें प्रोटीन का स्तर संतुलित माना जाता है। 

बालों में प्रोटीन की मात्रा कम करने के उपाय (Ways to Fix Too Much Protein in Hair)

बालों में प्रोटीन की मात्रा की अधिकता का पता चलने के बाद आपको इसे ठीक जरूर करना चाहिए। अन्यथा प्रोटीन की अधिक मात्रा आपके बालों को कम और अनहेल्दी बना सकती है। बालों में प्रोटीन के स्तर में संतुलन बनाने के लिए आपको हेयर केयर प्रोडक्ट्स और रूटीन में बदलाव करना चाहिए। बालों में प्रोटीन की मात्रा को संतुलित करने में समय लग सकता है लेकिन अगर आप इन बातों का पालन करेंगे तो जरूर ही आपके बालों में प्रोटीन की मात्रा संतुलित हो सकती है।

1. बालों की नियमित सफाई और गर्म पानी में धोने से उनमें मौजूद अतिरिक्त तेल व गंदगी साफ़ हो जाती है। इसलिए प्रोटीन की अधिकता की समस्या से छुटकारा पाने के लिए सबसे पहले आपको अपने बालों की सफाई पर ध्यान देना चाहिए। बालों की सफाई के लिए आप किसी हर्बल शैंपू या क्लींजर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: झड़ते बालों को रोकने में कारगर है प्रोटीन ट्रीटमेंट, इन 3 तरीकों से घर पर बनाएं प्रोटीन हेयर मास्क

2. अगर पुरुषों के बालों में प्रोटीन की अधिकता की समस्या हो जाए तो उन्हें अपने बालों को ट्रिम कराना चाहिए। बालों को ट्रिम कराने से इस समस्या में फायदा मिलता है। इससे दोमुहें बाल और रूखेपन से भी छुटकारा मिल सकता है। महिलाऐं भी अपने बालों को ट्रिम करवा कर इस समस्या से निजात पा सकती हैं।

3. अगर आपके बालों में प्रोटीन की अधिक मात्रा हो जाए तो सबसे पहले आपको प्रोटीन युक्त हेयर केयर उत्पादों के प्रयोग से बचना चाहिए। अगर आप बालों में प्रोटीन की समस्या से जूझ रहे हैं तो ऐसे हेयर केयर उत्पादों का इस्तेमाल कुछ हफ्तों के लिए बंद कर दें जिनमें प्रोटीन की मात्रा ज्यादा पाई जाती है। जिन हेयर केयर प्रोडक्ट्स में सोया प्रोटीन, रेशम प्रोटीन, बायोटिन, केराटिन, हाइड्रोलाइज्ड कोलेजन और अमीनो एसिड की मात्रा अधिक हो उसका इस्तेमाल कुछ हफ्तों के लिए नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: डैमेज बालों को रिपेयर करने के लिए इस्तेमाल करें प्रोटीन से भरपूर ये 3 हेयर मास्क, जानें इनकी रेसिपी और फायदे

आप इन साधारण बातों का ध्यान रखकर इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। जिन लोगों के बालों में प्रोटीन की मात्रा अधिक हो जाती है उन्हें इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। इसके आलावा आप मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल कर इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। बालों के बेजान और रूखे होने की समस्या में डर्मेटोलॉजिस्ट चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

Read More Articles On Hair Care in Hindi

Disclaimer