रूखे, डैमेज और कमजोर बालों से पाना है छुटकारा तो 15 दिन में एक बार जरूर करें हेयर डिटॉक्स, ये हैं 3 तरीके

अगर आपके बाल डैंड्रफ और रूखेपन के कारण डैमेज हो गए हैं या कमजोर होकर झड़ने लगे हैं, तो महीने में 2 बार हेयर डिटॉक्स करें और इस समस्या से छुटकारा पाएं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Feb 22, 2021 10:58 IST
रूखे, डैमेज और कमजोर बालों से पाना है छुटकारा तो 15 दिन में एक बार जरूर करें हेयर डिटॉक्स, ये हैं 3 तरीके

जिस तरह रोजाना के खान-पान से आपके शरीर में कई तरह की गंदगियां (टॉक्सिन्स) जमा हो जाती हैं, स्वस्थ रहने के लिए जिन्हें डिटॉक्स करना बेहद जरूरी होता है। उसी तरह रोजाना की धूल-मिट्टी और प्रदूषण के कारण बालों में भी ढेर सारे टॉक्सिन्स जमा हो जाते हैं और आपको नियमित रूप से बालों को भी डिटॉक्स करना जरूरी होता है। बालों को रेगुलर डिटॉक्स करते रहने से आपके बाल मजबूत, घने और स्वस्थ रहते हैं। इसके अलावा बालों से जुड़ी कुछ सामान्य समस्याएं जैसे- बालों का झड़ना, डैंड्रफ, दोमुंहे बाल, रूखापन आदि भी हेयर डिटॉक्स से दूर हो जाती हैं। आइए आपको बताते हैं बालों को डिटॉक्स (Hair Detox) करने के 3 आसान तरीके।

hair-detox

कब करना चाहिए डिटॉक्स

आमतौर पर सामान्य व्यक्ति को महीने में कम से कम 2 बार (15-15 दिन के अंतर पर) बालों को डिटॉक्स करना चाहिए। मगर यदि आप बहुत अधिक प्रदूषण वाले इलाके में रहते हैं या आपका घर सड़क के आसपास है या आप बाइक से ट्रैवेल करते हैं और खुले में देर तक घूमते हैं, तो आपको 10-10 दिन के अंतर पर अपने बालों को डिटॉक्स करते रहना चाहिए। बालों को डिटॉक्स करने से स्कैल्प के रोमछिद्र खुल जाते हैं, जिससे तेल, शैंपू, कंडीशनर आदि के पोषक तत्व आपके बालों की जड़ों तक पहुंचते हैं और ऑक्सीजन की सप्लाई अच्छी रहती है। इससे बालों की ग्रोथ अच्छी होती है।

इसे भी पढ़ें: प्रदूषण से बढ़ रहे हैं कम उम्र में बाल झड़ने के मामले, आपके बाल भी झड़ रहे हैं तो ध्यान रखें ये 5 बातें

एलोवेरा जेल से करें हेयर डिटॉक्स

एलोवेरा जेल का प्रयोग त्वचा के साथ-साथ बालों के लिए भी बहुत अच्छा होता है। एलोवेरा जेल में विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन ई की मात्रा अच्छी होती है। इसके इस्तेमाल से आपका स्कैल्प हेल्दी रहता है। एलोवेरा में एंटीबैक्टीरियल गुण होने के कारण डैंड्रफ आदि की समस्या भी नहीं होती है। इस जेल के प्रयोग से स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है। इसका प्रयोग बहुत आसान है। मार्केट से एलोवेरा जेल की ट्यूब खरीद लें या एलोवेरा से एक ताजी पत्ती तोड़ें और इसका जेल निकाल लें। इस जेल को अपनी हथेलियों में लेकर अपने स्कैल्प पर अच्छी तरह मसाज करें। इसे 1 घंटे तक सिर पर लगा रहने दें, ताकि सभी पोषक तत्व स्कैल्प में समा जाएं। इसके बाद माइल्ड शैंपू से बालों को धो लें। आपके बाल अच्छी तरह साफ हो जाएंगे।

एप्पल साइडर विनेगर से हेयर डिटॉक्स

एप्पल साइडर विनेगर (सेब का सिरका) भी हेयर डिटॉक्स के लिए बहुत अच्छा होता है। एप्पल साइडर विनेगर भी बालों के पोर में छिपी गंदगी को बाहर निकालता है और बालों की अच्छी तरह सफाई करता है। मगर इसे प्रयोग करते समय इसे डाइल्यूट करने की जरूरत पड़ती है। इसके लिए 3 लीटर पानी में 10 मिलीग्राम एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं। अब बालों को अच्छी तरह माइल्ड शैंपू से धोने के बाद आखिरी में स्कैप्ल पर धीरे-धीरे डाइल्यूट किया हुआ एप्पल साइडर विनेगर डालें। इसे इस तरह डालें कि स्कैप्ल से होता हुआ विनेगर का घोल आपके बालों की लंबाई तक पूरा भिगो दे। 5 मिनट इंतजार करें और फिर सादे पानी से बालों को धो लें।

इसे भी पढ़ें: नींबू को इन 3 तरह के इस्तेमाल से चुटकियों में पाएं डैंड्रफ (रूसी) और रूखे बालों से छुटकारा

hair-wash

नींबू और खीरे से करें हेयर डिटॉक्स

नींबू में ब्लीचिंग के गुण होते हैं और ये बालों में डैंड्रफ की समस्या दूर करने के लिए बहुत फायदेमंद होता है। नींबू के प्रयोग से बालों की गंदगी दूर हो जाती है और बाल हेल्दी रहते हैं। इसी तरह खीरे में भी ढेर सारे मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो बालों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसके प्रयोग के लिए 2 चम्मच खीरे का रस लें और2 चम्मच नींबू का रस लें। अब इन्हें आपस में अच्छी तरह मिलाकर स्कैप्ल पर लगा लें। 30-40 मिनट तक लगाए रखने के बाद बालों को अच्छी तरह माइल्ड शैंपू से धो लें। अगर आपको डैंड्रफ की समस्या है, तो आप इसे सप्ताह में 2 बार प्रयोग करके डैंड्रफ से छुटकारा पा सकते हैं।

Read more articles on Hair care in Hindi

Disclaimer