इन 4 फलों को रेगुलर खाने से कैंसर का होगा खात्‍मा!

जम्मू स्थित शेर-ए-कश्‍मीर कृषि, विज्ञान और तकनीक विश्वविद्यालय में किए गए एक शोध में यह तथ्‍य सामने आया है। विवि के बायो-केमिस्‍ट्री डिवीजन के फैकल्‍टी ऑफ बेसिक साइंस और इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंटीग्रेटिव द्वारा ये शोध किया गया

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Aug 09, 2018Updated at: Aug 09, 2018
इन 4 फलों को रेगुलर खाने से कैंसर का होगा खात्‍मा!

बेल, जामुन, करोंदा और फाल्‍सा ये चार फल ऐसे हैं, जिनमें कैंसर को खत्‍म करने की भरपूर शक्ति है। इनमें ऐसे तत्‍व मौजूद होते हैं, जो कैंसर को खत्‍म कर सकते हैं। जम्मू स्थित शेर-ए-कश्‍मीर कृषि, विज्ञान और तकनीक विश्वविद्यालय में किए गए एक शोध में यह तथ्‍य सामने आया है। विवि के बायो-केमिस्‍ट्री डिवीजन के फैकल्‍टी ऑफ बेसिक साइंस और इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंटीग्रेटिव द्वारा ये शोध किया गया। अब इन फलों में मौजूद तत्‍वों से कैंसर रोधी दवा विकसित करने पर काम किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: गले में कैंसर का संकेत हैं शरीर में दिखने वाले ये 12 लक्षण

नियमित सेवन से कैंसर होगा खत्‍म

विवि के असिस्‍टेंट प्रोफेसर डॉक्‍टर विकास शर्मा ने बताया कि, शोध में इन चार फलों के औषधीय गुणों की पहचान की गई है। बेल, जामुन, करौंदा और फाल्‍सा, ये सभी छोटे फल हैं, लेकिन बहुत उपयोगी हैं। जम्‍मू व सांबा जिला के कंडी क्षेत्रों में ये बहुतायत में पाए जाते हैं। डॉक्‍टर शर्मा ने कहा कि अगर किसी को कैंसर है तो उसे इन फलों का नियमित सेवन जरूर करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: रात को सोते वक्त खाएं भुना हुआ लहसुन, दूर भागेगा कैंसर

कैंसर की संभावना नहीं रहती   

डॉक्‍टर शर्मा का कहना है कि स्‍थानीय लोगों को भी इन फलों के औषधीय गुणों के बारे में अधिक जानकारी नहीं है। इन फलों के सेवन से फेफड़े आदि का कैंसर समाप्‍त ही नहीं हो जाता बल्कि नियमित सेवन से कैंसर होने की संभावना भी खत्‍म हो जाती है। उन्‍होंने बताया कि करेला व आंवला में भी इस तरह के औषधीय गुण पाए जाते हैं।

61 रिसर्च पेपर

इन सभी फलों के औषधीय गुणों के बारे में डॉक्‍टर शर्मा अब तक 61 रिसर्च पेपर प्रस्‍तुत कर चुके हैं। उनका कहना है कि शोध से यह बातें सामने आ रही हैं कि प्राकृतिक फलों व सब्जियों का इस्‍तेमाल रोगों को पनपने नहीं देता और कुछ फल-सब्जियां तो इन्‍हें जड़ से खत्‍म करने में भी कारगर हैं। उनका कहना है कि हम ऐसे फलों से दवाइयां बनाने का काम कर रहे हैं इसके लिए एडवांस स्‍तर पर शोध जारी है।

Satnam Singh

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Caner In Hindi

Disclaimer