गले के कैंसर के लक्षणों को नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी, इन 10 संकेतों से पहचानें

गले का कैंसर काफी तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रहा है, इसके लिए जरूरी है कि हम इस कैंसर के लक्षणों को जल्द से जल्द पहचान कर इसका इलाज कराएं।

Vishal Singh
कैंसरWritten by: Vishal SinghPublished at: Aug 09, 2018Updated at: Feb 05, 2020
गले के कैंसर के लक्षणों को नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी, इन 10 संकेतों से पहचानें

कैंसर के मामलों में देखा जाए तो ज्यादातर मामलों में मुंह और गले का कैंसर सबसे ज्यादा महिलाओं के मुकाबले पुरुषों को ज्यादा होता है। ये कैंसर दिल्ली जैसे बड़े शहरों में भी तेजी से अपने पैर पसार रहा है। गले का कैंसर उन लोगों में ज्यादा दिखाई देता है जो लोग तंबाकू और सिगरेट का सेवन काफी ज्यादा मात्रा में करते हैं। 

पिछले कुछ सालों से माउथ कैंसर के मामले भी बहुत बढ़ गए हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, 20 से 25 साल के युवा भी गले के कैंसर का शिकार हो रहे हैं। हालांकि, इस मामले में सबसे ज्यादा 40 से 50 साल के लोग शिकार होते हैं। हम सब जानते हैं कैंसर कितना खतरनाक हो सकता है। कैंसर की वजह से हमारी जान भी जा सकती है। 

cancer

कैंसर से लड़ने के लिए हम पूरी तरह तो तैयार नहीं हैं लेकिन अगर हम कैंसर के लक्षणों पर नजर रखें तो हम इस बीमारी को जल्द पकड़ कर अपने से दूर कर सकते हैं। आपको इस बात पर ध्यान देने की जरूरत है कि आखिरकार मुंह का कैंसर किस तरह फैलता है और इसके लक्षण क्या होते हैं। 

गले का कैंसर क्या है? 

गले के कैंसर मुंह से शुरू होता है और बाद में गले के पिछले हिस्से तक जा पहुंचता है। जिसकी वजह से आपकी जीभ और टांसिल्‍स के हिस्से शामिल होते हैं। ये हमारे श्‍वांसनली में भी फैल जाते हैं। थ्रोट कैंसर हमारे वॉयस बॉक्स, वोकल कॉर्ड और मुंह के अन्य हिस्सों जैसे टॉन्सिल्स में भी हो सकता है। 

cancer

इसे भी पढ़ें: स्तन कैंसर से खुद को बचाना है तो सही समय पर पहचानें लक्षण, जानें इसकी जांच और इलाज के बारे में

गले के कैंसर के लक्षण 

  • कई दिनों तक आवाज बदल रही हो या भारी हो रही हो। 
  • मूसड़ों में सूजन या दांतों में दर्द महसूस हो रहा हो। 
  • गले में गांठें महसूस हो रही हो। 
  • मुंह में लगातार दर्द रहे और खून निकले। 
  • गले में जकडऩ, सांस लेने में तकलीफ।
  • खाना निगलने में परेशानी होना।
  • सांस से दुर्गंध महसूस होना। 
  • बार-बार कफ आना। 
  • लगातार वजन घटना। 

गले के कैंसर का कारण 

वैसे तो थ्रोट कैंसर धूम्रपान या तंबाकू का सेवन करने वाले लोगों को होता है। लेकिन आप ये ना सोचें कि अगर आप धूम्रपान या तंबाकू का सेवन नहीं करते तो आप इससे दूर रह सकते हैं। आपको बता दें कि थ्रोट कैंसर उन लोगों को भी अपना शिकार बनाता है जो लोग धूम्रपान और तंबाकू का सेवन करने वाले लोगों के बहुत ही ज्यादा संपर्क में होते हैं। तंबाकू का सेवन करने से ये हमारे श्वासनली पर काफी ज्यादा बुरा असर डालता है। जिसकी वजह से थ्रोट कैंसर का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है। 

cancer

इसके साथ ही अगर कोई शख्स शराब का सेवन करने के साथ धूम्रपान भी करता है तो उसे भी मुंह का कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। आपको बता दें कि अल्कोहल और निकोटिन का एक साथ सेवन करना भी काफी नुकसानदायक होता है। इसके अलावा बढ़ते प्रदूषण या केमिकल डस्ट के कारण भी थ्रोट कैंसर का खतरा हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें:  पुरुषों में कैंसर की शुरुआत का संकेत हैं ये 10 लक्षण, रहें सावधान

आपको थ्रोट कैंसर के खतरे से बचने के लिए कई चीजों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। दांतों की उचित देखभाल न करने या दांतों में होने वाली समस्या को नजरअंदाज करने से भी भविष्य में यह समस्या हो सकती है। इसके अलाव अगर आपको विटमिन-ए की कमी भी है तो ये भी एक कारण बन सकता है। 

Read More Articles On Cancer In Hindi

Disclaimer