Doctor Verified

डेंगू या वायरल बुखार में ये एक गलती तेजी से घटा सकती है प्लेटलेट काउंट, डॉक्टर से जानें वजह

Can Antibiotics Lower Platelet Count: बिना डॉक्टर की सलाह के खुद से एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करने से प्लेटलेट काउंट हो सकता है कम, जानें चेतावनी।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Oct 28, 2022 12:52 IST
डेंगू या वायरल बुखार में ये एक गलती तेजी से घटा सकती है प्लेटलेट काउंट, डॉक्टर से जानें वजह

Can Antibiotics Lower Platelet Count: मौसम में बदलाव और अक्टूबर माह तक हुई बारिश के कारण डेंगू, वायरल बुखार और इन्फेक्शन के मामले तेजी से बढ़े हैं। डेंगू, बुखार या गले में खराश आदि होने पर ज्यादातर लोग पहले खुद से ही कुछ दिनों तक दवाओं का सेवन करते हैं, इसके बाद भी फायदा नहीं होने पर डॉक्टर की सलाह लेते हैं। बुखार होने पर खुद से मेडिकल स्टोर पहुंचकर एंटीबायोटिक दवाएं खरीदकर उनका सेवन करने वाले लोग सावधान हो जाएं। इसकी वजह से उनकी सेहत पर गंभीर नुकसान पड़ सकता है। डेंगू और वायरल बुखार की समस्या में बिना डॉक्टर की सलाह के एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन बहुत नुकसानदायक और जानलेवा है। इसकी वजह से आपके शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या कम हो सकती है और गंभीर परेशानियां हो सकती हैं। प्रयागराज में इस तरह के कई मामलों के सामने आने पर जिला प्रशासन ने दवाओं के दूकान पर नोटिस चस्पा कर दिए हैं और बिना डॉक्टर के पर्चे के एंटीबायोटिक दवाओं की बिक्री पर भी रोक लगा दी गयी है।

क्या एंटीबायोटिक दवाओं की वजह से प्लेटलेट घट सकता है?- Can Antibiotic Cause Low Platelet Count?

ज्यादातर लोग बुखार या वायरल इन्फेक्शन होने पर खुद से ही ओवर-द-काउंटर दवाओं का सेवन करने लगते हैं। ऐसा करना कई बार जानलेवा हो जाता है। वायरल बुखार और डेंगू की समस्या में बिना डॉक्टर की सलाह के एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करने से प्लेटलेट काउंट में कमी के कई मामले सामने आए है। बाबू ईश्वर शरण हॉस्पिटल के सीनियर फिजिशियन डॉ समीर कहते हैं, बिना डॉक्टर की सलाह लिए किसी भी तरह की दवा का सेवन करने सेहत के साथ खिलवाड़ करने जैसा है। बुखार या डेंगू की समस्या में बिना डॉक्टर की सलाह के एंटी-बायोटिक दवाओं का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। डॉक्टर मरीज की स्थिति और उसकी जांच रिपोर्ट के आधार पर दवाएं देता है जिसमें एंटीबायोटिक के अलावा कई दूसरे फॉर्मूले भी होते हैं। जब मरीज खुद से एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करने लग जाते हैं तो इससे उनकी प्लेटलेट तो कम होती है, इसके अलावा कई दूसरे नुकसान का भी खतरा बना रहता है।

Can Antibiotics Lower Platelet Count

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए बहुत हानिकारक है एंटीबायोटिक दवा, हर साल इतने लोगों की होती है मौत

इसके अलावा प्रयागराज में बेली अस्पताल के फिजीशियन डाक्टर मंसूर अहमद कहते हैं कि जब डॉक्टर आपको वायरल बुखार या डेंगू की समस्या में एंटीबायोटिक के सेवन की सलाह देते हैं तो उसके साथ प्लेटलेट्स को कंट्रोल में करने की भी दवाएं दी जाती है। लेकिन जब मरीज खुद से एंटीबायोटिक का सेवन करने लगते हैं तो उसके साथ अन्य दवाएं नहीं होती हैं। इसकी वजह से मरीज का प्लेटलेट काउंट तेजी से कम होने लगता है। ज्यादातर लोग हल्का बुखार होने पर भी मेडिकल स्टोर जाकर एंटीबायोटिक मांग लेते हैं। मेडिकल स्टोर पर भी मरीजों से यह नहीं पूछा जाता है कि आप इसका सेवन किस समस्या के लिए करेंगे। एक्सपर्ट्स कहते हैं कि एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन वायरल बुखार, सर्दी-खांसी और सामान्य इन्फेक्शन की समस्या में खुद से करना बहुत गंभीर हो सकता है।

कम हो रहा लोगों का एंटीबायोटिक रेसिस्टेन्स

डॉक्टर कहते हैं कि खुद से एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करने वाले लोगों में एंटीबायोटिक रेसिस्टेन्स भी कम हो रहा है। इसकी वजह से ऐसे लोगों में दोबारा एंटी-बायोटिक का सामान्य डोज सही ढंग से काम भी नहीं करता है। खुद से ओवर द काउंटर दवाओं का सेवन करने वाले लोगों में यह समस्या ज्यादातर देखी जाती है। ऐसे लोगों का एंट-बायोटिक या दूसरी दवाओं का डोज भी बढ़ जाता है और इनके शरीर पर दवाओं का असर भी कम हो जाता है। 

इसे भी पढ़ें: एंटीबायोटिक लेते वक्‍त इन 7 बातों का रखें ख्‍याल

एंटी-बायोटिक दवाएं दरअसल एंटी-बैक्टीरियल दवाएं हैं जो शरीर में संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने का काम करती हैं। लेकिन जब आप सही ढंग से इनका सेवन नहीं करते हैं, तो आपको कई गंभीर परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ड्रग्स टेक्नीकल एडवाइजरी बोर्ड ने भी एंटीबायोटिक दवाओं को लेकर तमाम सुझाव दिए हैं। वायरल बुखार या डेंगू की समस्या में खुद से एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन बहुत गंभीर होता है और इसकी वजह से मरीज की जान भी जा सकती है। इसलिए हमेशा डॉक्टर की सलाह के बाद ही इन दवाओं का सेवन करें।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer