मुंह के छालों का कारण है शरीर में गर्मी और पित्त बढ़ना, जानें आयुर्वेद के अनुसार 3 आसान उपचार

मुंह के छालों और पेट की गर्मी से चुटकियों में राहत पाने के लिए 3 आसान घरेलू उपाय बता रहे हैं आयुर्वेदाचार्य डॉ. संतोष देशमुख, 1 दिन में छाला होगा ठीक।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: May 01, 2020 07:30 IST
मुंह के छालों का कारण है शरीर में गर्मी और पित्त बढ़ना, जानें आयुर्वेद के अनुसार 3 आसान उपचार

मुंह के छाले एक आम स्वास्थ्य समस्या है, जो साल में 1-2 बार सभी को होती है। कुछ मुंह के छाले 3-4 दिन तक रहते हैं तो कुछ 15-20 दिन तक रहते हैं। मुंह में छाले होने पर खाना-पीना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में अगर ये छाले लंबे समय तक रहें तो खानपान की गड़बड़ी से शरीर की कमजोरी भी समस्या बनने लगती है। आमतौर पर मुंह में छालों का मुख्य कारण पेट की गड़बड़ी को माना जाता है। आयुर्वेद के अनुसार भी पेट में ऊष्मा बढ़ने पर या शरीर में पित्त दोष के बढ़ने पर मुंह में छाले आते हैं।

इन छालों को ठीक करने के लिए भी आयुर्वेद में कई हर्ब्स यानी जड़ी-बूटियां बताई गई हैं, जिनका इस्तेमाल करके आप इन छालों से कुछ दिनों में ही राहत पा सकते हैं। इसके अलावा ये आयुर्वेदिक नुस्खे आपके छालों की जलन को कम करते हैं, जिससे आप कम से कम तरल और गीली चीजें खाने-पीने में सक्षम हो जाते हैं। आइए आपको बताते हैं मुंह के छालों के आसान आयुर्वेदिक उपचार।

लंबे समय तक छाले से हो सकता है कैंसर

आयुर्वेदाचार्य डॉ. संतोष देशमुख बताते हैं कि अगर किसी व्यक्ति को लंबे समय तक मुंह के छालों की समस्या परेशान करती है, तो ये कैंसर बन सकते हैं। जैसे- किसी व्यक्ति को मुंह में छाले होते हैं और ठीक भी हो जाते हैं लेकिन 10-15 दिनों में फिर हो जाते हैं, तो इसका अर्थ है कि उसके शरीर में कोई गड़बड़ी है। ऐसे ही अगर किसी व्यक्ति को मुंह में छाले हो जाएं और वो कई महीनों तक ठीक न हों, तो ये भी असामान्य स्थिति है। डॉ. संतोष के मुताबिक ऐसी स्थिति में बिना देरी किए डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, ताकि छालों के कैंसर बनने से पहले ही इसका इलाज किया जा सके।

इसे भी पढ़ें: हजारों साल के आयुर्वेदिक ज्ञान से मिले इन 5 नियमों को अपनाकर आप भी रहें स्वस्थ, जानें दोषों के लक्षण और उपचार

तुलसी की चाय से करें गरारा

मुंह के छालों में राहत दिलाने के लिए तुलसी बड़े काम आ सकती है। तुलसी की पत्तियों में एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं। इसलिए इसके सेवन से बैक्टीरिया और वायरस का खात्मा होता है। मुंह में छाले होने पर 2 ग्लास पानी में 10-12 तुलसी की पत्तियों को उबालें और फिर इसे ठंडा होने के लिए रख दें। जब ये पानी गुनगुना रह जाए, तो इसमें 2 चुटकी नमक मिलाएं और फिर इसे छानकर इस पानी से गरारा करें। मुंह में पानी भरें और 1-2 मिनट तक मुंह में ही रहने दें। इसके बाद पानी को थूककर दोबारा एक सिप लें और फिर इसी तरह कुल्ला करें। इस तरह गरारा करने से आपको दर्द और जलन से तुरंत आराम मिलेगा। दिन में 2 बार करने से 2 दिन में ही आपके छाले ठीक हो जाएंगे।

काला मुनक्का करेगा छाले को दूर, रखेगा पेट स्वस्थ

डॉ. संतोष के अनुसार मुंह के छालों का कारण पेट की गर्मी और पित्त बढ़ना है। इसलिए इसे ठीक करने में काला मुनक्का आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होगा। काले मुनक्का को भिगोकर आप इसे रात में सोते समय चबाकर खाएं, तो आपके पेट की गर्मी निकल जाएगी और पित्त दोष भी दूर होगा। इससे कुछ दिनों में ही आपके मुंह के छाले पूरी तरह ठीक हो जाएंगे और आप स्वस्थ हो जाएंगे। रोजाना रात में भीगे मुनक्का का सेवन करने से आपकी पाचन क्षमता बढ़ती है और पेट स्वस्थ रहता है।

इसे भी पढ़ें: घर पर बनाएं इम्यूनिटी बढ़ाने वाला आयुर्वेदिक च्यवनप्राश, जानें 30 मिनट में बनाने की आसान रेसिपी और फायदे

नीला थोथा का करें प्रयोग

नीला थोथा एक आयुर्वेदिक औषधि है, जो किराने की दुकानों या ऑनलाइन आपको आसानी से मिल जाएगा। मुंह के छालो में नीला थोथा भी बड़ा फायदेमंद और त्वरित राहत वाला उपचार माना जाता है। इसके प्रयोग के लिए थोड़ा सा नीला थोथा लें और इसे तवे पर हल्की आंच में कुछ मिनट भून लें। भूनने से उसका रंग बदल जाएगा। अब इस नीला थोथा की एक चुटकी लें और इसे छाले वाली जगह पर लगा लें। इससे आपको छाले की जलन में तुरंत आराम मिलेगा और छाला 1 दिन में ही ठीक हो जाएगा।

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer