घर पर बनाएं इम्यूनिटी बढ़ाने वाला आयुर्वेदिक च्यवनप्राश, जानें 30 मिनट में बनाने की आसान रेसिपी और फायदे

आयुष मंत्रालय के अनुसार इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आपको रोजाना सुबह 1 चम्मच च्यवनप्राश खाना चाहिए। जानिए घर पर ही 30 मिनट में च्यवनप्राश बनाने की रेसिपी।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Apr 20, 2020Updated at: Apr 20, 2020
घर पर बनाएं इम्यूनिटी बढ़ाने वाला आयुर्वेदिक च्यवनप्राश, जानें 30 मिनट में बनाने की आसान रेसिपी और फायदे

च्यवनप्राश खाने से इम्यूनिटी यानी रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है। भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने भी अपनी गाइडलाइन में ये निर्देश दिए हैं कि इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए रोजाना सुबह 10 ग्राम यानी 1 चम्मच च्यवनप्राश खाना चाहिए। डायबिटीज के मरीजों को शुगर-फ्री च्यवनप्राश खाने की हिदायत दी गई है। च्यवनप्राश दरअसल कई तरह के आयुर्वेदिक औषधियों और हर्ब्स से बनाया गया एक स्वादिष्ट पेस्ट होता है। तो क्या जरूरी है कि आप बाजार से ही च्यवनप्राश खरीदें? जी नहीं, ऐसा बिल्कुल भी जरूरी नहीं है। दरअसल च्यवनप्राश को घर पर ही बनाना इतना आसान है कि आप इसे 30 मिनट में बना सकते हैं। घर पर अपने हाथ से बनाया हुआ च्यवनप्राश ज्यादा हेल्दी और पौष्टिक होता है क्योंकि एक तो ये बिल्कुल ताजा होता है और दूसरा कि इसमें आप खुद ही अच्छी क्वालिटी के मसाले और इंग्रीडिएंट्स चुनकर डालते हैं। आइए आपको बताते हैं घर पर च्यवनप्राश बनाने की आसान रेसिपी।

च्यवनप्राश बनाने के लिए आवश्यक सामग्री (Chyawanprash Ingredients)

  • आंवला- आधा किलो
  • किशमिश- एक मुट्ठी
  • खजूर (बिना बीज वाला)- 10 पीस (अगर उपलब्ध हो)
  • देसी घी- 100 ग्राम
  • गुड़- 400 ग्राम
  • तेजपत्ता- 2 पत्तियां
  • दालचीनी- 1 छोटा टुकड़ा
  • सूखी अदरक (सौंठ)- 10 ग्राम
  • जायफल- 5 ग्राम
  • हरी इलायची (छोटी)- 7-8 पीस
  • लौंग- 5 ग्राम
  • काली मिर्च- 5 ग्राम
  • केसर- एक चुटकी
  • जीरा- 1 चम्मच
  • पिप्पली- 10 ग्राम (अगर आसानी से मिल जाए)
  • चक्रफूल- 1 पीस

घर पर च्यवनप्राश बनाने की आसान रेसिपी (Chyawanprash Recipe)

  • सबसे पहले सभी सूखे मसालों (तेजपत्ता, दालचीनी, सौंठ, जायफल, हरी इलायची, लौंग, कालीमिर्य जीरा, पिप्पली, चक्रफूल आदि) को पीसकर इसका पाउडर बना लें।
  • अब आंवलों को धोकर अच्छी तरह साफ कर लीजिए और इन्हें कुकर (2 सीटी) या पैन में उबाल लीजिए।
  • अब आंवला को उबले हुए पानी से निकालकर अलग रख लीजिए और इसी बचे हुए गर्म पानी में किशमिश और खजूर को डाल दीजिए और 10 मिनट के लिए ढक दीजिए ताकि ये मुलायम हो जाएं।
  • अब जब आंवले ठंडे हो जाएं, तो इन्हें काटकर इसके बीज निकालकर लीजिए।
  • अब ब्लेंडर या मिक्सर जार में आंवला, किशमिश और खजूर को डालिए और थोड़ा सा वही पानी डाल दीजिए, जिसमें आपने खजूर और किशमिश को भिगोया था।
  • इन्हें पीसकर अच्छा स्मूद सा पेस्ट बना लीजिए। (ध्यान दें ज्यादा पानी न मिलाएं)
  • अब एक पैन में देसी घी को डालें और मीडियम आंच पर इसे 10 मिनट तक पकाएं।
  • इसके बाद इसी घी में गुड़ डाल दीजिए और गुड़ को पिघलाकर चाशनी जैसा बनने तक पकाएं। (लगभग 5-6 मिनट)
  • इस गुड़ में आंवला और खजूर का पेस्ट डालें और चलाएं।
  • धीमी आंच पर इस पेस्ट को चलाते रहें और पकाते रहें।
  • 3-4 मिनट बाद तैयार किए गए मसालों का पाउडर डालें और अच्छी तरह धीमी आंच पर ही चलाते हुए मिलाएं।
  • जब पकते-पकते ये पेस्ट इतना गाढ़ा हो जाए कि चम्मच से चिपकने लगे और पैन या कड़ाही की सतह छोड़ने लगे, तो आप गैस बंद कर दें।
  • इसे ठंडा होने दें और आपका च्यवनप्राश बनकर तैयार है।
  • अगर सभी सामग्रियां उपलब्ध हैं, तो आपको इसे बनाने में 30 मिनट से ज्यादा नहीं लगेंगे।
  • इसे किसी एयर टाइट जार में भरकर रख दीजिए और रोजाना सेवन कीजिए।

कैसे करना है सेवन? (Chyawanprash Doses)

च्यवनप्राश को आप रोजाना सुबह 1 चम्मच 1ग्लास दूध के साथ या सादा ही ले सकते हैं।

क्यों फायदेमंद है च्यवनप्राश? (Ayurvedic Chyawanprash Benefits)

इस च्यवनप्राश में आंवला, किशमिश और खजूर हैं, जो विटामिन सी और नैचुरल शुगर का बहुत अच्छा स्रोत माने जाते हैं। विटामिन सी आपके शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाता है और मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाता है। इसके अलावा इसमें मौजूद आयुर्वेदिक मसाले और हर्ब्स आपके शरीर को तमाम तरह के रोगों से बचाते हैं। इस च्यवनप्राश को बच्चों से लेकर बूढ़ों तक हर उम्र के लोग खा सकते हैं। ये सेहत के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा।

Read More Articles on Ayurveda in Hindi


Disclaimer