Weight-Loss: वजन घटाने के लिए फायदेमंद है खान पान में डेयरी प्रोडक्ट्स को कम करना, शोध में हुआ खुलासा

शोध बताते हैं कि डेयरी प्रोडक्ट्स के सेवन को कम करने से प्रीमेन्स्ट्रुअल सिंड्रोम के लक्षणों को भी कम किया जा सकता है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Jun 01, 2020Updated at: Jun 01, 2020
Weight-Loss: वजन घटाने के लिए फायदेमंद है खान पान में डेयरी प्रोडक्ट्स को कम करना, शोध में हुआ खुलासा

वजन घटाना किसी के लिए कभी भी आसान नहीं रहा है और लोग इसके लिए बहुत कुछ करते हैं। तमाम एक्सरसाइज, वेट-लॉस ट्रेनिंग से लेकर कई प्रकारों के डाइट फॉलो करना, ये सभी वेट-लॉस करने के जाने माने तरीके हैं। पर हाल में आया एक शोध बताता है कि अपने रोज के डाइट से डेयरी प्रोडक्ट्स (Dairy Products In Hindi) को कम करना आपको वजन घटाने में मदद कर सकता है। न्यूट्रिशनल जर्नल (Nutrition Journal) में प्रकाशित एक शोध की मानें, तो दूध में A1 नामक प्रोटीन होता है, जिसे हर किसी में पचाने की क्षमता नहीं होती है। वहीं वजन घटाने के लिए डेयरी उत्पाद को कम करना एक कारगर और असरदार तरीका हो सकता है। वहीं डेयरी प्रोडक्ट्स के सेवन को कम करने के शरीर को कई और फायदे भी होते हैं। तो आइए जानते हैं क्या कहता है ये शोध।

insidemilkproducts

वजन घटाने के लिए डेयरी उत्पाद

दरअसल दूध, सादे दही और अन्य बिना सुगंधित डेयरी उत्पादों में लैक्टोज एक अच्छी मात्रा में पाया जाता है, जो कि एक नेचुरल शुगर है। वहीं अन्य डेयरी उत्पादों में अतिरिक्त चीनी शामिल हो सकती है, जो वजन बढ़ाने का काम करती है। डेयरी उत्पाद बलगम बनाने वाले होते हैं और डेयरी में प्रोटीन थायरॉयड ग्रंथि और पाचन तंत्र जैसे शरीर के महत्वपूर्ण हिस्सों में सूजन को बढ़ाने के लिए पाया गया है। वहीं जिनमें थायरॉयड के कारण मोटापा होता है, उनमें भी डेयरी प्रोडक्ट्स को काटने का फायदा नजर आता है। दरअसल खान-पान में डेयरी काटने के बाद से, चयापचय और ऊर्जा के स्तर में सुधार आता है, जो थायरॉयड को कम करने में मदद करता है। 

insidestomachproblem

इसे भी पढ़ें : अस्‍थमा रोगियों के लिए फायदेमंद है प्‍लांट-बेस्‍ड डाइट का सेवन करना और डेयरी प्रॉडक्‍ट से बचना

पेट की परेशानियों को करके वजन घटाने में करता है मदद

न्यूट्रिशनल जर्नल (Nutrition Journal) में प्रकाशित एक अध्ययन इस अध्ययन में ये भी बताया गया है कि कैसे A1 नामक प्रोटीन पचाना मुश्किल होता है। वहीं दूध और अन्य डेयरी उत्पादों में मौजूद बीटा-केसीन पेट में जलन, पेट फूलना और डायरिया जैसी पाचन समस्याओं का भी कारण होते हैं। वहीं जब व्यक्ति डेयरी प्रोडक्ट्स लेना बंद कर देता है, तो उनमें पेट से जुड़ी परेशानियां कम हो जाती हैं, जो वजन कम करने में मदद करते हैं। 

ऊर्जावान महसूस होना

चूंकि डेयरी प्रोडक्ट्स को छोड़ने से पाचन तंत्र को अब डेयरी प्रोटीन को पचाने में इतनी मेहनत नहीं करनी पड़ती, इसलिए शरीर में ऊर्जा बची रहती है। इसके परिणामस्वरूप, आप दिन भर ऊर्जावान और सक्रिय महसूस कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को 80% तक बढ़ा सकता है डेयरी वाला दूध, जानें कारण

हार्मोनल गड़बड़ियां को कम करना

जर्नल ऑफ क्लिनिकल एंड एस्थेटिक डर्मेटोलॉजी (Journal of Clinical and Aesthetic Dermatology) में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि डेयरी उत्पाद होर्मोनल डिसबैलेंस का कारण भी बनते हैं, जिससे स्किन से जुड़ी परेशानियां भी पैदा होती हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि आमतौर पर हम जो गाय का दूध पीते हैं, उसमें गाय के हार्मोन होते हैं। साथ ही, डेयरी पशुओं को उनके दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए कई अतिरिक्त हार्मोनल इंजेक्शनों का इस्तेमाल किया जाता है। इस तरह ये हमारे हार्मोन को व्हेक से बाहर फेंक सकते हैं और मुंहासे और ब्रेकआउट का कारण बन सकते हैं। इसलिए जब हम डेयरी उत्पादों को कम करते हैं, तो कुछ हद तक हमारे स्किन से जुड़ी परेशानियां भी कम हो सकती हैं।

Read more articles on Health-News in Hindi

Disclaimer