रूसी वैक्सीन Sputnik-V अगले हफ्ते से बाजार में होगी उपलब्ध, जल्द मिल सकती है कई अन्य विदेशी टीकों को मंजूरी

कोरोना महामारी से लड़ने के लिए भारत को एक और हथियार मिल चुका है। अगले सप्ताह तक स्पूतनिक वी मार्केट्स में उपलब्ध हो जाएंगे।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: May 14, 2021
रूसी वैक्सीन Sputnik-V अगले हफ्ते से बाजार में होगी उपलब्ध, जल्द मिल सकती है कई अन्य विदेशी टीकों को मंजूरी

कोरोना को हराने में कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन एक बड़ा हथियार बनकर सामने आया है। इस बीच एक और खुश खबरी सुनने को मिल रही है। जी हां, बताया जा रहा है कि कोरोना को हराने के लिए अगले सप्ताह तक भारत को एक और हथियार मिल सकता है। बताया जा रहा है कि अगले सप्ताह तक रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी भारत के बाजारों में उपलब्ध हो जाएगी। 

इस बारे में नीति आयोग के स्वास्थ्य समिति सदस्य वीके पॉल ने कहा कि, "हमारे देश में स्पूतनिक वैक्सीन पहुंच चुकी है। मुझे आप सभी तो यह बताते हुए खुशी हो रही है कि अगले सप्ताह तक भारत के बाजारों में यह वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी।" उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा है कि अभी फिलहाल स्पूतनिक वैक्सीन की सीमित खेप आई है। कुछ दिनों में इसकी और भी खेप आ सकती है। पॉल ने यह भी बताया कि भारत में जुलाई से स्पूतनिक वैक्सीन का प्रोडक्शन भी शुरू हो जाएगा। बताया जा रहा है कि भारत में स्पूतनिक वैक्सीन के 15.6 करोड़ डोज तैयार किए जाएंगे।

जल्द मिल सकती है कई दूसरी विदेशी वैक्सीन्स को मंजूरी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने कहा कि सरकार अधिक से अधिक वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि अगस्त से दिसंबर तक भारत में वैक्सीन की उपलब्धता देथें, तो 216 करोड़ वैक्सीन की डोज भारत में उपबल्ध हो जाएगी। इन वैक्सीन में 75 करोड़ कोविशील्ड, 55 करोड़ कोवैक्सीन,  30 करोड़ बायो ई सब यूनिट वैक्सीन, 15 करोड़ डोज स्पूतनिक वैक्सीन, 20 करोड़ नोवावैक्सीन, 10 करोड़ भारत बायोटेक नेजल वैक्सीन, 6 करोड़ जिनोवा और 5 करोड़ जायडस कैंडिला डीएनए, की  उपलब्ध होगी। इसके अलावा दूसरी विदेशी वैक्सीन आने की भी उम्मीद जताई जा रही है। 

इसे भी पढ़ें - कोरोना से ठीक हो चुके लोगों को 6 महीने बाद लगे वैक्सीन, कोविशील्ड की 2nd डोज 3 महीने बाद: सरकारी पैनल का सुझाव

भारत के 18 करोड़ लोगों को लग चुकी है वैक्सीन

भारत में 18 करोड़ लोगों को कोविड-19 वैक्सीन दी जा चुकी है। वहीं, अमेरिका में करीब 26 करोड़ लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। इस मामले में भारत तीसरे नंबर पर है। वीके पॉल ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि हमें इस बात की खुशी है कि 45 साल से अधिक उम्र के करीब एक तिहाई लोगों को कोरोना वैक्सीन लग चुकी है। वहीं, 60 से अधिक उम्र के करीब 88 फीसदी लोगों को कोरोना वैक्सीन का डोज दिया जा चुका है। इस उम्र के लोगों को कोरोना का अधिक खतरा होता है, इसलिए अधिक उम्र के व्यक्तियों को पहले वैक्सीन डोज दी गई है।

इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कहा है कि पिछले 2 सप्ताह से देश के 187 जिलों में कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है। दिल्ली, उत्तरप्रदेश जैसे कई अन्य राज्यों में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या दिन-ब-दिन कम होती जा रही है। वहीं, बिहार के हालातों में भी काफी सुधार देखने को मिल रहे हैं। बिहार में एक्टिव मामले 1 लाख से भी कम हैं।

भारत की स्थिति

भारत में कोरोना का कहर जारी है। हर दिन लाखों की संख्या में नए मामले सामने आ रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कोविड-19 (COVID-19) के 3,43,144 नए मामले सामने आए हैं। इस हिसाब से अब तक के भारत में कुल एक्टिव मामले 2,40,46,809 हो गए हैं। वहीं, पिछले 24 घंटे में 4,000 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। इस हिसाब से भारत में मौत का आंकड़ा 2,62,317 हो चुका है। 

Read More Articles on Health News in Hindi

 

 

Disclaimer