कोरोना से ठीक हो चुके लोगों को 6 महीने बाद लगे वैक्सीन, कोविशील्ड की 2nd डोज 3 महीने बाद: सरकारी पैनल का सुझाव

कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों को अब वैक्सीन लगाने के लिए 6 महीने का इंतजार करना होगा। सरकारी पैनल ने कोविडशील्ड की खुराकों के अंतर को भी बढ़ाया

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: May 13, 2021
कोरोना से ठीक हो चुके लोगों को 6 महीने बाद लगे वैक्सीन, कोविशील्ड की 2nd डोज 3 महीने बाद: सरकारी पैनल का सुझाव

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर तमाम कोशिशों के बाद भी काबू में नहीं आ रही है। पिछले 24 घंटों की बात करें तो देश में लगभग 3 लाख 62 हजार कोरोना के मामले सामने आए हैं और लगभग 4 हजार लोगों ने कोरोना से अपनी जान गवाई हैं। कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए सरकार ने कुछ दिन पहले 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन लगाने की अनुमति दे दी थी। ऐसे में करोड़ों लोग वैक्सीन के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं। लेकिन देश में अभी पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। ऐसे में सरकार उन समूहों की पहचान कर रही हैं, जिनका टीकाकरण कुछ दिनों या महीनों के लिए टाला जा सकता है। ऐसे में सरकारी पैनल एनटीएजीआई (The National Technical Advisory Group on Immunisation) ने कोरोना वैक्सीन को लेकर कई सुझाव दिए हैं। जिसमें कहा गया है कि कोरोना से रिकवर होने वाले लोगों को कोरोना का टीका 6 महीने बाद लगाया जाए। इसके साथ ही कोविडशील्ड की खुराकों के अंतर को बढ़ाकर 3 महीने कर दिया जाए।

vaccine

कोरोना से रिकवरी के 6 महीने बाद लगाया जाए टीका 

कोरोना वायरस से बचाव के लिए देशभर में बड़े पैमाने पर टीकाकरण चल रहा है। ऐसे में केंद्र सरकार के राष्ट्रीय टीकाकरण तकनीकी सलाहकार समूह ने सिफारिश की है कि कोरोना वायरस से ठीक होने वाले लोगों को 6 महीने बाद कोरोना का टीका लगाया जाए। यानी जो लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं, उन्हें रिकवरी के 6 महीने बाद टीका लगाया जाए। यह वह स्थिति है, जब व्यक्ति ने वैक्सीन की एक भी डोज नहीं ली हो। इस समय देश में वैक्सीन की कमी की वजह से काफी दिक्कत आ रही है, ऐसे में इससे निपटने के लिए पैनल ने यह रास्ता निकाला है।

इसे भी पढ़ें - क्या न्यूरो रोगी सर्जरी के बाद लगवा सकते हैं कोरोना वैक्सीन? डॉक्टर से जानें जरूरी सावधानियां

जब हो जाए वैक्सीन की एक डोज के बाद कोरोना संक्रमित 

ऐसे भी कई लोग हैं, जिन्हें कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी हैं। लेकिन दूसरी डोज लेने से पहले वे संक्रमित हो जाते हैं ऐसे में उन्हें कोरोना से ठीक होने के बाद अपनी अगली डोज के लिए 4-8 हफ्तों का इंतजार करना होगा।

vaccine

कोविडशील्ड के डोज के अंतर को बढ़ाया जाए 

देश में इस समय कोरोना से बचाव के लिए कोवैक्सीन और कोविडशील्ड वैक्सीन लगाई जा रही है। अभी तक कोविडशील्ड के दोनों डोज के बीच 6-8 हफ्तों का अंतर था। लेकिन पैनल ने इसके अंतर को बढ़ाए जाने को कहा है। पैनल ने कहा कि इसके दो खुराकों के बीच 12-16 हफ्तों का अंतर कर दिया जाए।

इसे भी पढ़ें - क्या आप भी किसी अपने की शादी में होने वाले हैं शामिल? जानें कैसे करें कोरोना से अपना बचाव

अपनी पसंदीदी वैक्सीन चुन सकती हैं गर्भवती महिलाएं 

अभी देश में कोविडशील्ड और कोवैक्सीन लगाई जा रही हैं। सरकारी पैनल एनटीएजीआई ने कहा है कि गर्भवती महिलाओं को अपनी पसंद की कोरोना वैक्सीन चुनने की आजादी मिल सकती है। गर्भवती महिलाएं बच्चे को जन्म देने के बाद कभी भी वैक्सीन लगवा सकती हैं। टीका लगाने के बाद बच्चे को दूध पिलाने से कोई नुकसान नहीं होगा। वे अपनी डिलीवरी के बाद कभी भी वैक्सीन लगवा सकती हैं।  

Read More Articles on Health News in Hindi

Disclaimer