मोटापे से अधिक खतरनाक है दिनभर बैठे रहना

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 01, 2015
Quick Bites

  • लागातार बैठे रहने से धूम्रपान करने जितना नुकसान होता है।
  • गलत पॉश्चर में बैठने की वजह से पीठ में दर्द हो सकता है।
  • लगातार बैठकर काम करने से आंखों को भी नुकसान होता है।  
  • इससे जांघों के आसपास की मांसपेशियों में जकड़न आ जाती है।

आज-कल के हाईटैक ज़माने में मेहनत शरीर की नहीं बल्कि दिमाग की हो गई है। अधिकांशतः पूरे दिन शरीरिक मेहनत वाली नौकरियों के बजाए घंटों एक ही जगह घंटों लगातर कुसी पर बैठे रह कर काम ज्यादा करना पड़ता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि एक ही कुर्सी पर बैठकर काम करने के कई नुकसान होते हैं। लोग मानते हैं कि इससे मोटापा बढ़ता है, हां ये सच है लेकिन इससे होनी वाली समस्याओं में मोटापा ही अकेली समस्या नहीं है। इससे कई अन्य प्रकार की स्वास्थ्य समस्यायें भी हो सकती हैं। तो चलिये विस्तार से जानें कि हैं ये समस्याएं।  


जब बिना किसी आप ब्रेक के घंटों एक ही जगह बैठे रहते हैं तो सेहत को धूम्रपान करने से भी ज्यादा नुकसान होता है। कंप्यूटर से निकलने वाली हानिकारक किरणें आंखों को नुकसान पहुंचाती हैं, और गलत पॉश्चर में बैठने की वजह से पीठ में दर्द हो सकता है। इसके अलावा रोज़ाना घंटो बैठे रहने से अनिद्रा, तनाव तथा हाई ब्लड प्रेशर आदि समस्याएं भी हो सकती हैं।

 

Sitting in Hindi

 

आंखों को नुकसान

एक ही जगह बैठकर लगातार कई-कई घंटे कम्प्यूटर पर काम करने से आंखों को काफी नुकसान होता है। ऐसा इसलिये, क्योंकि कंप्यूटर स्क्रीन से निकलनी वाली किरणें आंखों के लिये हानिकारक होती हैं। हालांकि इन तरंगों से बचने के लिए हमारी आंखें स्वत: ही नम हो जाती है, लेकिन अधिकांश दफ्तरों में एसी होने की वजह से आंखों में सूखापन जल्दी आ जाता है। हालांकि इस नुकसान से बचाने के लिए एंटी-ग्लेयर चश्में का प्रयोग किया जा सकता है। इसके अलावा हर 20 मिनट के बाद आंखों को कंप्यूटर की स्क्रीन से हटाकर दूसरी चीजें देखें। इससे पुतलियों में सूखापन नहीं होता है। साथ ही थोड़ी-थोड़ी देर में  आंखों को बंद करके इनके आसपास अपनी हथेली से हल्के हाथ से मालिश करें। आंखों को कुछ समय बाद पानी से धो भी सकते हैं।

 

Sitting in Hindi

 

कमर दर्द

लगातार कई घंटों तक कुर्सी पर बैठे रहने से कमर में दर्द की शिकायत हो जाती है। इससे आपका रक्त संचार ठीक से नहीं हो पाता है। घंटों एक ही जगह पर बैठे रहने से कमर और उसके आसपास की मांसपेशियों में जकड़न हो जाती है और रक्त संचार प्रभावित होता है। वहीं इससे आपकी हड्डियों के घनत्व में भी कमी आ सकती है। घंटों गलत तरीके से बैठे रहने से कमर दर्द होना स्वाभाविक है, इससे बचाव के लिए कुछ समय के अंतराल के बाद कुर्सी पर कमर को आगे-पीछे करें और दाएं-बाएं घुमाने की कोशिश करें। नियमित रूप से सुबह और शाम को कमर से संबंधित व्यायाम और स्ट्रेचिंग करें। व्यायाम करने से सक्त संचार सुचारु होता है और कमर दर्द की समस्या से छुटकारा मिलता है।

मांसपेशियों में जकड़न

एक ही जगह पर लगातार बैठे रह कर काम करने से गर्दन, कमर, हाथों व जांघों के आसपास की मांसपेशियों में जकड़न आ जाती है। जिसके कारण शरीर का रक्तसंचार भी प्रभावित होता है। इससे पैरों की धमनियों का तनाव बढ़ जाता है जिससे रक्त संचार की प्रक्रिया प्रभावित होती है। इससे कमर व पैरों आदि में दर्द की समस्या होती है। ऑरगन हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी के शोधकतार्ओं ने अपने शोध से ये परिणाम निकाला कि अगर दिन में तीन घंटे लगातार बैठने के बीच में तीन बार पांच मिनट टहल लिया जाए तो यह शरीर को कई गंभीर समस्याओं से बचा सकता है। खासतौर पर धमनियों को सुचारू रखने में भी यह काफी मददगार होता है। इस शोध में यह भी निष्कर्ष भी निकला कि इस उपाय को अपनाकर अधिक कोलेस्ट्रॉल, मोटापा, दिल के रोग और मेटाबॉलिक रोगों को कम करने में भी मदद मिलती है।

Loading...
Is it Helpful Article?YES4 Votes 528 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK