Expert

रिश्ते में हमेशा 'अच्छे' बने रहना भी बन सकता है परेशानी की वजह, एक्सपर्ट से जानें कारण

किसी भी रिश्ते में जरूरत से ज्यादा मीठा बनना रिश्तो में दिखावा पैदा कर सकता है। ऐसे में जानते हैं कैसे करें अपनी इस आदत को दूर...

Garima Garg
Written by: Garima GargUpdated at: Jan 21, 2022 17:38 IST
रिश्ते में हमेशा 'अच्छे' बने रहना भी बन सकता है परेशानी की वजह, एक्सपर्ट से जानें कारण

रिश्ते में अच्छे व्यवहार का होना जरूरी है तभी प्यार बना रहता है। वहीं बुरे बर्ताव को कभी भी स्वीकार नहीं किया जा सकता। यही कारण होता है कि लोग रिश्ते को बचाने के लिए जरूरत से ज्यादा अच्छा बनने की कोशिश करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि व्यवहार में अनचाहा बदलाव रिश्ते में दिखावा पैदा कर सकता है। ऐसे में व्यक्ति कुछ तरीकों को अपनाकर रिश्ते में दिखावट को दूर कर सकता है और रिश्ते में कैसे समानता लाई जा सकती है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि ऐसे कौन से तरीके हैं, जिनको अपनाकर व्यक्ति अच्छाई के दिखाने को दूर रख सकता है। इसके लिए हमने डॉ. उपासना चड्ढा विज, साइकोलॉजिस्ट, माइंडस्केप, नई दिल्ली से भी बात की हैं। पढ़ते हैं आगे...

 

रिश्ते में 'ज्यादा अच्छा बनना' कैसे कर सकता है रिश्ते को प्रभावित

1 - सेल्फ रिस्पेक्ट खत्म हो सकती है।

2 - सामने वाले व्यक्ति को आपका व्यक्तित्व झूठा लग सकता है।

3 - आपकी राय का कोई महत्व नहीं बचेगा।

4 - बड़े-बड़े फैसलों से आपको दूर रखा जा सकता है।

5 - रिश्तों में गलतफहमी हो सकती है।

इसे भी पढ़ें - रिश्ते में भी आ गई है इनसिक्योरिटी या जलन की भावना? जानें इसे दूर करने के आसान तरीके

1 - बारीक फर्क को पहचानें

सबसे पहले इस फर्क को पहचानना जरूरी है कि आप रिलेशनशिप में 'ज्यादा अच्छा' बन रहे हैं या 'जरूरत से ज्यादा अच्छा' बन रहे हैं। तभी आप इस परिस्थिति को समझेंगे और दूर करने की कोशिश करेंगे। ऐसे में आप गुड बिहेवियर और बेड बिहेवियर की एक सूची तैयार कर सकते हैं और उसके आधार पर अपने आप को आंक सकते हैं। आप उसमें यह भी लिख सकते हैं कि किस परिस्थिति में आपने अच्छा व्यवहार किया और किस परिस्थिति में बुरा। इससे आपको यह अंदाजा होगा कि आपको किस परिस्थिति में बुरा व्यवहार करना चाहिए था और वहां पर भी आपने अच्छा व्यवहार किया।

2 - जरूरत से ज्यादा शेयरिंग भी ठीक नहीं

जब हम रिलेशनशिप में ज्यादा अच्छा बनने की कोशिश करते हैं तो हम अपना सामान या अपनी जरूरतों की चीजें बांटना भी शुरू कर देते हैं। हालांकि दूसरों की मदद करना सही है। लेकिन अपनी जरूरतों का सामान देना गलत साबित हो सकता है। इससे अलग शेयरिंग से मतलब केवल सामान से ही नहीं आपकी बातों से भी है। पर्सनल बातें उन लोगों के साथ शेयर करें, जिसे आप अपना मानते हैं ना कि उन लोगों के साथ जिनके साथ आप अच्छाई का दिखावा करते हैं। वरना भविष्य में आपको दिक्कत हो सकती है।

3 - अति विनम्रता भी ठीक नहीं

यदि कोई इंसान आपके साथ बुरा व्यवहार कर रहा है तो एक बार उसे माफ करना ठीक है लेकिन बार-बार उसे माफ करना बेवकूफी हो सकती है। ऐसे में अधिक विनम्र बनने की बजाय आप परिस्थिति को समझें और उस हिसाब से पता लगाएं कि क्या इस सिचुएशन में आपका अच्छा बनना सही है। हो सकता है कि आप इससे सामने वाले व्यक्ति को बढ़ावा दे रहे हो। ऐसे में परिस्थिति के हिसाब से विनम्र बनें।

इसे भी पढ़ें- अपने क्रश को इन 6 तरीकों से समझाएं अपने दिल की बात, यहां जानें खास टिप्स

4 - चुप रहना भी जरूरी

अपनी राय तभी दें जब जरूरत हो वरना आपकी राय की कोई कीमत नहीं रह जाएगी। कुछ परिस्थितियां ऐसी होती है जहां पर बोलने की जरूरत नहीं है तो ऐसे में आप चुप रहकर सौ सुख प्राप्त कर सकते हैं। वहीं अगर ऐसी परिस्थिति आपके सामने आ गई है, जिसमें आपका बोलना जरूरी है तो ऐसे में परिस्थिति के हिसाब से अपनी बातों को दूसरों के सामने रखें।

एक्सपर्ट टिप्स

एक्सपर्ट के मुताबिक, हर व्यक्ति का अपना एक व्यक्तित्व होता है। ऐसे में दूसरे के लिए उस व्यक्तित्व को पूरी तरह बदलना सही नहीं है। यदि आपको लगता है कि आपका व्यक्तित्व पूरी तरीके से बदल रहा है तो ऐसे में विचार करने की जरूरत है। रिश्ते बेहद नाजुक होते हैं ऐसे में रिश्ते में दिखावा रिश्तो को और कमजोर बना सकता है।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि रिश्ते में ज्यादा अच्छाई भी रिश्ते को कमजोर बना सकती है। ऐसे में शहद से ज्यादा मीठा बोलना या अच्छा बनना दिखावा पैदा कर सकता है। ऊपर बताए गए टिप्स आपकी इस आदच को बदलने में आपके बेहद काम आ सकते हैं।

Disclaimer