एक्सरसाइज के बाद पेट में होता है दर्द? कारण हो सकती हैं ये 7 बातें

 यदि आप को भी वर्कआउट के बाद पेट में दर्द या अन्य पाचन से जुड़ी समस्याएं परेशान करती हैं तो निम्न टिप्स का पालन करके अपनी समस्या का हल पा सकते हैं।

 

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Dec 02, 2020 21:21 IST
एक्सरसाइज के बाद पेट में होता है दर्द? कारण हो सकती हैं ये 7 बातें

वैसे तो वर्कआउट के बाद शरीर में दर्द होना एक आम बात है। खास कर तब जब आप ने कोई नया वर्क आउट ट्राई किया हो या वर्क आउट करने का समय बढ़ा दिया हो। परन्तु यदि यह दर्द पेट में हो रहा है और काफी दिनों तक ठीक नहीं होता तो बहुत जरूरी है इसके कारणों को जानना। दरअसल जब आप व्यायाम करते हैं तो आपकी मांसपेशियों को ताकत की जरूरत होती है। वो अधिक ऊर्जा की माँग करतीं हैं। जबकि उस समय आपके शरीर में रक्त प्रवाह अधिकतम पैरों की तरफ होता है। ऐसे में कसरत से पहले या कसरत के बाद आपने जो कुछ भी खाया होता है वह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम को कम संसाधनों के साथ पचाना पड़ता है। इसी वजह से अक्सर कसरत के बाद पेट में दर्द या अन्य परेशानी उत्पन्न होने लगती है। कुछ अन्य निम्न कारण भी हो सकते हैं।

pain

हार्ट बर्न व रिफ्लेक्स (If You Are Feeling Heartburn)

कुछ इंटेंस वर्कआउट आप की बॉडी के एसिडिक फ्लो को डिस्टर्ब कर देते हैं। उन लोगों के लिए यह आम बात है जो पहले से ही किसी रिफ्लक्स का सामना कर रहे है। जब एक्सरसाइज के कारण आप के शरीर के अंदर के फ्लूइड हिल जाते है तो आप को हार्ट बर्न जैसी समस्याएं होती हैं।

मांसपेशियों का सख्त होना (When Muscles Get Stress)

यदि आप अच्छे ढंग से वार्म अप नहीं कर रहे हैं या आप अपने फिटनेस लेवल से कुछ ज्यादा मुश्किल एक्सरसाइज कर रहे हैं, तो आप के पेट की कुछ मांसपेशियां क्षतिग्रस्त हो सकती हैं। इसलिए वार्म अप ज्यादा समय के लिए करें और इस प्रकार की दर्दनाक स्थितियों से स्वयं को बचाने के लिए एक्सरसाइज ज्यादा मात्रा में न करें।

इसे भी पढ़ेंः हमेशा फिट रहने के लिए महिलाएं रोजाना करें ये 4 पिलेट्स, जानें क्या है करने का तरीका

stomach

तापमान की स्थिति (Room Or Surrounding Temperature)

आप के शरीर में या पेट मे दर्द होने का एक कारण आप के जिम में लगा एसी या बाहर का ठंडा वातावरण भी हो सकता है। यदि आप किसी ठंडी जगह पर वर्क आउट करते हैं तो इससे आप का ब्लड सर्कुलेशन अच्छा नहीं होता। अतः आप की मांसपेशियां थक जाती हैं। इसलिए एक सामान्य तापमान वाली जगह पर ही वर्कआउट करें।

मांसपेशियों में दर्द (Muscles Pain)

वैसे तो कसरत के दौरान या बाद में शरीर में किसी भी मांसपेशियों में दर्द हो सकता है। लेकिन इसके पीछे के कुछ मुख्य कारण डिहाइड्रेशन, मिनरल की कमी व आप के शरीर की मसल्स में ऑक्सीजन की कमी भी हो सकती है। कुछ पेट की एक्सरसाइज जैसे क्रंचेज आदि को ज्यादा न करें व इनकी सीमा कम कर दें। एक्सरसाइज के दौरान व उसके बाद खूब सारे तरल पदार्थ पिएं।

खाने के तुरन्त बाद एक्सरसाइज करना (Exercise After Meal)

यदि आप कुछ खाने के तुरन्त बाद एक्सरसाइज करते हैं तो भी आप के पेट मे दर्द होने लगता है। ऐसा करने से आप का शरीर दुविधा मे पड़ जाता है। वह आप के पाचन तंत्र को छोड़ कर आप की मसल्स की ओर ध्यान देने लग जाता है। अतः इससे आप का पेट भी फूल जाता है। इसलिए तुरन्त खाने के बाद एक्सरसाइज न करें। इसके लिए कुछ समय यानि लगभग 2 घंटे का गैप रखें।

आप पर्याप्त पानी नहीं पी रहे हैं (Loss Of Water)

आप को पता होगा कि वर्कआउट के बाद पसीने के रूप में आपके शरीर से पानी या तरल कम होता है। परन्तु आप के डिहाइड्रेट होने का लक्षण केवल यही नहीं होता है कि आप को प्यास लग रही है, बल्कि आप के पेट मे भी दर्द होने लगता है। आप के यूरिन का रंग भी बदल जाता है। इसलिए अधिक से अधिक पानी पियें व स्वयं को हाइड्रेटेड रखें।

इसे भी पढ़ेंः हृदय के अलावा इन शारीरिक स्वास्थ्य को भी मिलता है 'कार्डियो एक्सरसाइज' से फायदा

वर्कआउट करने से पहले आप क्या खाते हैं ( Meal Before Exercise)

वर्क आउट करने से पहले आप क्या खाते हैं यह भी जरूरी होता है। यदि आप अनाप शनाप खा लेते हैं तो आप का पेट दर्द करने लगता है। यदि आप किसी मैराथन या एक हाई इंटेंस वर्कआउट के लिए स्वयं को तैयार कर रहे हैं तो अच्छे पोषण से युक्त मील लें।विभिन्न पोषक तत्वों को पचने में अलग-अलग समय लगता है। जबकि कार्बोहाइड्रेट पच जाते हैं और फाइबर, प्रोटीन और वसा युक्त डाइट को पचने में अधिक समय लगता है।

यदि आप का पेट का दर्द कई दिनों तक चलता है तो आप को डॉक्टर के पास जाना चाहिए और यदि आप को पेट दर्द के साथ साथ बुखार या उल्टी, सूजन आदि समस्याएं भी होती हैं तो आप को किसी प्रोफेशनल को दिखना जरूरी है। इस प्रकार की समस्या आप को इग्नोर नहीं करनीं चाहिए।
यह आर्टिकल पारस हॉस्पिटल, पंचकुला की डायटीशियन और फिटनेस एक्सपर्ट डॉ आशिमा नय्यर से बातचीत पर आधारित है

Read More Article On Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer