संजय दत्त से सीखिए: कैसे ड्रग्स करता है आपकी सेहत और जीवन दोनों को तबाह!

संजय दत्त के निजी अनुभवों से जानें की, क्यों हमें ड्रग्स नहीं लेना चाहिए। संजय दत्त ने ड्रग एडिक्शन के बारे में कहा कि, वे एक बार एक किलो हेरोइन के साथ फ्लाइट में थे।

Gayatree Verma
तन मनWritten by: Gayatree Verma Published at: Dec 19, 2016Updated at: Dec 19, 2016
संजय दत्त से सीखिए: कैसे ड्रग्स करता है आपकी सेहत और जीवन दोनों को तबाह!

नायक नहीं, खालनायक है ये...
इस गाने को संयज दत्त के खबरों में आने के दौरान बैकग्राउंड में बारबार प्ले किया जाता है। 


वर्तमान में संजय दत्त अपनी ज़िन्दगी की दूसरी पारी खेल रहे हैं। इस पारी में वो अपनी पिछली जिंदगी में की हुई सभी गलतियों का पश्चाताप कर रहे हैं और उससे सबक लेकर आगे बढ़ रहे हैं। संजय अवैध हथियार रखने के केस में जेल भी जा चुके है। लेकिन इससे पहले शायद ही संजय ने कभी अपने ड्रग लेने के बारे में खुलकर बोला होगा।
लेकिन पिछले दिनों एक इवेंट में उन्होंने अपने ड्रग्स लेने की लत के बारे में खुल कर बात की। उनकी जिंदगी में एक ऐसा भी समय आया था जब वे लगातार ड्रग्स के नशे में रहते थे। ये उनकी पहली फिल्म रॉकी के रिलीज होने से पहले की बात है। उन्होंने माना की वे ड्रग्स के नशे में इतने असंवेदनशील हो गए थे कि अपना परिवार और प्यार सब भूल गए थे।

 


एक बार एक किलो हेरोइन के साथ फ्लाइट में थे

संजय को ड्रग्स की लत इतनी थी की वे एक बार फ्लाइट में एक किलो ड्रग्स लेकर सफर कर रहे थे। ये ड्रग्स उन्होंने अपने जूतों में छुपा कर ट्रैवल किया था। तब उनके साथ उनकी दोनों बहनें भी थीं।  संजय कहते हैं कि उस वक़्त उतनी अधिक स्ट्रिक्ट चेकिंग नहीं होती थी। उस समय मैं एक अलग ही पागलपने में था। मुझे अरेस्ट कर लेते, वो अलग बात थी, पर मेरी बहनों का क्या होता?

 

कोकीन को बैलेंस करने के लिए पीते थे शराब

मैं एक समय इतना नशा करने लगा था कि कोकीन के इफेक्ट को बैलेंस करने के लिए ऊपर से शराब भी पीता था। एक बार में पूरे दो दिनों तक सोता रहा। जब उठा तो लगा मरने वाला हूं। अब जब मैं उस बारे में सोचता हूं, तो लगता है कि मैं कितना गलत था।


जिस उम्र में संजय ने ड्रग्स लेना शुरू किया वो उम्र ही ऐसी होती है कि आप उस समय हर छोटी-बड़ी चीज़ से जल्दी प्रभावित हो जाते हैं। और उसके बाद ये आदत आसानी से नहीं छूटती।


संजय ने ड्रग्स तब भी चालू रखा, जब उन्हें अपनी मां नरगिस के कैंसर होने के बारे में पता चलता था। संजय इस पर कहते हैं कि, आदमी हाई होने के चक्कर में ऐसा हाई हो जाता है, उसे बाकी किसी से कोई फ़र्क नहीं पड़ता। किंतु ड्रग्स का नशा कुछ ऐसा ही होता है।


लड़कियों से बात करने के लिए लेते थे ड्रग्स

संजय ने बताया कि वे लड़कियों से बात करने के लिए उन्होंने ड्रग्स लेना शुरू किया। संजय कहते थे कि वो पहले लड़कियों से बात करने में नर्वस हो जाते थे और उस दौरान किसी ने उन्हें बताया कि ड्रग्स लेने से ये समस्या दूर हो जाएगी।
और ऐसा हुआ भी। लेकिन ये बस एक वर्चुअल लाइफ थी जो मुझे अंदर से तबाह कर रही थी।
इसलिए संजय लोगों को ड्रग्स लेने से मना करते हैं और समझाते हैं कि, जिंदगी में अच्छा काम करो और उस काम की वजह से सब आपकी तारीफ करें, आपको सब पसंद करे, इससे ज्यादा हाई कोई चीज नहीं हो सकती।

बन रही है फिल्म

संजय की जिंदगी पर राजकुमार हिरानी एक फ़िल्म बना रहे हैं। फ़िल्म में रणबीर कपूर ऑन स्क्रीन संजय दत्त बनेंगे और सोनम कपूर इस फ़िल्म की हीरोइन हो सकती हैं।

 

Read more articles on Healthy living in Hindi.

Disclaimer