Expert

15 दिन में घट सकता है शुगर लेवल, एक्सपर्ट ने बताए 4 स्टेप्स

Blood Sugar Level: भारत में डायबिटीज के मरीजों का आंकड़ो दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। व्यस्क के अलावा बच्चे भी इस बीमारी से ग्रसित हैं।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Jul 05, 2022Updated at: Jul 05, 2022
15 दिन में घट सकता है शुगर लेवल, एक्सपर्ट ने बताए 4 स्टेप्स

आजकल की अनियमित लाइफस्टाइल की वजह से कई लोग डायबिटीज (Diabetes) जैसी लाइलाज बीमारी का शिकार हो रहे हैं। डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है, जो धीरे-धीरे पूरे शरीर को प्रभावित करती है। यही कारण है कि डायबिटीज को साइलेंट किलर भी कहा जाता है। डायबिटीज की वजह से किडनी, लीवर, हार्ट, पैर और आंखों में परेशानी हो सकती है। एक सर्वे के मुताबिक 2010 तक डायबिटीज जैसी बीमारी 40 साल से ज्यादा उम्र के बाद देखी जाती थी, लेकिन अब 2 से 3 साल के बच्चे भी इस बीमारी (Diabetes in Kids) से ग्रसित हो रहे हैं ।

डायबिटीज के मरीजों को शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए कहा जाता है। कुछ लोग पूछते हैं कि 15 दिनों में कैसे ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित किया जा सकता है। आयुर्वेदिक एक्सपर्ट डॉक्टर दीक्षा भावसार ने इस सवाल का जवाब देते हुए कुछ खास टिप्स शेयर किए हैं। डॉक्टर दीक्षा का कहना है कि इन 5 बातों को अपनाकर ब्लड शुगर को सिर्फ 15 दिनों में कंट्रोल किया जा सकता है।

 1. एक्टिव लाइफस्टाइल

डॉक्टर दीक्षा के अनुसार एक डायबिटीज के मरीज को नियमित तौर पर 40 मिनट एक्सरसाइज (चलना/साइकिल चलाना/कार्डियो/योग) करना जरूरी है। प्रतिदिन एक्सरसाइज करने से शरीर की कोशिकाओं को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिलता है, जिससे लीवर जल्दी डिटॉक्स होता है। इससे ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित किया जा सकता है।

2. चीनी, मैदा ( प्रॉसेस्ड फूड), दही और ग्लूटेन से दूरी

डॉक्टर का कहना है कि डायबिटीज के मरीजों को  नैचुरल शुगर का ही सेवन करना चाहिए। ब्लड शुगर को घटाने की चाह रखने वाले लोगों को चीनी, मैदा ( प्रॉसेस्ड फूड), दही और ग्लूटेन जैसी चीजों से दूर रहना चाहिए। अगर आप खाने में दूध और घी का इस्तेमाल करते हैं, तो इसके लिए पहले डॉक्टर से बातचीत करें। उन्होंने कहा कि डायबिटीज के मरीजों को गेहूं  के बजाय ज्वार, रागी और बाजरा जैसे अनाज को अपने खाने में शामिल करना चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः डायबिटीज में बढ़ते शुगर को कंट्रोल करने में असरदार हैं कदंब के पत्ते, जानें इस्तेमाल का तरीका

3. देर रात को भोजन करना

डॉक्टर का कहना है कि आयुर्वेद में रात के खाने का समय सूर्यास्त के कुछ घंटों बाद तक ही माना जाता है। डायबिटीज के मरीजों के साथ आयुर्वेद का यही नियम लागू होता है। ऐसे लोगों को रात में 7 से 8 बजे तक खाना खा लेना चाहिए। जल्दी खाना खाने से ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। डॉक्टर दीक्षा का कहना है कि डिनर करने के 3 से 4 घंटे बाद ही सोना चाहिए। अगर आप खाने के तुरंत बाद सो जाते हैं, तो इससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है।

4. दवाओं पर निर्भर रहना

कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए किसी तरह की फिजिकल एक्टिविटी करने की जरूरत नहीं होती है, आपको बस डॉक्टर द्वारा सुझाई गई दवाओं का सेवन करना होता है। डॉक्टर दीक्षा का कहना है कि डायबिटीज कंट्रोल करने वाली दवाओं पर निर्भर रहने से ये आपके लीवर और किडनी को कम उम्र में नुकसान पहुंचा सकते हैं। इन दवाओं का सेवन करने से कार्डियो वैस्कुलर बीमारियां भी हो सकती हैं, इसलिए सिर्फ दवाओं पर निर्भर न रहें।

 अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं, तो अपने खानपान और लाइफस्टाइल में बदलाव करने के लिए डॉक्टर या एक्सपर्ट से सलाह लें।

(All Image Credit- Freepik.com)

Disclaimer