अड़तीसवें हफ्ते से शुरू हो सकती हैं प्रसव पीड़ा

गर्भावस्था का चाहे पहला सप्ताह हो या अंतिम गर्भवती महिला को देखभाल की हर समय जरूरत पड़ती है। गर्भावस्था के अड़तीसवें हफ्ते के बारे में जानने के लिए इस लेख को पढ़ें।

अनुराधा गोयल
गर्भावस्‍था Written by: अनुराधा गोयलPublished at: Jul 06, 2011
अड़तीसवें हफ्ते से शुरू हो सकती हैं प्रसव पीड़ा

गर्भावस्था का अड़तीसवां हफ्ता यानी फुल टर्म प्रेग्‍नेंसी। आमतौर पर इस हफ्ते तक पहुंच कर गर्भवती महिला की घबराहट बढ़ जाती हैं, लेकिन आपको घबराने जरूरत नहीं है।

Pregnancy Thirty Eight Weeks
कई महिलाओं के लिए अड़तीसवां हफ्ता गर्भावस्‍था का अंतिम सप्‍ताह हो सकता है। वहीं कुछ मामलों में इस हफ्ते के बाद से अंतिम तिथि तक प्रसव पीड़ा का इंतजार किया जाता है। गर्भावस्था का पहला सप्‍ताह हो या अंतिम गर्भवती महिला को देखभाल की हर समय जरूरत पड़ती है। आइए जानें गर्भावस्था के अड़तीसवें सप्ताह के बारे में।

 

लक्षण

  • गर्भावस्था का 38वां सप्ताह फुलटर्म प्रेंगनेंसी का प्रतीक है।
  • गर्भावस्था के इस अड़तीसवें हफ्ते में आपको सामान्य से अधिक बार बाथरूम जाना पड़ सकता है क्योंकि इस स्टेज में भ्रूण का अधिक दवाब पड़ने से आपको खुलकर बाथरूम करने में परेशानी हो सकती है।
  • इस सप्ताह में आपको कभी भी लेबर पेन शुरू हो सकते हैं।
  • आपका मोटापा अभी भी बढ़ेगा लेकिन उसकी गति पहले के मुकाबले बहुत धीमी होगी।
  • इस अवस्था में आप भारी पीठ दर्द और ऐंठन महसूस करेंगी।
  • गर्भावस्था के अड़तीसवें हफ्ते में महिलाओं की योनि से सफेद पानी यानी सफेद योनि स्राव होना शुरू हो जाता है।
  • इस सप्ताह के दौरान आपको योनि के आसपास बहुत अधिक गर्माहट महसूस होगी, यह बच्चे के बाहर आने का लक्षण है यानी बच्चा अधिक गर्माहट महसूस होते ही किसी भी वक्त बाहर आ सकता हैं।

 

बच्चे का विकास

  • इस अवस्था में आपके बच्चे की मांसपेशियां परिवक्व हो जाती हैं और बच्चे के अंग भी पूरी तरह विकसित हो जाते हैं। यानी अगर इसी सप्‍ताह आपको प्रसव पीड़ा हो जाती है तो आपका बच्चा पूर्ण विकसित हो चुका है इसीलिए इसमें घबराने जैसी कोई बात नहीं।
  • इस सप्‍ताह में आपका होने वाला बच्चा 19 इंच से 21 इंच का हो जाता है।
  • होने वाले बच्चे का वजन 6 पाउंड तक हो जाता है।
  • इस सप्ताह में बच्चा भी प्रसवास्था में अपनी भागीदारी देता है, जैसे ही वह सहज और अधिक गर्माहट महसूस करता है तो निरंतर बाहर आने का प्रयास करने लगता हैं।

 

38वें सप्ताह में आहार

  • इस सप्ताह में आपको पौष्टिक डाइट प्लान करने की जरूरत है, जिससे आप अपने होने वाले बच्चे को फीड कराने के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाएं।
  • स्तनपान कराने के लिए दूध पीना आवश्यक है।
  • आपको खाने में कैलोरी की मात्रा बढ़ानी होगी। कुछ कैलोरी आप सलाद खाकर भी बढ़ा सकती हैं।
  • ताजे फलों और सब्जियों के साथ फाइबर और प्रोटीन भी लें।
  • आप लो फैट डेयरी प्रॉडक्ट्स भी खा सकती हैं।
  • पानी खूब पीना चाहिए, जिससे बच्चे को फीड कराने में कोई तकलीफ न हो।
  • व्यायाम और योग बंद न करें, आराम से प्रतिदिन करती रहें।

इन टिप्स को अपनाकर आप निश्‍िचत तौर पर स्वस्थ बच्चे को जन्म देंगी और अपने स्‍वास्‍थ्‍य को भी ठीक रख पाएंगी।

 

 

 

Read More Article On Pregnancy Week In Hindi


Disclaimer

Tags