पीरियड्स के दौरान क्यों बढ़ जाती है सिरदर्द की समस्या? जानें कारण और बचाव के आसान उपाय

Period Headache : पीरियड्स में कई महिलाएं पेट दर्द के साथ ही सिरदर्द से भी परेशान रहती हैं। चलिए जानते हैं, इसके पीछे क्या वजह हो सकती है? 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 18, 2021Updated at: Jun 18, 2021
पीरियड्स के दौरान क्यों बढ़ जाती है सिरदर्द की समस्या? जानें कारण और बचाव के आसान उपाय

क्या आपको भी पीरियड्स के समय पर सिरदर्द परेशान करता है (Period Headache) ? मासिक धर्म यानी पीरियड्स के दौरान पेट दर्द, थकान और चिड़चिड़ापन (Stomach Pain, Fatigue and Irritability in Menstruation or Period) होना बेहद सामान्य है। लेकिन कई महिलाएं पीरियड्स के दौरान सिरदर्द से भी परेशान रहती हैं। मासिक धर्म के दौरान सिरदर्द कई कारणों से बढ़ सकता है, लेकिन हॉर्मोन में बदलाव इसकी मुख्य वजह से हो सकती है। आखिर क्यों पीरियड्स के दौरान सिरदर्द की समस्या क्यों बढ़ जाती है? इस बारे में जानने के लिए हमने नानावती मैक्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल की वरिष्ठ सलाहकार और स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर गायत्री देशपांडे (Dr Gayatri Deshpande, Senior Consultant and Gynaecology, Nanavati Max Super Speciality Hospital) से बात की-

डॉक्टर गायत्री देशपांडे बताती हैं कि कई महिलाएं पीरियड्स के दौरान सिरदर्द से भी जूझती हैं, जिससे उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पीरियड्स के समय और बाद तक उन्हें सिरदर्द परेशान करता है। इस सिरदर्द को प्रीडोमिनेंटली फीमेली डिसऑर्डर (Predominantly Female Disorder) भी कहा जाता है। यह दर्द पीरियड्स शुरू होने से पहले और खत्म होने के कुछ दिन बाद तक रह सकता है।

Periods Pain and Headache

पीरियड्स में सिरदर्द होने का कारण (Causes of Period Headache)

डॉक्टर गायत्री देशपांडे बताती हैं कि पीरियड्स या मासिक धर्म के दौरान महिलाओं में एस्ट्रोजन हॉर्मोन (Estrogen Hormone) में कमी आती है, जिसकी वजह से सिरदर्द होता है। यानी महावारी के समय एस्ट्रोजन में कमी सिरदर्द का कारण बन सकता है। इसलिए महिलाओं में इस समय माइग्रेन (Migraine) की समस्या ज्यादा होती है। 

  • महिलाओं में प्रोस्टाग्लैंडिन (Prostaglandin) के रिलीज होने पर भी पीरियड्स के दौरान सिरदर्द की समस्या हो सकती है। 
  • डॉक्टर गायत्री देशपांडे बताती हैं कि मासिक धर्म का सिरदर्द वॉटर रिटेंशन का कारण बनता है। यह दो हॉर्मोन-प्रोस्टाग्लैंडिन और प्रोजेस्टेरोन (Prostaglandin and Progesterone) में बदलाव की वजह से होता है।
  • जिन महिलाओं को बार-बार माइग्रेन का दर्द उठता है, वे पीरियड्स के टाइम सिरदर्द से ज्यादा परेशान रहती हैं। 
  • कुछ महिलाएं हॉर्मोन के बदलाव के प्रति बेहद संवेदनशील होती हैं, जिससे उन्हें असहनीय सिरदर्द होता है। 

पीरियड्स के सिरदर्द से बचाव (How to Prevent Period Headache) 

डॉक्टर गायत्री देशपांडे कहती हैं कि साधारण जीवनशैली में बदलाव करके महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान या उससे पहले-बाद में होने वाले सिरदर्द से राहत मिल सकती है।

  • इस समस्या से बचने के लिए महिलाओं को नियमित रूप से एक्सरसाइज और योगा करना चाहिए। इसके साथ ही प्राणायाम और मेडिटेशन भी महिलाएं कर सकती हैं।
  • तनाव से बचना चाहिए और पर्याप्त नींद लेनी चाहिए।
  • चिंता, अवसाद से खुद को कोसों दूर रखना चाहिए। क्योंकि इससे सिरदर्द की समस्या बढ़ सकती है।
  • शराब और धूम्रपान से पूरी तरह से परहेज करना चाहिए।
  • महिलाओं को पीरियड्स के सिरदर्द से बचने के लिए रिफाइंड शुगर के सेवन से भी बचना चाहिए।
Diet to Get Rid from Periods Headache

पीरियड्स के सिरदर्द में लें आयरन रिच डाइट (Iron Rich Diet in Period Headache)

इसके साथ ही सिरदर्द से बचने के लिए खानपान का अच्छा होना बहुत जरूरी होता है। पीरियड्स के दौरान महिलाओं के शरीर से अधिक मात्रा में रक्त स्त्राव होता है, जिससे शरीर में खून की कमी हो जाती है। ऐसे में आपको आयरन रिच डाइट लेना जरूरी होता है। आयरन शरीर में खून की कमी को पूरा करता है। इसके लिए आप चुकंदर, पालक, किशमिश और अनार का सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - क्या साथ रहने वाली महिलाओं के पीरियड्स की डेट होती हैं एक-दूसरे से प्रभावित? डॉक्टर से जानें सच्चाई

पीरियड्स के सिरदर्द में आराम दिलाए मैग्नीशियम युक्त आहार (Magnesium Rich Foods in Period Headache)

मैग्नीशियम की कमी की वजह से भी महिलाओं को सिरदर्द हो सकता है। ऐसे में पीरियड्स के दौरान सिरदर्द हो तो मैग्नीशियम से भरपूर भोजन खाना शुरू कर दें। इसमें आप नट्स, एवोकाडो और फलियों को शामिल कर सकती हैं।

अगर आप भी मासिक धर्म के दौरान सिरदर्द या माइग्रेन से परेशान रहती हैं, तो आप इन बचाव टिप्स को फॉलो कर सकती हैं। इनसे आपको बहुत जल्दी फायदा मिल सकता है। लेकिन अगर आपको असहनीय और नियमित दर्द हो, तो आप एक बार डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें। 

Read More Articles on Womens Health in Hindi

Disclaimer