गुर्दे की पथरी को बिना दर्द के बाहर निकाल देता है ये चमत्‍कारी आयुर्वेदिक पेय, जानें सेवन का तरीका

गुर्दे की पथरी या किडनी स्‍टोन छोटी और कठोर होती है। यह गुर्दे में जमा खनिज का हिस्‍सा होती है जो गंभीर दर्द का कारण बनती है। गुर्दे की पथरी को अजमोद के माध्‍यम से बाहर निकाला जा सकता है। गुर्दे की पथरी को

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Sep 26, 2019
गुर्दे की पथरी को बिना दर्द के बाहर निकाल देता है ये चमत्‍कारी आयुर्वेदिक पेय, जानें सेवन का तरीका

किडनी में स्‍टोन (Kidney stones) खनिज की अधिकता के कारण बनती है जिससे बॉडी के साइड पार्ट और पीठ पर तेज दर्द होता है। गुर्दे की पथरी शुरू में लक्षण नहीं दिखाती है, जब तक ये मूत्रवाहिनी पर नहीं जाते हैं। स्‍टोन जब एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान पर खिसकता है तो तेज दर्द होता है। इसके अलावा पेशाब करते समय दर्द, पेशाब का रंग बदलना, बार-बार पेशाब आने की इच्छा इत्यादि के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। शरीर में पानी की कमी यानी डिहाइड्रेशन, अनुचित आहार के कारण भी गुर्दे की पथरी बन सकती है। यह एक गंभीर स्थिति है क्योंकि इसमें असहनीय पीड़ा होती है। 

किडनी स्टोन को प्राकृतिक रूप से बाहर निकालने के लिए आप अजमोद (Parsley) का सेवन कर सकते हैं। अजमोद एक जड़ी बूटी है जो एंटीऑक्सिडेंट और फ्लेवोनोइड्स से समृद्ध है जो कि फ्री रेडिकल क्षति से लड़ते हैं। यह कैल्शियम ऑक्सालेट के बनने से भी रोकता है जो कि गुर्दे की पथरी का प्रमुख कारण है। इसके अलावा, विटामिन के, विटामिन ई और फोलिक एसिड की उपस्थिति, कैल्सीफिकेशन को रोकती है। इसलिए, आप इसके अद्भुत गुणों को ध्‍यान में रखते हुए अजमोद का इस्‍तेमाल करते हुए घर पर ही गुर्दे की पथरी को बाहर निकाल सकते हैं। 

 

खीरा और नींबू के साथ अजमोद का पानी 

अजमोद का पानी को तैयार करने के लिए आपको ताजा अजमोद, एक नींबू और आधा खीरा चाहिए। अजमोद के पत्तों को कम से कम 15 मिनट तक उबालें और फिर इसे ठंडा होने दें। खीरे को टुकड़ों में काटें और अजमोद के मिश्रण में नींबू निचोड़ें। बाद में इसे रात भर ठंडा कर दें और सुबह आप इसे छानकर पी सकते हैं। किडनी स्टोन से बचाते हैं ये 10 फूड, ब्‍लड प्रेशर में भी है फायदेमंद

अजमोद चाय

अजमोद चाय के लिए, आपको एक कप पानी उबालने और उसमें ताजा कटा हुआ अजमोद के पत्तों को जोड़ने की आवश्यकता है। इस मिश्रण को 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें ताकि पानी अजमोद का स्वाद निकल सके। कुछ मीठा स्वाद जोड़ने के लिए, आप इसमें शहद की एक बूंद मिला सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: पेशाब के साथ बाहर निकल जाएगा किडनी स्‍टोन, अपनाएं ये आसान उपाय

अजमोद रस

अजमोद के रस में गाजर, चुकंदर, खीरा और नींबू की भी आवश्यकता होती है। गाजर और चुकंदर भी किडनी की शुद्धि में मदद करते हैं। इसलिए, रस बनाने के लिए आपको अजमोद को 20 मिनट के लिए गर्म पानी में भिगोना होगा। गाजर, चुकंदर और अजवाइन को छिल लें। एक जूसर लें और अच्छी तरह से मिश्रण करने के लिए सभी अवयवों को एक साथ जोड़ें। आप एपल साइडर विनेगर का एक चम्मच भी जोड़ सकते हैं। बाद में गिलास में जूस निकाल लें, इसमें नींबू निचोड़कर तुरंत सेवन करें।

इसे भी पढ़ें: जब किडनी हो जाए फेल तो इन 3 तरीकों से बचाई जा सकती है जान

अजमोद पेय गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए एक अच्‍छी औषधि है। हालांकि, किसी भी घरेलू उपाय का चयन करने से पहले डॉक्टर के साथ परामर्श महत्वपूर्ण है क्योंकि हर किसी के शरीर की प्रकृति अलग-अलग होती है।

Read More Articles On Ayurveda In Hindi

Disclaimer