कब्ज और गैस को रातों रात दूर करती है पपीते से बनी ये डिश

पपीते में पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं। इसमें न सिर्फ बीटा कैरोटिन, बल्कि लाइकोपिन भी पर्याप्त मात्रा में होता है। पपीता कच्चा हो या पका, इसे खाया जा सकता हैं। यह पेट की कई समस्यायों को खत्म करता है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Apr 09, 2018Updated at: Apr 09, 2018
कब्ज और गैस को रातों रात दूर करती है पपीते से बनी ये डिश

पपीता एक ऐसा फल है जिसे गुणों की दुकान कहा जाता है। शरीर के बाहरी ढांचे से लेकिर आंतरिक ढांचे तक ये हर चीज में लाभकारी है। पपीते में विटामिन सी, ए, पोटेशियम और कैल्शियम और आयरन प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है इसके साथ ही स्वास्थ्य के लिए कई हितकारी गुण निहित होते हैं। पपीते में पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं। इसमें न सिर्फ बीटा कैरोटिन, बल्कि लाइकोपिन भी पर्याप्त मात्रा में होता है। पपीता कच्चा हो या पका, इसे खाया जा सकता हैं। यह पेट की कई समस्यायों को खत्म करता है, बहुत से लोग इसे खाली पेट ही खाते हैं। कुछ लोग अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए इसे सलाद के रूप में अपने आहार में शामिल करते हैं।



यह शरीर के वजन को भी कम करता हैं क्योंकि इसमें एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल जैसे कई चिकित्सिय गुण होते हैं। मगर यह कुछ लोगों के लिए यह फायदेमंद है तो वहीं कुछ लोगों के लिए हानिकारक भी है। एक शोध के दौरान वैज्ञानिकों ने यह पाया कि जो पुरुष ज्यादा से ज्यादा लाइकोपिन युक्त फल और सब्जियों का सेवन करते हैं उनमें प्रोस्टेट कैंसर की आशंका 82 प्रतिशत कम होती है। ग्रीन टी में भी शक्तिशाली एंटी कैंसर तत्व पाए जाते हैं। जब लाइकोपिन युक्त आहार को ग्रीन टी के साथ लिया जाता है तो प्रभाव दोगुना हो जाता है।

इसे भी पढ़ें:- खट्टी डकार से हैं परेशान, बस 5 मिनट में इन नुस्खों से मिलेगा आराम

  • यदि आप ब्लड प्रैशर से पीड़ित हैं और इसके लिए दवाएं ले रहें हैं तो इस फल को खाने से बचना चाहिए क्योंकि यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करता हैं। यह आपके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता हैं।
  • पपीता खाने से हड्डियां मजबूत होती हैं और यह जोडों के दर्द में लाभदायक होता है। भोजन पचाने में सहायक पपीते में प्रोटीन, फाइबर और आयरन भी होते हैं, जो कमजोरी भी दूर करते हैं।
  • इसके रस में पपाइन नामक तत्व पाया जाता है, जो भोजन को पचाने में मददगार होता है। जिन लोगों को कब्ज की शिकायत हमेशा बनी रहती है, उन्हें पपीते का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। इसमें विटमिन बी भरपूर मात्रा में होता है, जिससे शरीर में फॉलिक एसिड, विटमिन बी 6, विटमिन बी 1 और रिबोफ्लाबिन की कमी नहीं होती।

इसे भी पढ़ें:- त्वचा पर हो कैसा भी निशान, 1 हफ्ते में गायब कर देंगी ये 5 चीजें

  • इसमें विटमिन ए पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, इस कारण यह आंखों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। इसके सेवन से आंखों की रोशनी भी बढती है। इसके अलावा इसमें कैल्शियम और पोटैशियम की मात्रा भी भरपूर होती है।
  • पके हुए पपीते का गूदा चेहरे पर लगाने से मुंहासों और झांई से बचाव होता है। इससे त्वचा का रूखापन दूर होता है और उसमें कसाव आता है। पका पपीता एंटीरिंकल का काम करता है। साथ ही चेहरे के दाग-धब्बों को भी कम करता है।
  • शोधकर्ताओं ने यह पाया कि पपीते के पत्तों का रस डेंगू के इलाज में सहायक होता है। यह रस प्लेटलेट काउंट्स जि से थ्रॉम्बोसाइट्स के नाम से जानते हैं, को बढाने में मदद करता है।
  • पपीता की पत्तियों में यौगिग पेपैन होते हैं जो शिशुओं में जन्म दोष पैदा कर सकते हैं इसलिए गर्भवस्था से पहले और बाद कुछ समय तक इस फल से बचने का सुझाव दिया जाता हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Remedies for daily life in hindi

Disclaimer