शरीर में पानी की कमी को तुरंत दूर करता है ORS, जानें ओआरएस घोल बनाने का तरीका और फायदे

बच्चों से लेकर बड़ों तक सबके लिए ORS जीवनरक्षक का काम करता है। आइए जानते हैं  इसे घर में बनाने का तरीका और फायदे।

Vishal Singh
विविधWritten by: Vishal SinghPublished at: Aug 09, 2018Updated at: Jul 08, 2021
शरीर में पानी की कमी को तुरंत दूर करता है ORS, जानें ओआरएस घोल बनाने का तरीका और फायदे

ओआरएस(Oral Rehydration Solution) का घोल अक्सर लोग गर्मियों में इस्तेमाल करते हैं। ओआरएस का घोल पीने से शरीर से कई बीमारियां दूर हो जाती है। कई लोग ये सोचते हैं कि ओआरएस सिर्फ बच्चों को पिलाया जाता है, जबकि ऐसा नहीं है ओआरएस का घोल बच्चे से लेकर बुजुर्ग हर कोई पी सकता है। ओआरएस(Oral Rehydration Solution) का सबसे ज्यादा इस्तेमाल बच्चों को दस्त लगने के समय किया जाता है। इससे बच्चों के दस्त जल्द ठीक होने में मदद मिलती है। इसके साथ ही डायरिया की चपेट में आने पर आप बिना चिकित्सकीय सलाह के भी ओआरएस का घोल पी सकते हैं। ऐसा करने से शरीर में पानी की कमी नहीं होती। जिसकी वजह से तबीयत बहुत ज्यादा बिगड़ने से भी बच सकती है। इस स्थिति में ये जीवनरक्षक का काम करता है। 

अक्सर सभी लोग बच्चे को दस्त लगने पर उसे डॉक्टर के पास लेकर जाते हैं या फिर दवा खिलाते लगते हैं। लेकिन आप इसकी जगह ओआरएस दे सकते हैं। कई जानकार भी इस बात को मानते हैं कि ज्यादातर मामलों में डायरिया तीन-चार दिनों में केवल ओआरएस और जिंक के घोल से ही ठीक हो जाता है। बच्चों को दस्त के समय होने वाली कमजोरी से बचाने के लिए परिजनों को खासा ध्यान रखने की जरूरत होती है। 

साल 2019 की एक शोध के मुताबिक, डिहाइड्रेशन के कारण देश में हर साल करीब 15 लाख लोगों की मौत हो जाती है। ऐसे में डॉक्टरों की सलाह के बाद ओआरएस का घोल आपके जीवन की रक्षा करने का काम करता है। इसलिए आपको अपने शरीर में किसी भी तरह की डिहाइड्रेशन नहीं होने देनी चाहिए। आइए आपको बताते हैं कि शरीर में डिहाइड्रेशन के लक्षण क्या होते हैं। 

डिहाइड्रेशन के लक्षण 

ओआरएस का इस्‍तेमाल

कई बार बच्चों में खानपान सही ना होने की वजह से दस्त होना आम होता है। लेकिन ये दस्त अगर एक-दो दिन तक रहें तो ये चिंता का विषय बन जाता है। इसलिए आपको बच्चे की सेहत पर ध्यान रखने की जरूरत है। अगर आपके बच्‍चे को दिन में तीन या उससे ज्‍यादा बार दस्‍त आएं तो उसे ओआरएस देना शुरू कर देना चाहिए। इसके अलावा आपके बच्चे की उम्र छह महीने या उससे ज्यादा है तो इसके लिए आप 20 मिलीग्राम जिंक रोजाना दे सकते हैं। अगर ओआरएस से आराम नहीं मिल रहा तो आपको बिना देरी के डॉक्टर के पास जाने की जरूरत है। 

ओआरएस घोल बनाने का तरीका-Oral rehydration solution recipe

  • आप एक साफ बर्तन में पानी और ओआरएस का पैकेट डालें। 
  • ओआरएस घोल को सिर्फ पानी में बनाएं।
  • अगर आपका बच्चा ओआरएस पीकर उल्टी कर देता है तो उसे कुछ देर बाद दोबारा ओआरएस दें।

इसे भी पढ़ें: आप पर्याप्त पानी पी रहे हैं या नहीं बताएगा ये 2 सेकेंड का डिहाइड्रेशन टेस्ट

आप वैसे तो ओआरएस(Oral Rehydration Solution) बच्चे को किसी भी समय दे सकते हैं। लेकिन कई मामलों में आपको सावधानी बरतने की जरूरत होती है। अगर आपे बच्चे को किसी तरह की एलर्जी है तो ऐसे में आपको ओआरएस डॉक्टर की सलाह के साथ ही देना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को भी ओआरएस(Oral Rehydration Solution) अपने आप नहीं लेना चाहिए। इसके लिए उन्हें पहले डॉक्टर से इस बारे में संपर्क करना चाहिए। 

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer