नाक में सूजन, लालपन और दर्द हो सकते हैं 'स्टैफ इंफेक्शन' का संकेत, जानें इसके कारण और इलाज

नाक में स्टैफ इन्फेक्शन बैक्टीरिया और वायरस के कारण बन सकता है। ऐसे में इस इंफेक्शन के लक्षण, कारण और इलाज आना जरूरी है।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jul 21, 2021Updated at: Jul 21, 2021
नाक में सूजन, लालपन और दर्द हो सकते हैं 'स्टैफ इंफेक्शन' का संकेत, जानें इसके कारण और इलाज

जब हम सांस लेते हैं तो आस-पास मौजूद वायरस और बैक्टीरिया हमारे शरीर में सांस के जरिए प्रवेश कर सकते हैं और प्रवेश करने के बाद वह संक्रमण फैला सकते हैं। ऐसे में सावधानी बरतने की जरूरत होती है। आज हम बात कर रहे हैं नाक में स्टैफ इंफेक्शन हो जाने की। बता दें कि ये इंफेक्शन स्टेफिलोकोकस बैक्टीरिया के कारण फैलता है। जब ये समस्या पैदा होती है तो शरीर को कई लक्षण महसूस होते हैं। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे नाक में स्टैफ इंफेक्शन के क्या लक्षण हैं। साथ ही इसके कारण और बचाव भी जानेंगे। पढ़ते हैं आगे...

 

नाक में स्टैफ इन्फेक्शन के लक्षण

बता दें कि जो हम आपको लक्षण बताने वाले हैं, जरूरी नहीं है कि हर व्यक्ति में वही लक्षण दिखाई दें। कभी-कभी व्यक्ति कई अन्य लक्षणों का भी सामना कर सकता है।

1 - नाक में लालिमा छा जाना।

2 - नाक में सूजन दिखाई देना।

3 - नाक से हल्का खून आना

4 - नाक में खुजली होना।

5 - व्यक्ति को फीवर हो जाना।

6 - नाक पर पपड़ी जमना।

7 - नाक में दर्द होना।

8 - सांस लेते वक्त आवाज को महसूस करना।

इसे भी पढ़ें- क्यों होती है सूखी नाक (Dry Nose) की समस्या? जानें इसके 8 लक्षण और 5 घरेलू उपाय

ध्यान दें कि स्टैफ इंफेक्शन केवल नाक में ही नहीं बल्कि हड्डियों में, त्वचा में आदि में हो सकता है। ऐसे में लक्षण भी अलग-अलग होते हैं। जैसे- अगर व्यक्ति के हड्डियों में ये संक्रमण हो जाए तो उसकी वजह से हड्डी में दर्द, सूजन, हड्डी का गर्म होना, हड्डी में लालपन, बुखार हो जाना, ठंड लगना आदि लक्षण दिखाई देते हैं। वहीं अगर व्यक्ति को त्वचा में स्टैफ इंफेक्शन हो जाए तो मुंहासे हो जाना, त्वचा में सूजन आ जाना, त्वचा में दर्द होना, प्रभावित हिस्से में मवाद निकलना आदि लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

 

नाक में स्टैफ इंफेक्शन के कारण 

जैसा कि हमने पहले भी बताया स्टैफ इंफेक्शन बैक्टीरिया और वायरस के कारण फैलता है। वहीं इसके कुछ और भी कारण हैं, जिसके कारण ये स्टैफ इंफेक्शन फैल सकता है।

1 - नाक का बैक्टीरिया के संपर्क में आना।

2 - त्वचा में किसी भी प्रकार का कट होना, जिस में इंफेक्शन प्रवेश कर सके।

3 - त्वचा का जला होना या फटा होना, जिससे ये इंफेक्शन प्रवेश कर सके।

4 - नाक की भीतरी त्वचा में कट लग जाना या त्वचा का जल जाना।

5 - जिन लोगों की नाक अत्यधिक बहती है वह इस समस्या के शिकार हो सकते हैं।

6 - जो लोग अपने नाक के बालों के साथ छेड़छाड़ करते हैं, उन्हें भी समस्या हो सकती है।

7 - जब महिलाएं नाक छिदवाती के बाद इस समस्या का शिकार हो सकती हैं।

8 - जो लोग पहले से स्टैफ इंफेक्शन के शिकार हैं, उनके जीवाणु दूसरे व्यक्ति के शरीर में आसानी से प्रवेश कर सकते हैं।

9 - किसी संक्रमित व्यक्ति का तौलिया या तकिये के इस्तेमाल से यह समस्या हो सकती है।

10 - तापमान ज्यादा गर्म रहता है तो इसके बैक्टीरिया पनपने लगते हैं और इस तरीके की समस्या होती है।

11 - जो स्थान ज्यादा ड्राई होता है वहां पर भी स्टैफ बैक्टीरिया पनप सकते हैं और जब आप सांस लेंगे तो ये आपके लिए शरीर में प्रवेश कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें-  Nasal Polyps Causes: नाक में मांस बढ़ने पर दिखाई देते हैं ये 10 लक्षण, जानें कारण और उपचार

स्टैफ इन्फेक्शन का इलाज

बता दें कि जब व्यक्ति को ऊपर बताए गए लक्षण दिखाई देते हैं तो उसे तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। जब वह डॉक्टर से संपर्क करेगा तो डॉक्टर इस समस्या का पता लगाने के लिए कुछ टेस्ट करवाने की सलाह देते हैं। इसके अलावा डॉक्टर मौखिक और शारीरिक दोनों परीक्षण करते हैं। बता दें कि यह संक्रमण आपके दिल को भी प्रभावित कर सकता है ऐसे में डॉक्टर इसकी जांच के लिए इकोकार्डियोग्राफी टेस्ट करवाने की भी सलाह देते हैं। उसके बाद डॉक्टर को जब पता चल जाता है कि व्यक्ति को स्टैफ इंफेक्शन है तो वह कुछ एंटीबायोटिक्स का सहारा लेते हैं। अगर कोई काफी समय से समस्या से जूझ रहे हैं तो डॉक्टर उसे स्ट्रांग एंटीबायोटिक लेने की सलाह देते हैं।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि व्यक्ति के नाक में स्टैफ इंफेक्शन हो जाने पर उसे तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। अगर ये लक्षण नजर आएं तो शरीर में कुछ और समस्याएं भी पैदा कर सकती है। ऐसे में डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है। वहीं अपने आसपास सफाई रखें और अपने आसपास के माहौल को साफ स्वच्छ रखें, जब समस्या से बच सकते हैं। अगर नाक में किसी भी प्रकार का घाव हो गया है तो उसका आपको तुरंत भरना जरूरी है नहीं तो इंफेक्शन फैलने का खतरा बढ़ जाता है

इस लेख में इस्तेमाल की जानें वाली फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Read More Articles on other disease in hindi

Disclaimer