आयुर्वेदिक गुणो से भरपूर होती हैं निर्गुन्डी की पत्तियां, जानें इसके 7 फायदे

Nirgundi Leaves: निर्गुन्डी की पत्तियां पेट में दर्द, मुंह के छाले, सिरदर्द से राहत दिलाने में प्रभावी हो सकता है। कई अन्य परेशानियों को दूर करता है।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Aug 28, 2022Updated at: Aug 28, 2022
आयुर्वेदिक गुणो से भरपूर होती हैं निर्गुन्डी की पत्तियां, जानें इसके 7 फायदे

Nirgundi Leaves : आयुर्वेद में कई तरह की जड़ी-बूटियां मौजूद हैं। इन जड़ी-बूटियों में निर्गुन्डी की पत्तियां एक है। यह कई तरह के गुणों से भरपूर होती हैं, जो कफ और वात दोष को कम करने का गुण रखती हैं। इसकी पत्तियों के इस्तेमाल से घाव को ठीक किया जा सकता है। साथ ही बैक्टीरियल समस्याओं को भी कम कर सकते हैं। इसके अलावा निर्गुन्डी पत्तियों का इस्तेमाल कई अन्य तरह की बीमारियों को ठीक करने के लिए भी की जा सकती है। आज हम इस लेख में निर्णुण्डी की पत्तियों से शरीर को होने वाले लाभ के बारे में जानेंगे। साथ ही  निर्गुंडी के पत्तों के पाउडर का उपयोग किस तरह किया जाता है, इसके बारे में विस्तार से जानेंगे -

निर्गुन्डी के पत्ते के फायदे - Nirgundi Leaves Benefits

निर्गुन्डी की पत्तियां स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होती हैं। इसके इस्तेमाल से कई तरह की बीमारियों को दूर किया जा सकता है। यह पेट में दर्द, मुंह के छालों को कम कर सकता है। आइए विस्तार से जानते हैं इसके बारे में-

1. मुंह के छाले कैसे करें ठीक ? - Nirgundi Leaf Benefits for Mouth Ulcer

मुंह के छालों को कम करने के लिए निर्गुन्डी की पत्तियों का इस्तेमाल करें। इससे आपको काफी जल्द आराम मिल सकता है। छालों से राहत पाने के लिए इसका इस्तेमाल करने के लिए निर्गुन्डी की कुछ पत्तियों लें। अब इन पत्तियों को पानी में उबाल (How to Use Nirgundi Leaves) लें। नियमित रूप से इस पानी से कुल्ला करने से मुंह के छालों  से राहत मिल सकती है। 

2. सिर दर्द से दिलाए राहत - Nirgundi Plant to Get Relief from Headache

निर्गुन्डी की पत्तियों के इस्तेमाल से सिरदर्द की परेशानी कम की जा सकती है। इसकी पत्तियों का इस्तेमाल करने के लिए 10 से 15 निर्गुन्डी की पत्तियां लें। अब इसे सिलबट्टे पर पीसकर लेप तैयार कर लें। इस लेप को सिर पर लगाएं। इससे सिरदर्द की परेशानी कम हो सकती है। 

3. कान बहने से कैसे रोके - Nirgundi Leaf to Treat Ear Problem

निर्गुन्डी की पत्तियां कान बहने की परेशानी को कम करने के लिए लाभकारी है। इसका इस्तेमाल करने के लिए निर्गुन्डी की कुछ पत्तियों को तेल में पका लें। अब इस तेल की कुछ बूंदें अपने कान में डालें। इससे कान बहने की परेशानी कम होगी। 

इसे भी पढ़ें - सिरदर्द दूर करती है दालचीनी, जानें इस्तेमाल के 5 तरीके

4. पेट की समस्या कम करने के उपाय- Nirgundi Plant for Stomach Related Problems

निर्गुन्डी के पत्तों का इस्तेमाल पेट की परेशानियों को कम करने के लिए किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए निर्गुन्डी के पत्तों का रस लें। इसमें 2 काली मिर्च और अजलाइन का चूर्ण बनाकर डालें। अब इस मिश्रण का सुबह शाम सेवन करें। इससे पाचन संबंधी परेशानी ठीक हो सकती है। साथ ही आपको पेट में दर्द, गैस, अपच जैसी समस्याओं से आराम मिलेगा। 

5. लिवर की समस्या - Nirgundi Leaf for Liver Related Problems 

लिवर से जुड़ी परेशानी जैसे- टायफायड, पीलिया जैसे लोगों को कम करने के लिए निर्गुन्डी की पत्तियां फायदेमंद हो सकती हैं। इसका सेवन करने के लिए निर्गुन्डी की पत्तियों का चूर्ण तैयार कर लें। अब इस चूर्ण को शहद के साथ लें। इससे लिवर रोगियों को काफी लाभ मिलेगा। 

6. ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाए - Nirgundi Beneficial to increase Breastmilk

ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं के लिए भी निर्गुन्डी की पत्तियां फायदेमंद होती हैं। इन पत्तियों का इस्तेमाल ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने के लिए किया जा सकता है। इसका सेवन करने के लिए निर्गुन्डी के पत्तों का चूर्ण तैयार कर लें। अब इसे दूध के साथ मिक्स करके पिएं। इससे ब्रेस्ट मिल्क बढ़ सकता है। 

7. फोड़ो का करे इलाज - Nirgundi to Treat Blisters

घाव या फोड़ों की समस्या होने पर निर्गुन्डी की पत्तियों का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण मौजूद होता है, जो फोड़ों का इलाज करने में प्रभावी होता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए पत्तियों को पीसकर लेप तैयर कर लें। अब इस लेप को प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे आपको काफी लाभ मिलेगा। 

निर्गुन्डी की पत्तियां शरीर के लिए काफी फायदेमंद हो सकती हैं। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आपको पहले से किसी तरह की परेशानी है तो एक्सपर्ट की सलाह पर ही इन पत्तियों का इस्तेमाल करें। 

Disclaimer