नवरात्र में बनायें लो कैलोरी की कुट्टू खिचड़ी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 08, 2016
Quick Bites

  • नवरात्र में स्वास्थ्यकर है कुट्टू की खिचड़ी।
  • कुट्टू की खिचड़ी में कैलोरी काफी कम होती है।
  • कुट्टू की खिचड़ी काफी पौष्टिक और ऊर्जापूर्ण है।
  • यह गर्म होता है तो इसे ठंडे मौसम में ही खाएं।

नवरात्र शुरू हो गए हैं। घर-घर में नवरात्र की पूजा शुरू होने के साथ ही लोगों के व्रत भी शुरू हो गए हैं। इस व्रत में कई लोग कुट्टु के आटे की पूरी या परांठे भी खाते हैं। लेकिन इसमें तेल होने के कारण कैलोरी बहुत अधिक होती है। ऐसे में कुट्टु के आटे से बनी खिचड़ी खाएं।

कुट्टु बहुत ही ज्यादा पौष्टिक और ऊर्जापूर्ण वाला आहार है। ऐसे में व्रत में इसकी खिचड़ी व्रतधारियों को पूरे दिन एनर्जेटिक बनाए रखने में मदद करती है। कुट्टु शरीर को गर्म करता है इसलिए ठंडे मौसम में ही खाएं।

कुट्टु की खिचड़ी

 

जरूरी सामग्रीः

  • 1 कप कुट्टू
  • 2 मध्यम आलू चैकोर कटे
  • 2 कप पानी
  • 1 हरी मिर्च
  • 1/2 इंच अदरक
  • 1/2 चम्मच जीरा
  • 1 चम्मच चीनी
  • 2 चम्मच मूंगफली
  • 1 चम्मच घी
  • 1 चम्मच धनिया
  • नींबू रस
  • सेंधा नमक

 

बनाने का तरीका

 

  • सबसे पहले तवे को गर्म कर उसमें बिना नमक और तेल के मूंगफली को अच्छी तरह से रोस्ट कर लें। अब इन रोस्ट की हुई मूंगफली का पावडर बनाएं।
  • अब कुट्टु को अच्छी तरह से धोएं।
  • अब एक पैन में घी गर्म करें। उसमें जीरा डालें।
  • फिर इस पैन में बारीक कटी हुई मिर्च और अदरक डालकर चलाएं।
  • अब इसमें आलू डालकर फ्राई करें।
  • जब आलू अच्छी तरह से फ्राई हो जाए तो उसमें पिसी हुई मूंगफली और कुट्टु डालकर दो मिनट तक चलाएं।
  • अब इसमें पानी, चीनी और नमक डालें। अब पैन को ढंक कर उसे धीमी आंच में पकने दें।
  • जब इसमें से पानी पूरी तरह से सूख जाएं तो गैस बंद कर उसमें कटी हुई हरी धनिया ऊपर से डालें।
  • अब आपकी कुट्टु की खिचड़ी तैयार है।

 

Read more articles on Healthy recipe in hindi.

Loading...
Is it Helpful Article?YES16 Votes 2340 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK