Natural Antidepressants: तनाव घटाने, डिप्रेशन से बचाने और मेंटल हेल्थ को सुधारने में मदद करेंगी ये 4 चीजें

तनाव और चिंता लंबे समय में डिप्रेशन का रूप ले सकते हैं। इनसे बचाव के लिए इन्हें रोकने के लिए आप कुछ प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Mar 04, 2020Updated at: Mar 04, 2020
Natural Antidepressants: तनाव घटाने, डिप्रेशन से बचाने और मेंटल हेल्थ को सुधारने में मदद करेंगी ये 4 चीजें

तनाव लेना और चिंता करना आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है। लंबे समय तक तनाव लेना आपको अवसाद यानी डिप्रेशन का शिकार बना सकता है। मगर यह भी सच है कि आज के समय में पढ़ाई, करियर, नौकरी, ऑफिस और रिलेशनशिप जैसे तमाम मुद्दों के कारण हर कोई चिंतित रहता है। दरअसल तनाव और चिंता को हमारे यहां बीमारी नहीं माना जाता है। मगर सर्वे बताते हैं कि भारत में लोग बड़ी संख्या में इन मानसिक बीमारियों का शिकार हैं और लोगों को इनका पता नहीं होता है।

तनाव या डिप्रेशन का शिकार होने के बाद जब लोग डॉक्टर के पास इसके इलाज के लिए पहुंचते हैं, तो डॉक्टर्स उन्हें एंटी-डिप्रेशेन्ट्स (Antidepressants) दवाएं देते हैं। स्थिति अगर गंभीर है तो दवाएं लेना सही है। मगर यदि आप गंभीर स्थिति होने से पहले ही अपना खानपान सही रखें, तो तनाव या डिप्रेशन से बच सकते हैं। ऐसे कई फूड्स हैं, जिनमें प्राकृतिक रूप से एंटी-डिप्रेशेन्ट गुण (Natural Antidepressant Qualities) पाई जाती हैं। आइए आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ फूड्स।

डिप्रेशन से लड़ने वाले जरूरी पोषक तत्व

नैशनल हेल्थ इंस्टीट्यूट द्वारा छापी गई एक रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार 12 ऐसे पोषक तत्व पाए गए हैं, जो डिप्रेशन से लड़ने में आपकी मदद करते हैं। ये इस प्रकार हैं- फॉलेट, आयरन, ओमेगा-3 फैटी एसिड, मैग्नीशियम, पोटैशियम, सेलेनियम, थियामिन, विटामिन ए, विटामिन बी6, विटामिन बी12, विटामिन सी और जिंक।

इसे भी पढ़ें: भारतीय पुरुषों में बढ़ रही है डिप्रेशन की समस्या, शुरुआत में दिखते हैं ये 6 लक्षण

केसर (Saffron)

रिसर्च बताती हैं कि केसर में कई तरह की मानसिक बीमारियों, डिसऑर्डर्स और रोगों को ठीक करने की क्षमता होती है। अपनी डाइट में केसर को शामिल करके आप डिप्रेशन और एंग्जायटी से बच सकते हैं। केसर थोड़ा मंहगा जरूर होता है, मगर यदि आपको डिप्रेशन की दवा खानी पड़े, तो इससे बेहतर है कि आप केसर को अपने फूड्स में मिलाकर खाएं।

Watch Video: वीडियो में जानें डिप्रेशन और उदासी में क्या अंतर होता है?

अखरोट (Walnuts)

अकरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड अच्छी मात्रा में पाया जाता है। कआ तरह के अध्ययन बताते हैं कि ओमेगा-3 फैटी एसिड मस्तिष्क के फंक्शन को बेहतर बनाता है और डिप्रेशन, चिंता जैसे लक्षणों को कम करने में मदद करता है। आप अपनी डाइट में अखरोट को कई तरह से शामिल कर सकते हैं। अगर आप चिंतित रहते हैं और आपको अक्सर सिरदर्द, चीजों की भूलने की समस्या होती है, तो आप दिन में 4-5 अखरोट खा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: मस्तिष्क ही नहीं, शरीर के इन 5 अंगों पर बुरा असर डालता है डिप्रेशन

लैवेंडर एसेंशियल ऑयल

फूड्स के साथ-साथ कई नैचुरल एसेंशियल ऑयल्स भी डिप्रेशन से लड़ने में आपकी मदद करते हैं। लैवेंडर के तेल में ऐसे गुण पाए गए हैं, जो तनाव को कम करते हैं। अगर आप ऑफिस से आने के बाद या परीक्षा से पहले बहुत अधिक तनाव महसूस कर रहे हैं, तो आप 7-8 बूंद लैवेंडर एसेंशियल ऑयल लेकर अपने माथे पर इसकी मालिश कर सकते हैं। इसकी खुश्बू से आपको काफी जल्दी आराम मिलता है। इसके अलावा लैवेंडर एसेंशियल ऑयल से आपको नींद अच्छी आती है।

जिंक वाले फूड्स खाएं

जिंक को मस्तिष्क के लिए बहुत जरूरी पोषक तत्व माना जाता है। जिंक वाले आहारों के सेवन से आपके डिप्रेशन और एंग्जायटी की समस्या काफी हद तक हल हो सकती है। Biological Psychiatry द्वारा की गई एक रिसर्च बताती है कि खून में जिंक की कमी होने पर व्यक्ति में चिंता, तनाव और लंबे समय में डिप्रेशन का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए आप अपने खानपान में जिंक को शामिल करें। जिंक वाले आहारों में पालक, एवोकाडो, मीट, अंडे, काबुली चना, बादाम, कद्दू के बीज आदि प्रमुख हैं।

Read more articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer